Popular Hindi Songs With Lyrics

post Contents ( Hindi.Shayri.Page)

popular Hindi Songs With Lyrics

 

यार बिना चैन कहाँ रे – Yaar Bina Chain Kahan Re (Bappi Lahiri, Asha Bhonsle)

Movie Name /Album Name- : साहेब (1985)
Music Producer/Music By- : बप्पी लाहिरी
Lyrics Writer/Lyrics by- : अनजान
Singers/Performed By : बप्पी लाहिरी, आशा भोंसले

यार बिना चैन कहाँ रे
सोना नहीं चाँदी नहीं यार तो मिला
अरे प्यार कर ले

कोई नया सपना निगाहों में तो है
कोई नया साथी नयी राहों में तो है
दिल जो मिलेंगे तकदीर बनेगी
जिंदगी की नयी तस्वीर बनेगी
प्यार में ये दिल बेक़रार कर ले
यार बिना चैन…

यार हमें पैसा नहीं प्यार चाहिए
कोई मनचाहा दिलदार चाहिए
हीरे मोतियों से जहाँ दिल ना तुले
सपनों का ऐसा संसार चाहिए
ये भी होगा थोड़ा इंतज़ार कर ले
यार बिना चैन…

तुमसे मिल के ऐसा लगा – Tumse Mil Ke Aisa Laga (Suresh Wadkar, Asha Bhosle, Parinda)

Movie Name /Album Name-: परिंदा (1989)
Music Producer/Music By-: आर.डी.बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- : खुर्शीद हल्लौरी
Singers/Performed By: सुरेश वाडकर, आशा भोंसले

तुमसे मिल के ऐसा लगा
तुमसे मिल के अरमां हुए पूरे दिल के
ऐ मेरी जान-ए-वफ़ा
तेरी मेरी, मेरी तेरी इक जान है
साथ तेरे रहेंगे सदा
तुमसे न होंगे जुदा

मेरे सनम, तेरी कसम
छोड़ेंगे अब ना ये हाथ
ये ज़िन्दगी, गुज़रेगी अब
हमदम तुम्हारे ही साथ
अपना ये वादा रहा
तुमसे न होंगे जुदा
तुमसे मिल के…

मैंने किया, है रात दिन
बस तेरा ही इंतज़ार
तेरे बिना, आता नहीं
इक पल मुझे अब करार
हमदम मेरा मिल गया
हम तुम (अब हम) ना होंगे जुदा
तुमसे मिल के…

तुझसे नाराज़ नहीं ज़िन्दगी – Tujhse Naraz Nahin Zindagi (Anup, Lata, Masoom)

Movie Name /Album Name-: मासूम (1983)
Music Producer/Music By-: आर.डी.बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- : गुलज़ार
Singers/Performed By: अनूप घोषाल, लता मंगेशकर

तुझसे नाराज़ नहीं ज़िन्दगी
हैरान हूँ मैं
तेरे मासूम सवालों से
परेशान हूँ मैं

जीने के लिए सोचा ही नहीं
दर्द संभालने होंगे
मुस्कुराये तो मुस्कुराने के
क़र्ज़ उतारने होंगे
मुस्कुराऊं कभी तो लगता है
जैसे होंठों पे क़र्ज़ रखा है
तुझसे…

ज़िन्दगी तेरे गम ने हमें
रिश्ते नए समझाए
मिले जो हमें धूप में मिले
छाँव के ठण्डे साये
तुझसे…

आज अगर भर आई है
बूंदे बरस जाएगी
कल क्या पता किनके लिए
आँखें तरस जाएगी
जाने कब गुम हुआ, कहाँ खोया
इक आंसू छुपा के रखा था
तुझसे…

दिलबर मेरे कब तक – Dilbar Mere Kab Tak (Kishore Kumar, Satte Pe Satta)

Movie Name /Album Name-: सत्ते पे सत्ता (1982)
Music Producer/Music By-: आर.डी.बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- : गुलशन बावरा
Singers/Performed By: किशोर कुमार

दिलबर मेरे कब तक मुझे
ऐसे ही तड़पाओगे
मैं आग दिल में लगा दूँगा वो
के पल में पिघल जाओगे
एक दिन आएगा
प्यार हो जाएगा
मैं आग दिल में…

सोचोगे जब मेरे बारे में तन्हाईयों में
घिर जाओगे और भी मेरी परछाईयों में
दिल मचल जाएगा, प्यार हो जाएगा
दिलबर मेरे कब तक…

दिल से मिलेगा जो दिल तो महकने लगोगे
तुम मेरी बाहों में आ के बहकने लगोगे
होश खो जाएगा, प्यार हो जाएगा
दिलबर मेरे कब तक…

नीले नीले अम्बर पर – Neele Neele Ambar Par (Kishore Kumar, Kalaakaar)

Movie Name /Album Name-: कलाकार (1983)
Music Producer/Music By-: कल्याणजी-आनंदजी
Lyrics Writer/Lyrics by- : इन्दीवर
Singers/Performed By: किशोर कुमार

नीले नीले अम्बर पर, चाँद जब आये
प्यार बरसाए, हमको तरसाए
ऐसा कोई साथी हो, ऐसा कोई प्रेमी हो
प्यास दिल की बुझा जाए

ऊँचे-ऊँचे परबत जब चूमते हैं अम्बर को
प्यासा-प्यासा अम्बर जब चूमता है सागर को
प्यार से कसने को, बाहों में बसने को
दिल मेरा ललचाये, कोई तो आ जाए
ऐसा कोई साथी हो…

ठण्डे ठण्डे झोंके, जब बालों को सहलाएं
तपती-तपती किरणें, जब गालों को छू जायें
साँसों की गर्मी को, हाथों की नरमी को
मेरा मन तरसाए, कोई तो छू जाये
ऐसा कोई साथी हो…

छम-छम करता सावन बूंदों के बान चलाये
सतरंगी बरसातों में जब तनमन भीगा जाए
प्यार में नहाने को, डूब ही जाने को
दिल मेरा तड़पाये, ख्वाब जगा जाए
ऐसा कोई साथी हो…

 

रंग बरसे – Rang Barse (Amitabh Bachchan, Silsila)

Movie Name /Album Name-: सिलसिला (1981)
Music Producer/Music By-: शिव-हरी
Lyrics Writer/Lyrics by- : हरिवंश राय बच्चन
Singers/Performed By: अमिताभ बच्चन

रंग बरसे भीगे चुनरवाली, रंग बरसे
अरे कैने मारी पिचकारी तोरी भीगी अंगिया
रंग रसिया, रंग रसिया,
हो !!
रंग बरसे भीगे चुनरवाली, रंग बरसे…

सोने की थाली में जोना परोसा
खाए गोरी का यार, बलम तरसे
रंग बरसे…
होली है!

लौंगा इलाची का बीड़ा लगाया
चाबे गोरी का यार, बलम तरसे
रंग बरसे…
होली है!

अरे बेला चमेली का सेज बिछाया
सोए गोरी का यार, बलम तरसे
रंग बरसे…
होली है!

हर करम अपना करेंगे – Har Karam Apna Karenge (Mohammed Aziz, Kavita Krishnamurthy, Karma)

Movie Name /Album Name-: कर्मा (1986)
Music Producer/Music By-: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics Writer/Lyrics by- : आनंद बक्षी
Singers/Performed By: कविता कृष्णमूर्ति, मोहम्मद अज़ीज़

मेरा कर्मा तू, मेरा धर्मा तू
तेरा सब कुछ मैं, मेरा सब कुछ तू
हर करम अपना करेंगे ऐ वतन तेरे लिए
दिल दिया है, जाँ भी देंगे, ऐ वतन तेरे लिए

तू मेरा कर्मा, तू मेरा धर्मा, तू मेरा अभिमान है
ऐ वतन, महबूब मेरे, तुझपे दिल क़ुर्बान है
हम जियेंगे और मरेंगे ऐ वतन तेरे लिए
दिल दिया है…

हिन्दू मुस्लिम सिख ईसाई, हमवतन, हमनाम हैं
जो करे इनको जुदा मज़हब नहीं, इल्ज़ाम है
हम जियेंगे और मरेंगे ऐ वतन तेरे लिए
दिल दिया है…

तेरी गलियों में चलाकर नफ़रतों की गोलियाँ
लूटते हैं कुछ लुटेरे दुल्हनों की डोलियाँ
लुट रहे है आप वो, अपने घरों को लूट कर
खेलते हैं बेखबर, अपने लहू से होलियाँ
हम जियेंगे और मरेंगे ऐ वतन तेरे लिए
दिल दिया है…

 

रात बाकी बात बाकी – Raat Baaki Baat Baaki (Asha Bhosle, Bappi Lahiri)

Movie Name /Album Name-: नमक हलाल (1982)
Music Producer/Music By-: बप्पी लाहिरी
Lyrics Writer/Lyrics by- : अनजान
Singers/Performed By: आशा भोंसले, बप्पी लाहिरी

रात बाकी, बात बाकी
होना है जो हो जाने दो
सोचो ना देखो तो
देखो हाँ जाने-जां
मुझे प्यार से

कश्ती जवां दिल की तूफां से टकरा गयी
मंज़िल मोहब्बत की अब तो करीब आ गयी
आ देखले, है क्या मज़ा
दिल हार के
रात बाकी…

आगाज़ ये है तो अंजाम होगा हसीं
दीवाने परवाने मरने से डरते नहीं
आ दिलरुबा, खुल के ज़रा
मिल यार से
रात बाकी…

 

पग घुँघरू बाँध मीरा – Pag Ghunghroo Baandh Meera (Kishore Kumar, Namak Halal)

Movie Name /Album Name-: नमक हलाल (1982)
Music Producer/Music By-: बप्पी लाहिरी
Lyrics Writer/Lyrics by- : अनजान
Singers/Performed By: किशोर कुमार

बुजुर्गों ने फ़रमाया की पैरों पे अपने खड़े होके दिखलाओ
फिर ये ज़माना तुम्हारा है
ज़माने के सुर ताल के साथ चलते चले जाओ
फिर हर तराना तुम्हारा, फ़साना तुम्हारा है
अरे तो लो भैया हम
अपने पैरों के ऊपर खड़े हो गए
और मिला ली है ताल
दबा लेगा दाँतों तले उँगलियाँ-लियां
ये जहां देखकर, देखकर अपनी चाल

के पग घुंघरू बाँध मीरा नाची थी
और हम नाचे बिन घुंघरू के
वो तीर भला किस काम का है
जो तीर निशाने से चूके-चूके-चूके रे

आप अन्दर से कुछ और बाहर से कुछ और नज़र आते हैं
बाखुदा शक्ल से तो चोर नज़र आते हैं
उम्र गुज़री है सारी चोरी में
सारे सुख-चैन बंद जुर्म की तिजोरी में
आपका तो लगता है बस यही सपना
राम-राम जपना, पराया माल अपना
वतन का खाया नमक तो नमक हलाल बनो
फ़र्ज़ ईमान की जिंदा यहाँ मिसाल बनो
पराया धन, परायी नार पे नज़र मत डालो
बुरी आदत है ये, आदत अभी बदल डालो
क्योंकि ये आदत तो वो आग है जो
इक दिन अपना घर फूंके-फूंके-फूंके रे
के पग घुंघरू…

मौसम-ए-इश्क में मचले हुए अरमान है हम
दिल को लगता है के दो जिस्म एक जान है हम
ऐसा लगता है तो लगने में कुछ बुराई नहीं
दिल ये कहता है आप अपनी हैं पराई नहीं
संगमरमर की हाय, कोई मूरत हो तुम
बड़ी दिलकश बड़ी ख़ूबसूरत हो तुम
दिल-दिल से मिलने क कोई महूरत हो
प्यासे दिलों की ज़रुरत हो तुम
दिल चीर के दिखला दूं मैं, दिल में यहीं सूरत हसीं
क्या आपको लगता नहीं हम हैं मिले पहले कहीं
क्या देश है क्या जात है
क्या उम्र है क्या नाम है
अरे छोड़िये इन बातों से
हमको भला क्या काम है
अजी सुनिए तो
हम आप मिलें तो फिर हो शुरू
अफ़साने लैला मजनू, लैला मजनू के
के पग घुंघरू…

 

तन्हाँ तन्हाँ मत सोचा कर – Tanha Tanha Mat Socha Kar (Mehdi Hassan)

Movie Name /Album Name-: कहना उसे (1985)
Music Producer/Music By-: नियाज़ अहमद
Lyrics Writer/Lyrics by- : फ़रहत शहज़ाद
Singers/Performed By: मेहदी हसन

तन्हाँ तन्हाँ मत सोचा कर
मर जाएगा मत सोचा कर

प्यार घड़ी भर का ही बहुत है
झूठा, सच्चा, मत सोचा कर

अपना आप गवाँ कर तूने
पाया है क्या, मत सोचा कर

जिसकी फ़ितरत ही डसना हो
वो तो डसेगा, मत सोचा कर

धूप में तनहा कर जाता
क्यूँ ये साया, मत सोचा कर

मान मेरे शहजाद वगरना
पछताएगा, मत सोचा कर

देखा एक ख्वाब – Dekha Ek Khwaab (Kishore Kumar, Lata Mangeshkar, Silsila)

Movie Name /Album Name-: सिलसिला (1981)
Music Producer/Music By-: शिव-हरि
Lyrics Writer/Lyrics by- : जावेद अख्तर
Singers/Performed By: किशोर कुमार, लता मंगेशकर

देखा एक ख्वाब तो ये सिलसिले हुए
दूर तक निगाहों में हैं गुल खिले हुए
ये गिला है आपकी निगाहों से
फूल भी हो दरमियान तो फासले हुए

मेरी साँसों में बसी खुशबू तेरी
ये तेरे प्यार की है जादूगरी
तेरी आवाज़ है हवाओं में
प्यार का रंग है फिजाओं
धडकनों में तेरे गीत हैं मिले हुए
क्या कहूँ की शर्म से हैं लब सिले हुए
देखा एक ख्वाब तो…

मेरा दिल है तेरी पनाहों में
आ छुपा लूँ तुझे मैं बाहों में
तेरी तस्वीर है निगाहों में
दूर तक रौशनी है राहों में
कल अगर ना रौशनी के काफिले हुए
प्यार के हज़ार दीप हैं जले हुए
देखा एक ख्वाब तो…

 

छू कर मेरे मन को – Chhoo Kar Mere Man Ko (Kishore Kumar, Yaarana)

Movie Name /Album Name-: याराना (1981)
Music Producer/Music By-: राजेश रोशन
Lyrics Writer/Lyrics by- : अनजान
Singers/Performed By: किशोर कुमार

छू कर मेरे मन को
किया तुने क्या इशारा
बदला ये मौसम
लगे प्यारा जग सारा

तू जो कहे जीवन भर
तेरे लिए मैं गाऊँ
गीत तेरे बोलों पे
लिखता चला जाऊं
मेरे गीतों में
तुझे ढूंढे जग सारा
छू कर मेरे मन…

आजा तेरा आंचल ये
प्यार से मैं भर दूँ
खुशियाँ जहाँ भर की
तुझको नज़र कर दूँ
तू ही मेरा जीवन
तू ही जीने का सहारा
छू कर मेरे मन…

दिल के अरमां – Dil Ke Armaan (Salma Agha, Nikaah)

Album/Movie: निकाह (1982)
Music Producer/Music By-: रवि
Lyrics Writer/Lyrics by- : हसन कमाल
Singers/Performed By: सलमा आगा

दिल के अरमां आंसुओं में बह गए
हम वफ़ा करके भी तनहा रह गए

जिंदगी एक प्यास बनकर रह गई
प्यार के किस्से अधूरे रह गए
हम वफ़ा…

शायद उनका आखरी हो ये सितम
हर सितम ये सोचकर हम सह गए
हम वफ़ा…

खुदको भी हमने मिटा डाला मगर
फासले जो दरमियान थे रह गए
हम वफ़ा…

 

हमें तुमसे प्यार कितना – Humein Tumse Pyar Kitna (Kishore Kumar, Parveen Sultana, Kudrat)

Movie Name /Album Name-: कुदरत (1981)
Music Producer/Music By-: आर.डी.बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- : मजरूह सुल्तानपुरी
Singers/Performed By: किशोर कुमार, परवीन सुल्ताना

हमें तुमसे प्यार कितना, ये हम नहीं जानते
मगर जी नहीं सकते तुम्हारे बिना

किशोर कुमार
सुना गम जुदाई का, उठाते हैं लोग
जाने जिंदगी कैसे, बिताते हैं लोग
दिन भी यहाँ तो लगे, बरस के समान
हमें इंतज़ार कितना, ये हम नहीं जानते
मगर जी नहीं सकते तुम्हारे बिना
हमें तुमसे प्यार कितना…

तुम्हें कोई और देखे, तो जलता है दिल
बड़ी मुश्किलों से फिर, संभालता है दिल
क्या क्या जतन करते हैं, तुम्हें क्या पता
ये दिल बेकरार कितना, ये हम नहीं जानते
मगर जी नहीं सकते तुम्हारे बिना
हमें तुमसे प्यार कितना…

परवीन सुल्ताना
मैं तो सदा थी तुम्हरी दीवानी
भूल गए सैय्याँ प्रीत पुरानी
कद्र ना जानी, कद्र ना जानी
हमें तुमसे प्यार कितना…

कोई जो डारे तुमपे नयनवा
देखा ना जाए मोसे सजनवा
जले मोरा मनवा, जले मोरा मनवा
हमें तुमसे प्यार कितना…

लकड़ी की काठी – Lakdi Ki Kaathi (Gauri, Gurpreet, Vanita, Masoom)

Movie Name /Album Name-: मासूम (1983)
Music Producer/Music By-: आर.डी.बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- : गुलज़ार
Singers/Performed By: गौरी बापट, गुरप्रीत कौर, वनिता मिश्रा

लकड़ी की काठी, काठी पे घोड़ा
घोडे की दुम पे जो मारा हथौड़ा
दौड़ा दौड़ा दौड़ा घोड़ा दुम उठा के दौड़ा

घोड़ा पहुंचा चौक में
चौक में था नाई
घोड़े जी की नाई ने हजामत जो बनाई
टग-बग- 4

घोड़ा था घमंडी
पहुंचा सब्जी मंडी
सब्जी मंडी बरफ पड़ी थी
बरफ में लग गई ठंडी
टग-बग- 4

घोड़ा अपना तगड़ा है
देखो कितनी चर्बी है
चलता है महरौली में
पर घोड़ा अपना अरबी है
टग-बग- 4

ॐ शान्ति ॐ – Om Shanti Om (Kishore Kumar, Karz)

Movie Name /Album Name-: क़र्ज़ (1980)
Music Producer/Music By-: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics Writer/Lyrics by- : आनंद बक्षी
Singers/Performed By: किशोर कुमार

हे, तुमने कभी किसी से प्यार किया? किया!
कभी किसी को दिल दिया? दिया!
मैंने भी दिया!

मेरी उमर के नौजवानों
दिल न लगाना ओ दीवानों
मैंने प्यार करके
चैन खोया, नींद खोयी
अरे झूठ तो कहते नहीं हैं
कहते नहीं हैं लोग कोई
ऐ, प्यार से बढ़कर नहीं है
बढ़कर नहीं है रोग कोई
चलता नहीं है दिल दे के यारों
इस दिल पे जोर कोई
इस रोग का नहीं है इलाज
दुनिया में और कोई
तो गाओ..
ॐ शान्ति ॐ, शांति-शांति ॐ

मैंने किसी को दिल देके कर ली
रातें खराब देखो
आया नहीं अभी तक उधर से
कोई जवाब देखो
वो ना कहेंगे तो खुदकशी
भी कर जाऊंगा मैं यारों
वो हाँ कहेंगे तो भी ख़ुशी से
मर जाऊँगा मैं यारों
तो गाओ..
ॐ शान्ति ॐ, शांति-शांति ॐ

जो छुप गया है पहली नज़र का
पहला सलाम लेकर
हर एक सांस लेता हूँ अब मैं
उसका ही नाम लेकर
मेरे हजारों दीवाने
अब मैं खुद बन गया दीवाना
ये वक़्त तुमपे आ जाए प्यार में
तो ये गीत गाना
सिंग..
ॐ शान्ति ॐ, शांति-शांति ॐ

होंठों से छू लो तुम – Hothon Se Chhoo Lo Tum (Jagjit Singh)

Album/Movie: आवाज़/प्रेम गीत (1981)
Music Producer/Music By-: जगजीत सिंह
Lyrics Writer/Lyrics by- : इन्दीवर
Singers/Performed By: जगजीत सिंह

होंठों से छू लो तुम
मेरा गीत अमर कर दो
बन जाओ मीत मेरे
मेरी प्रीत अमर कर दो

ना उम्र की सीमा हो
ना जन्म का हो बंधन
जब प्यार करे कोई
तो देखे केवल मन
नयी रीत चलाकर तुम
ये रीत अमर कर दो
होंठों से छू लो तुम…

आकाश का सूनापन
मेरे तनहा मन में
पायल छनकाती तुम
आ जाओ जीवन में
सांसें देकर अपनी
संगीत अमर कर दो
होंठों से छू लो तुम…

जग ने छीना मुझसे
मुझे जो भी लगा प्यारा
सब जीता किये मुझसे
मैं हरदम ही हारा
तुम हार के दिल अपना
मेरी जीत अमर कर दो
होंठों से छू लो तुम…

 

Leave a Reply