old bollywood songs lyrics captions 2

old bollywood songs lyrics captions

ये मुलाकात एक बहाना है – Yeh Mulaqat Ek Bahana Hai (Lata Mangeshkar, Khandaan)

Movie Name /Album Name- खानदान (1979)
Music Producer/Music By- खैय्याम
Lyrics Writer/Lyrics by- नक्श ल्यालपुरी
Singers/Performed By- लता मंगेशकर

ये मुलाकात एक बहाना है
प्यार का सिलसिला पुराना है
ये मुलाकात एक…

धड़कनें धड़कनों में खो जाएँ
दिल को दिल के करीब लाना है
प्यार का सिलसिला पुराना है
ये मुलाकात एक…

मैं हूँ अपने सनम की बाहों में
मेरे कदमों तले ज़माना है
प्यार का सिलसिला पुराना है
ये मुलाकात एक…

ख़्वाब तो काँच से भी नाज़ुक हैं
टूटने से इन्हें बचाना है
प्यार का सिलसिला पुराना है
ये मुलाकात एक…

मन मेरा प्यार का शिवाला है
आपको देवता बनाना है
प्यार का सिलसिला पुराना है
ये मुलाकात एक…

हाय रे हाय तेरा घुँघटा – Haye Re Haye Tera Ghunghta (Kishore Kumar, Asha Bhosle, Dhongee)

Movie Name /Album Name- ढोंगी (1979)
Music Producer/Music By- आर.डी.बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- आनंद बक्षी
Singers/Performed By- किशोर कुमार, आशा भोंसले

हाय रे हाय तेरा घुँघटा
नींद चुराए तेरा घुँघटा
हे चाँद घटा से निकले
कोई उठाये तेरा घुँघटा
हाय रे हाय तेरा घुँघटा

हाय रे हाय मेरा घुँघटा
दिल धड़काये मेरा घुँघटा
ओ लाज से मैं मर जाऊँ रे
जो तू उठाये मेरा घुँघटा
हाय रे हायरे मेरा घुँघटा

बस एक ये घूँघट है क्या
ऐसे हों परदे हज़ार
होना हो तो हो जाता है
होता है ऐसा ये प्यार
हो रहने भी दो, जाने भी दो
इसकी ज़रूरत नहीं
देते हैं दिल जो प्यार में
तकते वो सूरज नहीं
काहे हटाए मेरा घुँघटा…

जब भी ज़रा आँचल मेरा
सर से सरकने लगा
तेरी कसम सीने में दम
मेरा अटकने लगा
फिर किस तरह हम-तुम मिलें
कैसे मुलाकात हो
मदहोश मैं, खामोश तू
कैसे कोई बात हो
बीच में आए तेरा घुँघटा
चाँद घटा से निकले…

मैं कौन हूँ, तू कौन है
सब याद है न मुझे
जब ये नशा छा जायेगा
फिर कुछ न कहना मुझे
हे जब प्यार का जादू पिया
मुझपे भी चल जाएगा
हो जाऊँगी बेचैन मैं
मुँह से निकल जायेगा
मोहे न भाये मोरा घुँघटा
हो लाज से मैं मर जाऊँ रे…

थोड़ा रुक जाएगी – Thoda Ruk Jayegi (Md.Rafi, Patanga)

Movie Name /Album Name- पतंगा (1971)
Music Producer/Music By- शंकर-जयकिशन
Lyrics Writer/Lyrics by- इंदीवर
Singers/Performed By- मोहम्मद रफ़ी

थोड़ा रुक जाएगी तो तेरा क्या जाएगा
नैन भर के देख लेंगे चैन आ जाएगा
ओ कामिनी, ओ कामिनी
थोड़ा रुक जाएगी…

ढीला-ढीला कुर्ता है, पजामा तंग-तंग है
अपनी अदा है तेरी, अपना ही रंग है
थोड़ा रुक जाएगी…

दीजिये तो एक मौका अपने पास आने का
नाम नहीं लेंगे आप और कहीं जाने का
थोड़ा रुक जाएगी…

गेसुओं में रात खोयी, दिल भी मेरा खो गया
कोई तेरा हो न हो, दिल मेरा तेरा हो गया
थोड़ा रुक जाएगी…

हो जाता है प्यार – Ho Jata Hai Pyar (Kishore Kumar, Lata Mangeshkar, Kasauti)

Movie Name /Album Name- कसौटी (1974)
Music Producer/Music By- कल्याणजी-आनंदजी
Lyrics Writer/Lyrics by- इंदीवर
Singers/Performed By- लता मंगेशकर, किशोर कुमार

हो जाता है प्यार प्यार किया नहीं जाए
न बस में तुम्हारे, न बस में हमारे
खो जाता है दिल दिल दिया नहीं जाए
हो जाता है प्यार…
पहले सोच लेना, फिर दिल किसी को देना
दे दिया जो दिल, दिल फिर लिया नहीं जाए

किया जाए सोच के वो प्यार नहीं होता
यारी करे सोच के वो यार नहीं होता
सोचने के वास्ते दिमाग भी तो चाहिए
रौशनी के वास्ते चिराग भी तो चाहिए
दिलों के ये फैसले हैं, दिल पे छोड़ दीजिये
फिर तो चली मैं सलाम मेरा लीजिये
राम राम कीजिये, आराम आप कीजिये
अरे अरे अरे अरे कित्थे चली?
जुदाई है ज़हर, ज़हर पिया नहीं जाए
हो जाता है प्यार…

बिना सोचे समझे जो उल्फत करोगे
मिलेंगे न दो दिल तड़पते रहोगे
सोचेंगे कहाँ तक जवानी चली जाएगी
जवानी गयी तो ज़िंदगानी चली जाएगी
जिसे प्यार कहते हैं जन्मों का साथ है
लूटा दूँ सौ(दो)-सौ जानें, इक जान की क्या बात है
फिर कुड़ी भी तेरे साथ है!
तो फिर शुरू हो जा सोणियो!
हो जाता है प्यार..

 

तेरी झील सी गहरी आँखों – Teri Jheel Si Gehri Aankhon (Nitin Mukesh, Vani Jairam, Dhuen Ki Lakeer)

Movie Name /Album Name- धुंए की लकीर (1974)
Music Producer/Music By- श्यामजी घनश्यामजी
Lyrics Writer/Lyrics by- रामेश्वर त्यागी
Singers/Performed By- नितिन मुकेश, वाणी जयराम

तेरी झील सी गहरी आँखों में
कुछ देखा हमने
क्या देखा?
तुम बताओ
मैं समझ गई रे, दीवाने
तूने रात कोई सपना देखा
तेरी झील सी गहरी…

साँसों में छिपी धड़कन के संग
जब प्यार ने ली थी अंगडाई
एक स्वर्ग-परी छम-छम करती
बाँहों में मेरी, आ, मुस्काई
मदमस्त जवानी का पलकों के
आँचल में छिपना देखा
मैं समझ गई रे…

अमृत के सागर की श्रुति
मंदिर के दीपक की ज्योति
अल्हड़ कमलों पर पड़े हुए
हीरे, नीलम, माणिक, मोती
तेरी उठती-झुकती पलकों में
सूरज देखा, चंदा देखा
मैं समझ गई रे…

 

हाँ जब तक है जाँ – Haan Jab Tak Hai Jaan (Lata Mangeshkar, Sholay)

Movie Name /Album Name- शोले (1975)
Music Producer/Music By- राहुल देव बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- आनंद बक्षी
Singers/Performed By- लता मंगेशकर

हाँ, जब तक है जाँ
जाने जहां मैं नाचूँगी
हाँ, जब तक है जाँ…

प्यार कभी भी मरता नहीं
मौत से भी ये डरता नहीं
लुट जाएँगे, मिट जाएँगे, मर जाएँगे हम
ज़िन्दा रहेगी हमारी दास्ताँ
हाँ, जब तक है जाँ…

टूट जाए पायल तो क्या
पाँव हो जाए घायल तो क्या
दिल दिया है, दिल लिया है प्यार किया है तो
देना पड़ेगा मोहब्बत का इम्तिहाँ
हाँ, जब तक है जाँ…

ये नज़र झुक सकती नहीं
ये ज़ुबाँ रुक सकती नहीं
मैं कहूँगी, गम सहूँगी, चुप रहूँगी क्या
बेबस हूँ लेकिन नहीं मैं बेज़ुबाँ
हाँ, जब तक है जाँ…

कोई हसीना जब – Koi Haseena Jab (Kishore Kumar, Sholay)

Movie Name /Album Name- शोले (1975)
Music Producer/Music By- राहुल देव बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- आनंद बक्षी
Singers/Performed By- किशोर कुमार

कोई हसीना जब रूठ जाती है
तो और भी हसीन हो जाती है
टेसन से गाड़ी जब छूट जाती है
तो एक, दो, तीन हो जाती है

हाथों में चाबुक, होंठों पे गालियाँ
बड़ी नखरे वालियाँ, होती हैं तांगे वालियाँ
कोई तांगे वाली जब रूठ जाती है तो, है तो, है तो
और नमकीन हो जाती है
कोई हसीना जब रूठ…

ज़ुल्फ़ों में छैय्याँ, मुखड़े पे धूप है
बड़ा मज़ेदार गोरिये, ये तेरा रंग-रूप है
डोर से पतंग जब टूट जाती है तो, है तो, है तो
रुत रंगीन हो जाती है
कोई हसीना जब रूठ…

 

महबूबा महबूबा – Mehbooba Mehbooba (R.D.Burman, Sholay)

Movie Name /Album Name- शोले (1975)
Music Producer/Music By- राहुल देव बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- आनंद बक्षी
Singers/Performed By- राहुल देव बर्मन

ऊ, हो
महबूबा महबूबा
गुलशन में गुल खिलते हैं
जब सेहरा में मिलते हैं
मैं और तू
महबूबा महबूबा…

फूल बहारों से निकला
चाँद सितारों से निकला
दिन डूबा,ऊ
महबूबा महबूबा…

हुस्न-ओ-इश्क़ के राहों में
बाहों में निगाहों में
दिल डूबा
महबूबा महबूबा…

दीवारों का जंगल – Deewaron Ka Jungle (Manna Dey, Deewaar)

Movie Name /Album Name- दीवार (1975)
Music Producer/Music By- राहुल देव बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- साहिर लुधियानवी
Singers/Performed By- मन्ना डे

दीवारों का जंगल जिसका
आबादी है नाम
बाहर से चुप-चुप लगता है
अंदर है कोहराम

दीवारों के इस जंगल में
भटक रहे इंसान
अपने-अपने उलझें
दामन झटक रहे इंसान
अपनी विपदा छोड़ के
आए कौन किसी के काम
बाहर से चुप-चुप…

सीने खाली आँखें सूनी
चेहरों पर हैरानी
जितने घने हंगामे इसमें
उतनी घनी वीरानी
रातें कातिल, सुबहें मुजरिम
मुल्ज़िम है हर शाम
बाहर से चुप-चुप…

इधर का माल उधर – Idhar Ka Maal Udhar (Bhupinder Singh, Deewaar)

Movie Name /Album Name- दीवार (1975)
Music Producer/Music By- राहुल देव बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- साहिर लुधियानवी
Singers/Performed By- भूपिंदर सिंह

इधर का माल, उधर का माल
इधर का माल उधर जाता है
उधर का माल, इधर आता है
अरे हम सब जाने, हम सब जाने
अरे हम सब जाने
किधर-किधर कितना गफला हो जाता है
इधर का माल उधर…

ऐ कितना धंधा कानूनी है
कितना धंधा चोरी का
सागर-सागर फैला रहा है
जाल सुनहरी डोरी का
अरे माल पकड़ कर कोई-कोई
कितना माल बनता है
हम सब जाने…

ऐ चोरों से कुतवाल मिले तो
फिर चोरी कब रूकती है
मजदूरों से आँख मिला ते
आँख सभी की झुकती है
कस्टम से नेताओं के घर तक
किसका किससे नाता है
हम सब जाने…

कोई मर जाये – Koi Mar Jaye (Asha Bhosle, Deewaar)

Movie Name /Album Name- दीवार (1975)
Music Producer/Music By- राहुल देव बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- साहिर लुधियानवी
Singers/Performed By- आशा भोंसले

कोई मर जाए किसी पे
ये कहाँ देखा है
छोड़िए-छोड़िए हमने भी जहां देखा है
कोई मर जाए…

अर्ज़ है
के आप मरते हैं हम पर, बड़ी बात है
ये मुहब्बत मगर रात की बात है
रात ढल जाएगी, बात टल जाएगी
ये तबियत अजी, कल संभल जाएगी
इश्क़ करते हैं सभी, जान छिड़कते हैं सभी
ये मगर चंद ही घड़ियों का समां देखा है
हाँ छोड़िए-छोड़िए…

एक नयी शक्ल का तुमको अरमान है
आज इसपे है कल उसपे ईमान है
जब नई शक्ल देखी, मचल ही जाओगे
मौसमों की तरह बदल ही जाओगे
हमने पहले भी कई चाहने वाले देखे
हमने पहले भी ये सब खेल मियाँ देखा है
हाँ छोड़िए-छोड़िए…

बात निकलेगी तो – Baat Niklegi To (Jagjit Singh, Ghazal)

Movie Name /Album Name- दि अनफ़ॉर्गेटेबल्स (1977)
Music Producer/Music By- जगजीत सिंह
Lyrics Writer/Lyrics by- कफ़ील आज़र
Singers/Performed By- जगजीत सिंह

बात निकलेगी तो फिर दूर तलक जाएगी
लोग बेवजह उदासी का सबब पूछेंगे
ये भी पूछेंगे के तुम इतनी परेशां क्यूँ हो

उंगलियाँ उठेंगी सूखे हुए बालों की तरफ़
इक नज़र देखेंगे गुज़रे हुए सालों की तरफ़
चूड़ियों पर भी कई तंज़ किये जाएँगे
काँपते हाथों पे भी फ़िक्रें कसे जाएँगे

लोग ज़ालिम हैं हर इक बात का ताना देंगे
बातों-बातों में मेरा ज़िक्र भी ले आएँगे
बातों-बातों में मेरा ज़िक्र भी ले आएँगे
उनकी बातों का ज़रा सा भी असर मत लेना
वरना चेहरे के तासुर से समझ जाएँगे

चाहे कुछ भी हो सवालात ना करना उनसे
चाहे कुछ भी हो सवालात ना करना उनसे
मेरे बारे में कोई बात ना करना उनसे
बात निकलेगी तो फिर दूर तलक जाएगी

फ़लक़ से तोड़ के – Falak Se Tod Ke (Md.Rafi, Aan Milo Sajna)

Movie Name /Album Name- आन मिलो सजना (1971)
Music Producer/Music By- लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics Writer/Lyrics by- आनंद बक्षी
Singers/Performed By- मोहम्मद रफ़ी

फलक से तोड़कर देखो सितारें लोग लाए हैं
मगर मैं वो नहीं लाया जो सारे लोग लाए हैं
कोई नज़राना लेकर आया हूँ, मैं दीवाना तेरे लिए
आज छलका है खुशियों से दिल का पैमाना तेरे लिए
कोई नज़राना लेकर…

सभी के दिलों को ये धड़का रहा है
समा साज़-ए-दिल पे ग़ज़ल गा रहा है
सारी बातें रुक गई हैं, सबकी आँखें झुक गई हैं
तेरी महफ़िल में आया शायर कोई मस्ताना तेरे लिए
कोई नज़राना लेकर…

कहेंगी निगाहें, सुनेंगी निगाहें
जुबां से ना होगी बयाँ ये कहानी
हो मुबारक ये हसीं दिन, कोई समझा ना तेरे बिन
मेरे चेहरे पे दिल ने लिखा है, इक अफसाना तेरे लिए
कोई नज़राना लेकर…

तुझे दुश्मनों की नज़र लग न जाए
रहे दूर तुझसे सदा ग़म के साए
गनगुनाए तू हमेशा, मुस्कुराए तू हमेशा
गुलशन बन जाए उम्मीदों का, हर इक वीराना तेरे लिए
कोई नज़राना लेकर…

 

Leave a Reply