यहाँ सब के सब गद्दार हैं , ये जितने सरकारी नौकरी वाले हैं , ये सब गद्दार हैं -deepak

यहाँ सब के सब गद्दार हैं , ये जितने सरकारी नौकरी वाले हैं , ये सब गद्दार हैं , ये सब के सब गद्दार हैं , ये रुतबा , ये पावर , ये पैसा , ये धाक, ये गद्दारो के आभूषण हैं, ये गद्दार इसे शान से पहनते हैं , काम करने को कोई भी नहीं राजी हैं , बस सभी लगाते गद्दारी की बाजी हैं, epfo हेड यहाँ सभी गद्दारो के पाजी हैं , सुनील बर्थवाल…

Continue Readingयहाँ सब के सब गद्दार हैं , ये जितने सरकारी नौकरी वाले हैं , ये सब गद्दार हैं -deepak