old bollywood songs lyrics captions

post Contents ( Hindi.Shayri.Page)

old bollywood songs lyrics captions

ये दुनिया ये महफिल – Ye Duniya Ye Mehfil (Md.Rafi, Heer Ranjha)

Movie Name /Album Name- हीर रांझा (1970)
Music Producer/Music By- मदन मोहन
Lyrics Writer/Lyrics by- कैफी आज़मी
Singers/Performed By- मो.रफी

ये दुनिया ये महफिल मेरे काम की नहीं

किसको सुनाऊँ हाल दिल-ऐ-बेकरार का
बुझता हुआ चराग हूँ अपने मज़ार का
ऐ काश भूल जाऊँ मगर भूलता नहीं
किस धूम से उठा था जनाज़ा बहार का
ये दुनिया ये महफिल..

अपना पता मिले ना ख़बर यार की मिले
दुश्मन को भी ना ऐसी सज़ा प्यार की मिले
उनको खुदा मिले हैं खुदा की जिन्हें हैं तलाश
मुझको बस एक झलक मेरे दिलदार की मिले
ये दुनिया ये महफिल..

सेहरा में आके भी मुझको ठिकाना ना मिला
गम को भुलाने का कोई बहाना ना मिला
दिल तरसे जिसमें प्यार को
क्या समझूँ उस संसार को
इक जीती बाज़ी हार के
मैं ढूँढो बिछड़े यार को
ये दुनिया ये महफिल..

दूर निगाहों से आँसू बहाता है कोई
कैसे ना जाऊँ मैं मुझको बुलाता है कोई
या टूटे दिल को जोड़ दो
या सारे बंधन तोड़ दो
ऐ पर्वत रास्ता दे मुझे
ऐ काँटों दामन छोड़ दो
ये दुनिया ये महफिल..

मेरी भीगी-भीगी सी – Meri Bheegi Bheegi Si (Kishore Kumar, Anamika)

Movie Name /Album Name- अनामिका (1973)
Music Producer/Music By- आर.डी.बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- मजरूह सुल्तानपुरी
Singers/Performed By- किशोर कुमार

मेरी भीगी-भीगी सी पलकों पे रह गए
जैसे मेरे सपने बिखर के
जले मन तेरा भी किसी के मिलन को
अनामिका तू भी तरसे

तुझे बिन जाने, बिन पहचाने
मैंने ह्रदय से लगाया
पर मेरे प्यार के बदले में तूने
मुझको ये दिन दिखलाया
जैसे बिरहा की रुत मैंने काटी
तड़प के आहें भर-भर के
जले मन तेरा भी…

आग से नाता, नारी से रिश्ता
काहे मन समझ न पाया
मुझे क्या हुआ था एक बेवफा पे
हाय मुझे क्यों प्यार आया
तेरी बेवाफाही पे हंसे जग सारा
गली-गली गुज़रे जिधर से
जले मन तेरा भी…

न तू ज़मीं के लिए – Na Tu Zameen Ke Liye (Md.Rafi, Dastaan)

Music/Album- दास्तान (1970)
Music Producer/Music By- लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics Writer/Lyrics by- साहिर लुधियानवी
Singers/Performed By- मो.रफ़ी

न तू ज़मीं के लिए
है न आसमां के लिए
तेरा वजूद है
अब दास्ताँ के लिए

पलट के सु-ए-चमन
देखने से क्या होगा
वो शाख ही ना रही
जो थी आशियाँ के लिए
ना तू ज़मीं…

गरज परस्त जहां में
वफ़ा तलाश न कर
ये शय बनी थी किसी
दूसरे जहां के लिए
तेरा वजूद..

ये तेरा आना – Yeh Tera Aana (Mehdi Hassan, Shama)

Movie Name /Album Name- शमा (1974)
Music Producer/Music By- एम.अशरफ
Lyrics Writer/Lyrics by- तस्लीम फ़ज़ली
Singers/Performed By- मेहदी हसन

ये तेरा आना भीगी रातों में
चुपके-चुपके
दिल की बातें, आँखों से कह देना
रुकते रुकते, सबसे छुपके

आहट दे के छुप जाती हो
तरसाती हो, तड़पाती हो
बन के फूल नज़र आती हो
खुशबू बन के उड़ जाती हो
दिल में मचा देती हो हलचल
दिल में रहकर आँख से ओझल
छोड़ो तड़पाना, बाहों में आ जाना
रुकते रुकते…

नील कँवल जैसा ये मुखड़ा
बन गया इन्सां चाँद का टुकड़ा
बाहों में शाखों की नर्मीं
साँसों में चाहत की गर्मी
भोली-भाली तेरी अदाएं
सीधी-साधी तेरी वफाएं
छन-छन करती पायल
कर गयी दिल को घायल
रुकते रुकते…

दिल ऐसा किसी ने मेरा तोड़ा – Dil Aisa Kisi Ne Mera Toda (Kishore Kumar, Amanush)

Movie Name /Album Name- अमानुष (1975)
Music Producer/Music By- श्यामल मित्रा
Lyrics Writer/Lyrics by- इन्दीवर
Singers/Performed By- किशोर कुमार

दिल ऐसा किसी ने मेरा तोड़ा
बर्बादी की तरफ ऐसा मोड़ा
एक भले मानुष को
अमानुष बना के छोड़ा

सागर कितना मेरे पास है
मेरे जीवन में फिर भी प्यास है
है प्यास बड़ी जीवन थोड़ा
अमानुष बना…

कहते है ये दुनिया के रास्ते
कोई मंज़िल नहीं तेरे वास्ते
नाकामियों से नाता मेरा जोड़ा
अमानुष बना…

डूबा सूरज फिर से निकले
रहता नहीं है अँधेरा
मेरा सूरज ऐसा रूठा
देखा न मैंने सवेरा
उजालों ने साथ मेरा छोड़ा
अमानुष बना…

रात कली एक ख़्वाब – Raat Kali Ek Khwaab (Kishore Kumar, Buddha Mil Gaya)

Movie Name /Album Name- बुद्धा मिल गया (1971)
Music Producer/Music By- आर.डी.बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- मजरूह सुल्तानपुरी
Singers/Performed By- किशोर कुमार

रात कली एक ख्वाब में आई और गले का हार हुई
सुबह को जब हम नींद से जागे आँख उन्हीं से चार हुई

चाहे कहो इसे मेरी मोहब्बत, चाहे हँसी में उड़ा दो
ये क्या हुआ मुझे, मुझको खबर नहीं, हो सके तुम्हीं बता दो
तुमने कदम तो रखा ज़मीन पर, सीने में क्यों झनकार हुई
रात कली एक ख्वाब..

आँखों में काजल और लटों में काली घटा का बसेरा
सांवली सूरत मोहनी मूरत, सावन रुत का सवेरा
जबसे ये मुखड़ा दिल में खिला है, दुनिया मेरी गुलज़ार हुई
रात कलि एक ख्वाब…

यूँ तो हसीनों के माहाजबीनों के, होते हैं रोज़ नज़ारे
पर उन्हें देख के, देखा है जब तुम्हें, तुम लगे और भी प्यारे
बाहों में ले लूं, ऐसी तमन्ना एक नहीं कई बार हुई
रात कलि एक ख्वाब…

जाने कहाँ गए वो दिन – Jaane Kahan Gaye Wo Din (Mukesh, Mera Naam Joker)

Movie Name /Album Name- मेरा नाम जोकर (1970)
Music Producer/Music By- शंकर जयकिशन
Lyrics Writer/Lyrics by- शैलेन्द्र
Singers/Performed By- मुकेश

जाने कहाँ गए वो दिन
कहते थे तेरी राह में
नजरों को हम बिछायेंगे
चाहे कहीं भी तुम रहो,
चाहेंगे तुम को उम्र भर
तुमको ना भूल पायेंगे

मेरे कदम जहाँ पड़े,
सजदे किये थे यार ने
मुझको रुला रुला दिया,
जाती हुई बहार ने

अपनी नजर में आज कल
दिन भी अंधेरी रात है
साया ही अपने साथ था,
साया ही अपने साथ है

ज़िन्दगी कैसी है पहेली – Zindagi Kaisi Hai Paheli (Manna Dey, Anand)

Movie Name /Album Name- आनंद (1971)
Music Producer/Music By- सलिल चौधरी
Lyrics Writer/Lyrics by- योगेश
Singers/Performed By- मन्ना डे

ज़िन्दगी कैसी है पहेली हाय
कभी तो हँसाए, कभी ये रुलाये

कभी देखो मन नहीं जागे
पीछे-पीछे सपनों के भागे
एक दिन सपनों का राही
चला जाये सपनों से आगे कहाँ
ज़िन्दगी कैसी है पहेली…

जिन्होंने सजाये यहाँ मेले
सुख-दुःख संग-संग झेले
वही चुनकर खामोशी
यूँ चले जाएँ अकेले कहाँ
ज़िन्दगी कैसी है पहेली…

कहीं दूर जब दिन ढल जाए – Kahin Door Jab Din Dhal Jaaye (Mukesh, Anand)

Movie Name /Album Name- आनंद (1971)
Music Producer/Music By- सलिल चौधरी
Lyrics Writer/Lyrics by- योगेश
Singers/Performed By- मुकेश

कहीं दूर जब दिन ढल जाये
साँझ की दुल्हन बदन चुराए
चुपके से आये
मेरे ख्यालों के आँगन में
कोई सपनों के दीप जलाए

कभी यूँ ही जब हुई बोझल साँसें
भर आईं बैठे-बैठे जब यूँ ही आँखें
तभी मचल के प्यार से चल के
छुए कोई मुझे पर नज़र न आये
कहीं दूर जब दिन ढल जाये…

कहीं तो ये दिल कभी मिल नहीं पाते
कहीं पे निकल आये जन्मों के नाते
है मीठी उलझन बैरी अपना मन
अपना ही हो के सहे दर्द पराये
कहीं दूर जब दिन ढल जाये…

दिल जाने मेरे सारे भेद ये गहरे
खो गये कैसे मेरे सपने सुनहरे
ये मेरे सपने, यही तो हैं अपने
मुझसे जुदा न होंगे इनके ये साये
कहीं दूर जब दिन ढल जाये…

मैं शायर तो नहीं – Main Shayar To Nahin (Shailendra, Bobby)

Movie Name /Album Name- बॉबी (1973)
Music Producer/Music By- लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics Writer/Lyrics by- आनंद बक्षी
Singers/Performed By- शैलेन्द्र सिंह

मैं शायर तो नहीं
मगर ऐ हसीं
जब से देखा मैंने तुझको
मुझको शायरी आ गयी
मैं आशिक तो नहीं
मगर ऐ हसीं
जब से देखा मैंने तुझको
मुझको आशिकी आ गयी

प्यार का नाम मैंने सुना था मगर
प्यार क्या है, ये मुझको नहीं थी खबर
मैं तो उलझा रहा उलझनों की तरह
दोस्तों में रहा दुश्मनों की तरह
मैं दुश्मन तो नहीं
मगर ऐ हसीं
जब से देखा मैंने तुझको
मुझको दोस्ती आ गयी

सोचता हूँ अगर मैं दुआ मांगता
हाथ अपने उठाकर मैं क्या मांगता
जब से तुझसे मोहब्बत मैं करने लगा
तब से जैसे इबादत मैं करने लगा
मैं काफिर तो नहीं
मगर ऐ हसीं
जब से देखा मैंने तुझको
मुझको बंदगी आ गयी

ओ साथी रे – O Saathi Re (Kishore Kumar, Asha Bhosle. Muqaddar Ka Sikandar)

Movie Name /Album Name- मुक़द्दर का सिकंदर (1978)
Music Producer/Music By- कल्याणजी आनंदजी
Lyrics Writer/Lyrics by- अनजान
Singers/Performed By- किशोर कुमार, आशा भोंसले

ओ साथी रे, तेरे बिना भी क्या जीना
फूलों में कलियों में, सपनों की गलियों में
तेरे बिना कुछ कहीं ना
तेरे बिना भी क्या जीना

हर धड़कन में प्यास है तेरी, साँसों में तेरी खुश्बू है
इस धरती से उस अम्बर तक, मेरी नज़र में तू ही तू है
प्यार ये टूटे ना तू मुझसे रूठे ना, साथ ये छूटे कभी ना
तेरे बिना भी क्या जीना…

तुझ बिन जोगन मेरी रातें, तुझ बिन मेरे दिन बंजारे
मेरा जीवन जलती धूनी, बुझे-बुझे मेरे सपने सारे
तेरे बिना मेरी, मेरे बिना तेरी, ये जिंदगी जिंदगी ना
तेरे बिना भी क्या जीना…

आशा
जाने कैसे अनजाने ही, आन बसा कोई प्यासे मन में
अपना सब कुछ खो बैठे हैं, पागल मन के पागलपन में
दिल के अफसाने, मैं जानूँ तू जाने, और ये जाने कोई ना
तेरे बिना भी क्या जीना…

आने वाला पल – Aane Waala Pal (Kishore Kumar, Golmaal)

Movie Name /Album Name- गोलमाल (1979)
Music Producer/Music By- आर.डी.बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- गुलज़ार
Singers/Performed By- किशोर कुमार

आने वाला पल जाने वाला है
हो सके तो इस में जिंदगी बिता दो
पल जो ये जाने वाला है

एक बार यूं मिली, मासूम सी कली
खिलते हुए कहाँ खुशपाश मैं चली
देखा तो यहीं है ढूँढा तो नहीं है
पल जो ये…

एक बार वक्त से, लम्हां गिरा कहीं
वहाँ दास्ताँ मिली लम्हां कहीं नहीं
थोड़ा सा हंसा के, थोड़ा सा रुला के
पल ये भी जाने वाला है
आने वाला पल…

चलते चलते मेरे ये गीत – Chalte Chalte Mere Ye Geet (Kishore Kumar, Chalte Chalte)

Movie Name /Album Name- चलते चलते (1976)
Music Producer/Music By- बप्पी लाहिरी
Lyrics Writer/Lyrics by- अमित खन्ना
Singers/Performed By- किशोर कुमार

चलते चलते मेरे ये गीत याद रखना
कभी अलविदा ना कहना
रोते हँसते बस यूँ ही तुम गुनगुनाते रहना
कभी अलविदा ना कहना

प्यार करते करते हम तुम कहीं खो जायेंगे
इन ही बहारों के आँचल में थक के सो जायेंगे
सपनों को फिर भी तुम यूँ ही सजाते रहना
कभी अलविदा ना…

बीच राह में दिलबर बिछड़ जायें कहीं हम अगर
और सूनी सी लगे तुम्हें जीवन की ये डगर
हम लौट आयेंगे तुम यूँ ही बुलाते रहना
कभी अलविदा ना…

सामने ये कौन आया – Saamne Ye Kaun Aaya (Kishore Kumar, Jawani Diwani)

Movie Name /Album Name- जवानी दीवानी (1972)
Music Producer/Music By- आर.डी.बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- आनंद बक्षी
Singers/Performed By- किशोर कुमार

सामने ये कौन आया दिल में हुई हलचल
देख के बस एक ही झलक हो गए हम पागल
अरे बातें मुलाकातें हमसे भी तो होंगी
अरे हमसे खुलेंगे वो आज नहीं तो कल

रहना है यहाँ तो दोनों है जवान तो
भला दूर कैसे रहेंगे
माना वो हसीं हैं
तो हम भी कम नहीं हैं
तो मगरूर कैसे रहेंगे
ला ला ला…

आँखों ही आँखों में
बातों ही बातों में
कभी जान पहचान होगी
सुनलो ये कहानी
हसीना एक अनजानी
किसी दिन मेहरबान होगी
ज़ू ज़ू ज़ू …

पल पल दिल के पास – Pal Pal Dil Ke Paas (Kishore Kumar, Blackmail)

Movie Name /Album Name- ब्लैकमेल (1973)
Music Producer/Music By- कल्याणजी-आनंदजी
Lyrics Writer/Lyrics by- राजेन्द्र कृष्ण
Singers/Performed By- किशोर कुमार

पल पल दिल के पास तुम रहती हो
जीवन मीठी प्यास ये कहती हो
पल पल दिल के पास…

हर शाम आँखों पर तेरा आँचल लहराए
हर रात यादों की बारात ले आए
मैं साँस लेता हूँ, तेरी खुशबू आती है
इक महका-महका सा पैगाम लाती है
मेरे दिल की धड़कन भी तेरे गीत गाती है
पल पल दिल के…

कल तुझको देखा था, मैंने अपने आँगन में
जैसे कह रही थी तुम, मुझे बाँध लो बंधन में
ये कैसा रिश्ता है, ये कैसे सपने हैं
बेगाने हो कर भी, क्यों लगते अपने हैं
मैं सोच में रहता हूँ, डर-डर के कहता हूँ
पल पल दिल के…

तुम सोचोगी क्यों इतना, मैं तुमसे प्यार करूँ
तुम समझोगी दीवाना मैं भी इकरार करूँ
दीवानों की ये बातें, दीवाने जानते हैं
जलने में क्या मज़ा है, परवाने जानते हैं
तुम यूँ ही जलाते रहना, आ-आ कर ख़्वाबों में
पल पल दिल के…

माई री मैं कासे कहूँ – Maaee Ri Main Kaase Kahoon (Lata Mangeshkar, Madan Mohan)

Movie Name /Album Name- दस्तक (1970)
Music Producer/Music By- मदन मोहन
Lyrics Writer/Lyrics by- मजरूह सुल्तानपुरी
Singers/Performed By- लता मंगेशकर, मदन मोहन

माई री मैं कासे कहूँ पीर अपने जिया की
माई री…

पी की डगर मैं बैठे मैला हुआ री मेरा आंचरा
मुखड़ा है फीका-फीका नैनों में सोहे नहीं काजरा
कोई जो देखे वैया प्रीत का वासे कहूँ माजरा
पी की डगर मैं बैठे मैला हुआ री मेरा आंचरा
लट में पड़ी कैसी बिरहा की माटी
माई री मैं कासे…

आँखों में चलते फिरते रोज़ मिले पिया बावरे
बैयाँ की छैयां आके मिलते नहीं कभी सांवरे
दुःख ये मिलन का लेके काह करूँ कहाँ जाऊं रे
आँखों में चलते फिरते रोज़ मिले पिया बावरे
पाकर भी नहीं उनको मैं पाती
माई री मैं कासे…

ओस नयन की उनके मेरी लगी को बुझाए ना
तन मन भीगो दे आके ऐसी घटा कोई छाये ना
मोहे बहा ले जाए ऎसी लहर कोई आये ना
ओस नयन की उनके मेरी लगी को बुझाए ना
पड़ी नदिया के किनारे मैं प्यासी
माई री मैं कासे…

This Post Has One Comment

Leave a Reply