romantic songs lyrics hindi

post Contents ( Hindi.Shayri.Page)

romantic songs lyrics hindi

 

इशारों को अगर समझो – Ishaaron Ko Agar Samjho (Asha Bhosle, Md.Rafi, Dharma)

Movie/ Album- धर्मा (1973)
Music Producer/Music By- सोनिक-ओमी
Lyrics Writer/Lyrics by- वर्मा मलिक
Singers/Performed By- आशा भोंसले, मोहम्मद रफ़ी

ये ख़ुशी, ये महफ़िल और जो नया अंदाज़ है
समझनेवालों, समझ लो, इसमें भी एक राज़ है

राज़ की बात कह दूँ तो, जाने महफ़िल में फिर क्या हो
राज़ खुलने का तुम पहले ज़रा अंजाम सोच लो
इशारों को अगर समझो, राज़ को राज़ रहने दो
इशारों को अगर समझो…

ज़बाँ पे बात जो आई, कभी रूकती नहीं है, कभी रूकती नहीं है
उठ गई आँख जो इक बार, वो झुकती नहीं है, अरे झुकती नहीं है
उम्मीदों का कभी ना, सामने मैं ख़ून होने दूँ
हक़ीक़त को छुपाऊँगी तो वो छुपती नहीं है
जो बरसों से छुपी दिल में उसे होंठों पे आने दो
राज़ की बात…

उठें आँखे जो महफ़िल में, वो आँखे फोड़ के रख दूँ, वो आँखे फोड़ के रख दूँ
बढ़े जो हाथ तो उस हाथ को, मैं तोड़ के रख दूँ, मेरी जाँ, तोड़ के रख दूँ
जो नावाक़िफ़ हैं मुझसे, आज उनसे जा के ये कह दो
ज़ुबाँ पे राज़ आया तो, ज़ुबाँ को मोड़ के रख दूँ
ख़ुशी से कोई जीता है, ख़ुशी से उसको जीने दो
इशारों को अगर समझो…

उसी को छीनकर तेरी नज़र से दूर कर दूँ, अरे हाँ, दूर कर दूँ
तुझे मैं आँहें भरने के लिए मजबूर कर दूँ, हाँ मैं मजबूर कर दूँ
यहाँ बदनाम कर दूँ, वहाँ मशहूर कर दूँ
ज़बाँ खुल जाए गर मेरी, तो चकनाचूर कर दूँ
ज़रा अफ़साने का पहले, पता लगने दो दुनिया को
राज़ की बात…

ये सूरज, चाँद और तारे, चले मेरे इशारों पर, चले मेरे इशारों पर
हुकूमत है मेरी दरिया, समंदर और किनारों पर, समंदर और किनारों पर
मैं अपने हाथों से, इस दुनिया की तक़दीर लिखता हूँ
मगर फिर तरस आता है, तेरे जैसे बिचारों पर
नहीं पैदा हुआ कोई, जो रोके मेरी राहों को
इशारों को अगर समझो…

तुम्हारी ज़ात क्या है?
तेरी औकात क्या है?
तुम्हारे क्या इरादे?
ये पहले तू बता दे
हुस्न की मार बुरी है
इश्क़ की ख़ार बुरी है
नज़र का तीर जो छोड़ूँ?
तीर को ऐसे तोड़ूँ
अगर घूंघट उठा दूँ?
तो मैं आँखे लड़ा दूँ
कमर के देख झटके
इधर भी देख पलट के
तू मुझको ना पहचाने
मुझे तू भी न जाने
बदन मेरा है कुंदन
मेरा दिल भी है चन्दन
मैं चन्दन की खुशबू हूँ
मैं चन्दन, मैं चन्दन, मैं चन्दन हू-ब-हू हूँ
इशारों को अगर समझो…

 

मेरी साँसों को – Meri Saanson Ko (Lata Mangeshkar, Mahendra Kapoor, Badalte Rishtey)

Movie/ Album- बदलते रिश्ते (1978)
Music Producer/Music By- लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics Writer/Lyrics by- अनजान
Singers/Performed By- लता मंगेशकर, महेंद्र कपूर

मेरी साँसों को जो महका रही है
ये पहले प्यार की खुशबू
तेरी साँसों से शायद आ रही है
मेरी साँसों को…

शुरू ये सिलसिला तो उसी दिन से हुआ था
अचानक तूने जिस दिन मुझे यूँ ही छुआ था
लहर जागी जो उस पल तन-बदन में
वो मन को आज भी बहका रही है
ये पहले प्यार की खुशबू…

बहुत तरसा है ये दिल, तेरे सपने सजा के
ये दिल की बात सुन ले, मेरी बाँहों में आ के
जगाकर अनोखी प्यास मन में
ये मीठी आग जो दहका रही है
ये पहले प्यार की खुशबू…

ये आँखे बोलती हैं, जो हम न बोल पाए
दबी वो प्यास मन की, नज़र में झिलमिलाए
होंठों पे तेरी हलकी-सी हँसी है
मेरी धड़कन बहकती जा रही है
ये पहले प्यार की खुशबू…

 

कैसे कहें हम – Kaise Kahen Hum (Kishore Kumar, Sharmilee)

Movie Name /Album Name- शर्मीली (1971)
Music Producer/Music By- एस.डी.बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- नीरज
Singers/Performed By- किशोर कुमार

कैसे कहें हम, प्यार ने हमको
क्या क्या खेल दिखाए
यूँ शरमाई क़िस्मत हमसे
ख़ुद से हम शरमाए

बागों को तो पतझड़ लुटे, लूटा हमें बहार ने
दुनिया मरती मौत से लेकिन, मारा हमको प्यार ने
अपना वो हाल है, बीच सफ़र में जैसे कोई लुट जाए
कैसे कहें हम…

तुम क्या जानो क्या चाहा था, क्या लेकर आए हम
टूटे सपने, घायल नग्में, कुछ शोले, कुछ शबनम
इतना कुछ है पाया हमने, कहें तो कहा न जाए
कैसे कहें हम…

ऐसी बजी शहनाई घर में, अब तक सो न सके हम
अपनों ने हमको इतना सताया, रोए तो, रो न सके हम
अब तो करो कुछ ऐसा यारों, होश न हमको आए
कैसे कहें हम…

 

राज़ की बात कह दूँ – Raaz Ki Baat Keh Doon (Asha Bhosle, Md.Rafi, Dharma)

Movie Name /Album Name- धर्मा (1973)
Music Producer/Music By- सोनिक-ओमी
Lyrics Writer/Lyrics by- वर्मा मलिक
Singers/Performed By- आशा भोंसले, मोहम्मद रफ़ी

ये ख़ुशी, ये महफ़िल और जो नया अंदाज़ है
समझनेवालों, समझ लो, इस में भी एक राज़ है

राज़ की बात कह दूँ तो
जाने महफ़िल में फिर क्या हो
राज़ खुलने का तुम पहले
ज़रा अंजाम सोच लो
इशारों को अगर समझो
राज़ को राज़ रहने दो

ज़बाँ पे बात जो आई, कभी रूकती नहीं है
उठ गई आँख जो एक बार, वो झुकती नहीं है
उम्मीदों का कभी ना, सामने मैं ख़ून होने दूँ
हक़ीक़त को छुपाऊँगी, तो वो छुपती नहीं है
जो बरसों से छुपी दिल में, उसे होंठों पे आने दो
राज़ की बात कह दूँ…

उठे आँखे जो महफ़िल में, वो आँखे फोड़ के रख दूँ
बढ़े जो हाथ, तो उस हाथ को, मैं (मेरी जाँ) तोड़ के रख दूँ
जो नावाक़िफ़ हैं मुझ से, आज उनसे जा के ये कह दो
ज़ुबाँ पे राज़ आया तो, ज़ुबाँ को मोड़ के रख दूँ
ख़ुशी से कोई जीता है, ख़ुशी से उसको जीने दो
इशारों को अगर समझो…

उसी को छीनकर तेरी नज़र से दूर कर दूँ
तुझे मैं आँहें भरने के लिए (हाँ मैं) मजबूर कर दूँ
यहाँ बदनाम कर दूँ, वहाँ मशहूर कर दूँ
ज़बाँ खुल जाए गर मेरी, तो चकनाचूर कर दूँ
ज़रा अफ़साने का पहले, पता लगने दो दुनिया को
राज़ की बात कह दूँ…

ये सूरज, चाँद और तारे, चले मेरे इशारों पर
हुकूमत है मेरी दरिया, समंदर और किनारों पर
मैं अपने हाथों से, इस दुनिया की तक़दीर लिखता हूँ
मगर फिर तरस आता है, तेरे जैसे बिचारों पर
नहीं पैदा हुआ कोई, जो रोके मेरी राहों को
इशारों को अगर समझो…

तुम्हारी ज़ात क्या है?
तेरी औकात क्या है?
तुम्हारे क्या इरादे?
ये पहले तू बता दे
हुस्न की मार बुरी है
इश्क़ की ख़ार बुरी है
नज़र का तीर जो छोड़ूँ?
तीर को ऐसे तोड़ूँ
अगर घूंघट उठा दूँ?
तो मैं आँखें लड़ा दूँ
कमर के देख झटके
इधर भी देख पलट के
तू मुझ को ना पहचाने
मुझे तू भी न जाने
बदन मेरा है कुंदन
मेरा दिल भी है चन्दन
मैं चन्दन की खुशबू हूँ
मैं चन्दन, मैं चन्दन, मैं चन्दन हू-ब-हू हूँ
इशारों को अगर समझो…

दिल तो है दिल – Dil To Hai Dil (Lata Mangeshkar, Muqaddar Ka Sikandar)

Movie Name /Album Name- मुक़द्दर का सिकंदर (1979)
Music Producer/Music By- कल्याणी-आनंदजी
Lyrics Writer/Lyrics by- अनजान
Singers/Performed By- लता मंगेशकर

दिल तो है दिल, दिल का ऐतबार, क्या कीजे
आ गया जो, किसी पे प्यार, क्या कीजे
दिल तो है दिल…

यादों में तेरी खोई, रातों को मैं ना सोई
हालत ये मेरे मन की, जाने ना जाने कोई
बरसों हैं तरसी आँखें, जागी हैं प्यासी रातें
आई है आते-आते, होठों पे दिल की बातें
प्यार में तेरे, दिल का मेरे, कुछ भी हो अंजाम
बेक़रारी में है क़रार, क्या कीजे
आ गया जो…

छाए है मन में मेरे, मदहोश रैना तेरे
घेरे हैं तन को मेरे, तेरी बाहों के घेरे
दूरी सही न जाए, चैन कहीं ना आए
चलना है अब तो तेरी, पलकों के साए-साए
बस ना चले रे, शाम सवेरे ले के तेरा नाम
दिल धड़कता है बार-बार क्या कीजे
आ गया जो…

सलाम-ए-इश्क मेरी जाँ – Salaam-e-Ishq Meri Jaan (Lata Mangeshkar, Kishore Kumar, Muqaddar Ka Sikandar)

Movie Name /Album Name- मुक़द्दर का सिकंदर (1979)
Music Producer/Music By- कल्याणी-आनंदजी
Lyrics Writer/Lyrics by- अनजान
Singers/Performed By- लता मंगेशकर, किशोर कुमार

इश्क़ वालों से न पूछो
कि उनकी रात का आलम
तन्हाँ कैसे गुज़रता है
जुदा हो हमसफ़र जिसका
वो उसको याद करता है
न हो जिसका कोई वो
मिलने की फ़रियाद करता है

सलाम-ए-इश्क़ मेरी जाँ
ज़रा क़ुबूल कर लो
तुम हमसे प्यार करने की
ज़रा सी भूल कर लो
मेरा दिल बेचैन, मेरा दिल बेचैन है
हमसफ़र के लिये
सलाम-ए-इश्क़ मेरी जाँ…

मैं सुनाऊँ तुम्हें बात इक रात की
चांद भी अपनी पूरी जवानी पे था
दिल में तूफ़ान था, एक अरमान था
दिल का तूफ़ान अपनी रवानी पे था
एक बादल उधर से चला झूम के
देखते-देखते चांद पर छा गया
चांद भी खो गया उसकी आगोश में
उफ़ ये क्या हो गया जोश ही जोश में
मेरा दिल धड़का
मेरा दिल तड़पा किसी की नज़र के लिये
सलामे-इश्क़ मेरी जाँ…

इसके आगे की अब दास्ताँ मुझसे सुन
सुन के तेरी नज़र डबडबा जाएगी
बात दिल की जो अब तक तेरे दिल में थी
मेरा दावा है होंठों पे आ जाएगी
तू मसीहा मुहब्बत के मारों का है
हम तेरा नाम सुन के चले आए हैं
अब दवा दे हमें या तू दे दे ज़हर
तेरी महफ़िल में ये दिलजले आए हैं
एक एहसान कर, एहसान कर
एक एहसान कर अपने मेहमान पर
अपने मेहमान पर एक एहसान कर
दे दुआएँ, दे दुआएँ तुझे उम्र भर के लिये
सलामे-इश्क़ मेरी जाँ…

 

वफ़ा जो ना की – Wafa Jo Na Ki (Hemlata, Muqaddar Ka Sikandar)

Movie Name /Album Name- मुक़द्दर का सिकंदर (1979)
Music Producer/Music By- कल्याणी-आनंदजी
Lyrics Writer/Lyrics by- अनजान
Singers/Performed By- हेमलता

मंज़ूर नहीं मेरी मुहब्बत तो क्या हुआ ऐ दोस्त
दुश्मनी निभाने के लिए आ
माना तेरे करम के तो काबिल नहीं रहे
आ मेरे दिल पे ज़ुल्म ही ढाने के लिए आ

वफ़ा जो न की तो जफ़ा भी न कीजे
सितम जानेमन इस तरह भी न कीजे
के मरने की तमन्ना में कहीं जी न जाएँ
वफ़ा

नहीं इश्क हमसे नहीं न सही
हमें इश्क तुमसे तो हम क्या करें
है मर-मर के जीने की आदत हमें
तुम्हारी बला से जियें न मरें
भला, भला न किया तो बुरा भी न कीजे
सितम जानेमन इस…

 

प्यार ज़िन्दगी है – Pyar Zindagi Hai (Mahendra Kapoor, Asha Bhosle, Lata Mangeshkar, Muqaddar Ka Sikandar)

Movie Name /Album Name- मुक़द्दर का सिकंदर (1979)
Music Producer/Music By- कल्याणी-आनंदजी
Lyrics Writer/Lyrics by- अनजान
Singers/Performed By- महेंद्र कपूर, लता मंगेशकर, आशा भोंसले

प्यार ज़िन्दगी है
प्यार बंदगी है, बंदगी है
यहाल्ला यहाल्ला ऊ या अल्लाह
यहाल्ला यहाल्ला ऊ या अल्लाह
प्यार से प्यार करो
ये उम्र प्यार की है
प्यार बिना क्या जीना
ये भी कोई ज़िन्दगी है
प्यार ज़िन्दगी है…

प्यार करम, प्यार दुआ
प्यार सितम, प्यार वफ़ा
प्यार से जुदा तो यहाँ कोई नहीं, कोई नहीं
प्यार ख़ुशी, प्यार नशा
क्या वो नज़र, क्या वो अदा
हो के फ़िदा प्यार में जो कोई नहीं, कोई नहीं
दिल तो लगा के देखो, प्यार में क्या ख़ुशी है
प्यार बिना क्या जीना ये भी कोई ज़िन्दगी है
प्यार ज़िन्दगी है…

दूर रहे पास रहे
दिल में तेरी प्यास रहे
तेरे लिये मैं हूँ तू है मेरे लिये, मेरे लिए
प्यार सनम प्यार खुदा
यार कभी हो ना जुदा
यार बिना कोई यहाँ कैसे जिये, कैसे जिये
बाहों में यार के ही, दुनिया बहार की है
प्यार बिना क्या जीना, ये भी कोई ज़िन्दगी है
प्यार ज़िन्दगी है…

देख हमें कोई जले
कोई जले हाथ मले
तू जो मेरे साथ चले, लोगों से क्या डरना यहाँ
प्यार यहाँ जो न करे
ख़ाक जिये ख़ाक मरे
यार मेरे तेरे लिये जीना यहाँ मरना यहाँ
मर के भी ना मिटे जो, ये वो दीवानगी है
प्यार बिना क्या जीना, ये भी कोई ज़िन्दगी है
प्यार ज़िन्दगी है…

 

ज़िन्दगी तो बेवफा है – Zindagi To Bewafa Hai (Md.Rafi, Muqaddar Ka Sikandar)

Movie Name /Album Name- मुक़द्दर का सिकंदर (1979)
Music Producer/Music By- कल्याणी-आनंदजी
Lyrics Writer/Lyrics by- अनजान
Singers/Performed By- मोहम्मद रफ़ी

ज़िन्दगी तो बेवफा है एक दिन ठुकराएगी
ज़िन्दगी तो बेवफा है एक दिन ठुकराएगी
मौत मेहबूबा है
मौत मेहबूबा है अपने साथ लेकर जाएगी
मर के जीने की अदा जो दुनिया को सिखलाएगा
वो मुकद्दर का सिकंदर
वो मुकद्दर का सिकंदर जानेमन

 

 

एक बात कहूँ गर – Ek Baat Kahoon Gar (Lata Mangeshkar, Gol Maal)

Movie Name /Album Name- गोल माल (1979)
Music Producer/Music By- राहुल देव बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- गुलज़ार
Singers/Performed By- लता मंगेशकर

एक बात कहूँ गर मानो तुम
सपनों में न आना जानो तुम
मैं नींद में उठकर चलती हूँ
जब देखती हूँ सच मानो तुम

कल भी हुआ के तुम, गुज़रे थे पास से
थोड़े से अनमने, थोड़े उदास थे
भागी थी मनाने नींद में लेकिन
सोफे से गिर पड़ी
एक बात कहूँ गर..

परसों की बात है, तुमने बुलाया था
तुम्हारे हाथ में चेहरा छुपाया था
चूमा था हाथ को नींद में लेकिन
पाया पलंग का था
एक बात कहूँ गर…

उस दिन भी रात को, तुम ख्वाब में मिले
और खामखां के बस करते रहे गिले
काश ये नींद और ख्वाब के यूँ ही
चलते रहे सिलसिले
एक बात कहूँ गर…

 

एक दिन सपने में – Ek Din Sapne Mein (Kishore Kumar, Amit Kumar, Gol Maal)

Movie Name /Album Name- गोल माल (1979)
Music Producer/Music By- राहुल देव बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- गुलज़ार
Singers/Performed By- किशोर कुमार

एक दिन सपने में देखा सपना
क्या
अरे वो जो है न अमिताभ अपना
बच्चन? हाँ
मार्किट से आउट हुआ, लोगों को डाउट हुआ
मेरी वजह से वो गया गया गया गया
किस्मत तो बदली, क्या कहूँ रियली
मैं अमिताभ हो गया
हो सपने में देखा सपना

दाएँ में हेमा मालिनी, बाएँ में ज़ीनत
अमान?
सामने रेखा, पीछे जो देखा
दाये में हेमा, बाएँ में ज़ीनत
सामने रेखा, पीछे जो देखा
तो क्या हुआ?
रत्ना खड़ी थी, हाथ में छड़ी थी
देखते-देखते मैं भाग रहा था
देखा मैं जाग रहा था
हो सपने में देखा सपना, हाँ

हाँ एक और याद आया
सुनाओ
एक दिन सपने में देखा सपना
अरे वो जो है ना मिस्टर पेले अपना
कॉसमॉस?
कहते खिलाड़ी हैं, बड़ा अनाड़ी है
मेरे साथ मैच हो गया, गया गया गया गया
अरे मारा जो छक्का तो कैच हो गया
फुटबॉल में क्रिकेट, हाँ कहा ना
सपने में देखा सपना…

और एक!
एक दिन छोटी सी देखी सपनी
सपनी?
वो जो है ना, लता अपनी
लता गा रही थी, मैं तबले पे था
वो मुखड़े पे थी, मैं अंतरे पे था
ताल कहाँ, सम कहाँ, तुम कहाँ, हम कहाँ
तिरकिट धूम नरगद धूम
तिरकिट धूम नरगद धूम, तुम हम तुम
लताफट फटफट लताफट फटाफट
नरकट करमत ता थई थई ता
ता थई थई ता, ता थई थई ता
थैया थैया थई
तकत धूम तकत धूम ताकत हाँ
सपने में देखा सपना
हो सपने में देखा सपना हाँ

 

गोल माल है – Gol Maal Hai (Sapan Chakraborty, R.D.Burman, Gol Maal)

Movie Name /Album Name- गोल माल (1979)
Music Producer/Music By- राहुल देव बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- गुलज़ार
Singers/Performed By- सपन चक्रबर्ती, आर.डी.बर्मन

गोल माल है भई सब गोल माल है
हर सीधे रस्ते की एक टेढ़ी ही चाल है
गोल माल है भाई…

भूख रोटी की हो तो पैसा कमाइए
पैसा कमाने के लिए भी पैसा चाहिए
मांगे से न मिले तो पसीना बहाइए
बहता है जब पसीना तो रुमाल चाहिए
हो गोल माल है भाई…

रुमाल बन गया भी गर कमीज फाड़ कर
कमीज के लिए भी तो फिर कपड़ा चाहिए
अरे कपड़ा किसी ने दान ही में दे दिया चलो
दर्ज़ी के पास जा के वो पहले सिलाइये
हो गोल माल है भाई…

बिन सिली कमीज़ पे तो कुछ नहीं लिया
सिली हुई कमीज पे सिलाई चाहिए
सिलाई देने के लिए फिर पैसा चाहिए
पैसा कमाने के लिए फिर पैसा चाहिए
हो गोल माल है भाई…

 

सा रे गा मा – Sa Re Ga Ma (Md.Rafi, Kishore Kumar, Chupke Chupke)

Movie Name /Album Name- चुपके चुपके (1975)
Music Producer/Music By- सचिन देव बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- आनंद बक्षी
Singers/Performed By- मोहम्मद रफ़ी, किशोर कुमार

चल शुरू हो जा
सा आ आ आ आ आ
अरे बस बस बस
बस सा पे रुक गया? आगे बढ़
रे… रे के आगे क्या है
गा… अरे वाह! वाह! वाह! वाह!
वाह! वाह! क्या गले में तासीर है
ये बात है तो मा
चल वापस आजा अपनी जगह पे
सा रे गा मा आहा
मा सा रे गा वाह! वाह!
गा सा रे मा ओहो!
मा गा रे सा ओह ओह ओह !

सा रे गा मा, मा सा रे गा
गा सा रे मा, मा गा रे सा
पा धा पा मा मा पा मा गा
रे पा मा मा गा रे सा
सा रे गा मा, मा सा रे गा
गा सा रे मा, मा गा रे सा

गीत पहले बना था, या बनी थी ये सरगम
एक ही साथ हुआ था दो दिलो का ये संगम
प्यार का ये तराना ज़माना सुन ले
सा रे गा मा, वन टू थ्री फोर
सा रे गा मा, मा सा रे गा
गा सा रे मा, मा गा रे सा

जैसे दिल मिलते हैं, वैसे सुर मिलते हैं
फूल तब गीतों के, होंठो पे खिलते हैं
तुम तानना दिम तानना ज़माना सुन ले
सा रे गा मा, वन टू थ्री फोर
सा रे गा मा, मा सा रे गा
गा सा रे मा, मा गा रे सा
सा रे गा मा, मा सा रे गा
गा सा रे मा, मा गा रे सा
मा गा रे सा, मा गा रे सा
मा गा रे सा, मा गा रे सा
मा गा रे सा, मा गा रे सा

 

बंगले के पीछे – Bangle Ke Peeche (Lata Mangeshkar, Samadhi)

Movie Name /Album Name- समाधि (1972)
Music Producer/Music By- आर.डी.बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- मजरूह सुल्तानपुरी
Singers/Performed By- लता मंगेशकर

बंगले के पीछे, तेरी बेरी के नीचे
हाय रे पिया, आहा रे पिया
काँटा लगा, हाय लगा
हाँ आजा, हाँ राजा
बंगले के पीछे…

बिंदिया छिपाये रे लाली चुनर
ओढ़ के मूंद के मुखड़ा अपना
निकली अँधेरे में दुनिया के डर से मैं सजना
रात बैरन हुई. ओ रे साथिया
देख हालत मेरी, आ लेकर दिया
बंगले के पीछे…

आई मुसीबत तो अब सोचती हूँ
मैं क्यूँ रह सकी ना तेरे बिन
सच ही तो कहती थी सखियाँ फँसेगी तू एक दिन
भूल तो हो गई. जो किया सो किया
तू बचा ले बलम, आज मेरा जिया
बंगले के पीछे…

सबको पुकारे अनाड़ी न समझे
ये मिलने का सारा जतन है
कैसे बताऊँ ये चाहत की सैय्याँ चुभन है
ये वो काँटा सजन, जाए लेकर जिया
नैन सुई लगे तो निकले पिया
बंगले के पीछे…

मैंने तुझे माँगा – Maine Tujhe Maanga (Asha, Kishore, Deewaar)

Movie/ Album- दीवार (1975)
Music Producer/Music By- राहुल देव बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- साहिर लुधियानवी
Singers/Performed By- आशा भोंसले, किशोर कुमार

मैंने तुझे माँगा तुझे पाया है
तूने मुझे माँगा मुझे पाया है
आगे हमें जो भी मिले
या न मिले, गिला नहीं
मैंने तुझे माँगा…

छाँव घनी ही नहीं, धूप कड़ी भी होती है राहों में
ग़म हो के ख़ुशियाँ हो, सभी को हमें लेना है बाँहों में
दुःखी हो के जीने वाले, क्या ये तुझे पता नहीं
मैंने तुझे माँगा…

ज़िद है तुम्हें तो लो, लब पे न शिकवा कभी भी लाएँगे
हँस के सहेंगे जो दर्द या ग़म भी जहाँ से पाएँगे
तुझको जो बुरा लगे, ऐसा कभी किया नहीं
मैंने तुझे माँगा…

 

नाम गुम जाएगा – Naam Gum Jaayega (Lata Mangeshkar, Bhupinder Singh, Kinara)

Movie Name /Album Name- किनारा (1977)
Music Producer/Music By- आर.डी.बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- गुलज़ार
Singers/Performed By- लता मंगेशकर, भूपिंदर सिंह

नाम गुम जाएगा
चेहरा ये बदल जाएगा
मेरी आवाज़ ही पहचान है
गर याद रहे

वक्त के सितम कम हसीं नहीं
आज है यहाँ कल कहीं नहीं
वक्त से परे अगर मिल गए कहीं
मेरी आवाज़ ही…
नाम गुम जाएगा…

जो गुज़र गई कल की बात थी
उम्र तो नहीं एक रात थी
रात का सिरा अगर फिर मिले कहीं
मेरी आवाज़ ही…
नाम गुम जाएगा…

दिन ढले जहाँ रात पास हो
ज़िन्दगी की लौ ऊँची कर चलो
याद आए गर कभी जी उदास हो
मेरी आवाज़ ही…
नाम गुम जाएगा..

साँचा नाम तेरा – Saancha Naam Tera (Asha Bhosle, Usha Mangeshkar, Julie)

Movie/ Album- जूली (1975)
Music Producer/Music By- राजेश रोशन
Lyrics Writer/Lyrics by- आनंद बक्षी
Singers/Performed By- आशा भोसले, उषा मंगेशकर

साँचा नाम तेरा
तू शाम मेरा
सगरा जगत है झूठा साथी
टूटे दीपक, बुझ जाए बाती
हर रंग में तू संग में है
चाहे सांझ हो, चाहे सवेरा
साँचा नाम तेरा…

मैं तुझमें खोई रे
दूजा न कोई रे
आ, जागी या सोई रे
तू एक अपना जीवन सपना
सगरा जगत है झूठा साथी
टूटे दीपक, बुझ जाए बाती
मैंने बिगाड़ा हर काम अपना
तूने सँवारा हर काम मेरा
साँचा नाम तेरा…

दुःख सुख की धारा
तू है किनारा
मनमोहन प्यारा
सबका खेवैया कृष्ण कन्हैया
सगरा जगत है झूठा साथी
टूटे दीपक, बुझ जाए बाती
तोड़ के ये मन मंदिर बना लूँ
हो मन के मंदिर में धाम तेरा
साँचा नाम तेरा…

This Post Has One Comment

Leave a Reply