इश्क़

इश्क़=Ishq

===

उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दो

न जाने किस गली में ज़िंदगी की शाम हो जाए

बशीर बद्र

===

तेरे रुखसार पर ढले हैं मेरी शाम के किस्से,
खामोशी से माँगी हुई मोहब्बत की दुआ हो तुम..!!

====

पहली मोहब्बत मेरी हम जान न सके,
प्यार क्या होता है हम पहचान न सके,
हमने उन्हें दिल में बसा लिया इस कदर कि,
जब चाहा उन्हें दिल से निकाल न सके..!!

 

=====

कौन कहता है की अलग अलग रहते है हम और तुम,
हमारी यादो के सफर मे हमसफर हो तुम,
ज़िन्दगी से बेखबर है हम,
हमारे दिल मे बसी इस कदर हो तुम..!!

=====

अपनी मौत भी क्या मौत होगी,
यू ही मर जायेंगे एक दिन तुम पर मरते=मरते..!!

===

न जाने किस तरह का इश्क कर रहे हैं हम,
जिसके हो नहीं सकते उसी के हो रहे हैं हम..!!

====

 

सोचने बैठे थे सुबह, देखते ही देखते शाम हो गयी,
इश्क़ की राहें तो ऐ दोस्त यूँ ही बदनाम हो गयीं.

=====

इश्क़ में पहले तो बीमार बना देते हैं
फिर पलटते ही नहीं रोग लगाने वाले

===

और भी दुख हैं ज़माने में मोहब्बत के सिवा

राहतें और भी हैं वस्ल की राहत के सिवा

फ़ैज़ अहमद फ़ैज़

====

मैं भी हुआ करता था वकील इश्क वालों का कभी ! नजरें उस से क्या मिल आज खुद कटघरे में हूँ !

=====

साहिल=ए=मर्ग पे रफ़्ता रफ़्ता ले आया
तन्हाई का रोग भी अच्छा दुश्मन है

=====
रंजिश ही सही दिल ही दुखाने के लिए आ

आ फिर से मुझे छोड़ के जाने के लिए आ

अहमद फ़राज़

 

=====

 

दिल लगा लिया तो गुनाह समझने लगे,
टूट गए जो प्यार को खुदा की पनाह समझने लगे,
मोहब्बत न हुयी, मौत का फरमान हो गयीं,
इश्क़ की राहें तो ऐ दोस्त यूँ ही बदनाम हो गयीं.

===

इश्क के धागे से
बांधा ही नहीं मैंने तुझे कभी…
रूह के हर रेशे से जुड़ा है
तेरा=मेरा रिश्ता…
Ishq Ke Dhage Se
Bandha He Nahin Maine Tujhey Kabhi.
Rooh Ke Har Reshe Se Juda Hai
Tera Mera Rishta.

====
इश्क़ आसाँ है मगर रोग है दीवानों का
बार=ए=ग़म यूँही बहुत है उसे दो=चंद न कर

====

उस की याद आई है साँसो ज़रा आहिस्ता चलो

धड़कनों से भी इबादत में ख़लल पड़ता है

राहत इंदौरी

====

عشق کیا زندگی دے گا کسی کو
یہ تو شروع ہی کسی پر مرنے سے ہوتا ہے

Ishq Kya Zindagi Dega Kisi Ko.
Ye To Suroo He Kisi Pe Marne Se Hota Hai.

 

====

काश एक ख्वाहिश पूरी हो इबादत के बगैर,
वो आके गले लगा ले मेरी इजाजत के बगैर..!!

====

वक़्त खराब है तो झुकता जा रहा हूँ,
जब दिमाग खराब होगा तो हिसाब पल पल का लूँगा..!!

====

अब तो वो होगा जो दिल फरमाएगा,
बाद मे जो होगा देखा जायेगा..!!

====

आज फिर से हवाओं ने रुख बदला है,
आज फिर से फ़िज़ाओं में रंग ढला है,
मेरे दिल को हमेशा हो रहा है एहसास,
शायद किसी से इकरार होने वाला है..!!

====

मेरी ‪‎मोहब्बत‬ तुझसे, सिर्फ़ लफ्जों की नहीं है,
तेरी रूह से रूह तक का रिश्ता है मेरा..!!

====

न तू बंदों से है राज़ी न बंदे तुझ से राज़ी हैं
ख़ुदाई रोग है परवरदिगारा हम न कहते थे

====

इश्क़ ने ‘ग़ालिब’ निकम्मा कर दिया

वर्ना हम भी आदमी थे काम के

मिर्ज़ा ग़ालिब

====

खूब सूरत सा लफ्ज था प्यार, बेशर्मी बना दिया,
सात फेरों के सिलसिले को भी फर्जी बता दिया,
रीति=रिवाज और परंपराएं खुल=ए=आम नीलाम हो गयीं,
इश्क़ की राहें तो ऐ दोस्त यूँ ही बदनाम हो गयीं.

====

दिल में हो फ़क़त तुम ही तुम आँखों पे न जाओ
आँखों को तो है रोग परेशाँ=नज़री का

====

मोहब्बत में नहीं है फ़र्क़ जीने और मरने का

उसी को देख कर जीते हैं जिस काफ़िर पे दम निकले

मिर्ज़ा ग़ालिब
====

ये जो इश्क़ होता है न…
जान ले लेता है…
मगर फिर भी मौत नहीं आती।
====

दिवाना हर शख़्स को बना देता है इश्क
सैर जन्नत की करा देता है इश्क,
मरीज हो अगर दिल के तो कर लो इश्क,
क्योंकि धड़कना दिलों को सिखा देता है इश्क।

Diwana Har Shakhs Ko Bana Deta Hai Ishq
Sair Jannat Kee Kara Deta Hai Ishq.
Mareej Ho Agar Dil Ke To Kar Lo Ishq.
Kyonki Dhadakana Dilon Ko Sikha Deta Hai Ishq

====
घटे तो चैन नहीं है बढ़े तो चैन नहीं
हमें लगा है ये क्या रोग कोई पहचाने

 

====

और क्या देखने को बाक़ी है

आप से दिल लगा के देख लिया

फ़ैज़ अहमद फ़ैज़

 

====

इश्क़ में इसलिए धोखा खाने लगे हैं लोग
दिल की जगह जिस्म को चाहने लगे हैं लोग
That’s Why People Are Getting Cheated In Ishq.
People Have Started Liking The Body Instead Of The Heart.

 

====

मैं वक़्त बन जाऊं तू बन जाना कोई लम्हा,
मैं तुझमें गुजर जाऊं तू मुझमें गुजर जाना..!!

 

====

जब मैं प्यार करता हूँ तो बेहिसाब करता हूँ,
हिसाब से तो मैंने कभी नफ़रत भी नहीं की..!!

 

====

कभी हम से भी पूछ लो हाल ए दिल,
कभी हम भी कह सकें दुआ है आपकी..!!

====
चाहत का दामन कभी ना छूटे,
आप हमसे हम आपसे कभी ना रूठे,
इस कदर निभाये अपने प्यार को हम,
धड़कने खामोश हो जायें पर,
ये रिश्ता कभी ना टूटे..!!

====

ख्वाब तो वो है जिसका हकीकत मे भी दीदार हो,
कोई मिले तो इस कदर मिले,
जिसे मुझ से ही नही मेरी रूह से भी प्यार हो..!!

====

हुज़ूर छोड़िए हमें हज़ार और रोग हैं
हुज़ूर जाइए कि हम बहुत ग़रीब लोग हैं

====

होश वालों को ख़बर क्या बे=ख़ुदी क्या चीज़ है

इश्क़ कीजे फिर समझिए ज़िंदगी क्या चीज़ है

निदा फ़ाज़ली

====

क्या कहूँ तुम से मैं कि क्या है इश्क़
जान का रोग है बला है इश्क़

====
इज़हार कर दिया, वो इश्क़ क्या…
इकरार कर लिया, वो इश्क़ क्या…
फ़ितूर न चढ़ा, वो इश्क़ क्या…
कुर्नबान न हुआ, वो इश्क़ क्या…
नक़्श=ओ=निगारे=तबस्सुम न हुआ…
हाँ वो इश्क़ क्या…
रूहानियत से न भरा, वो इश्क़ क्या…
इनायत न हुआ, हाँ वो इश्क़ क्या…
जान=ए=अदा जो न हुआ, वो इश्क़ क्या…
जीत अपने मुक़द्दर में न लिखा…
फिर वो इश्क़ क्या… तेरा वो इश्क़ क्या…

====

Ishq bahut zaroori

इश्क़ लिखने को इश्क़ होना बहुत जरूरी है
जहर का स्वाद बिना पिए कोई कैसे बताएगा :))

====

न जी भर के देखा न कुछ बात की

बड़ी आरज़ू थी मुलाक़ात की

बशीर बद्र

====
इश्क़ का रोग लगा है कई बरसों से मुझे
किस लिए मुझ को ये फिर दुनिया दवा देती है

 

====

सुना है इश्क़ से तेरी बहुत बनती है,
एक एहसान कर उस से क़सूर पूछ मेरा।

 

====

सामने बैठे रहो दिल को करार आएगा,
जितना देखेंगे तुम्हें उतना ही प्यार आएगा..!!

====

प्यार है इसलिये तेरी इतनी फ़िक्र करता हूँ,
जिस दिन तू दिल से उतर गई, तेरा जिक्र भी नहीं करूँगा..!!

====

हर बात का जवाब मैं दूंगी जरूर,
बस यही वक़्त तो आने दीजिए..!!

====

अब मेरा मेरे दिल पे चलता ना ज़ोर है,
जब से बस गया इसमें कोई और है..!!

====

सिर्फ इशारों में होती महोब्बत अगर,
इन अलफाजों को खुबसूरती कौन देता,
बस पत्थर बन के रह जाता ताज महल,
अगर इश्क इसे अपनी पहचान ना देता..!!

====

हम एस कदर तुम पर मर मिटेंगे
तुम जहाँ देखोगे तुम्हे हम ही दिखेंगे

====

इश्क़ का रोग कि दोनों से छुपाया न गया
हम थे सौदाई तो कुछ वो भी दिवाने निकले

====

अज़ीज़ इतना ही रक्खो कि जी सँभल जाए

अब इस क़दर भी न चाहो कि दम निकल जाए

उबैदुल्लाह अलीम

====

रोग ही रोग हैं जिस ओर नज़र जाती है
फिर भटकता हूँ फ़क़त मौत मुझे भाती है

 

====

शायरी उसी के लबों पर सजती है साहेब,
जिसकी आँखों में इश्क रोता हो।

====
divaana har shakhs ko bana deta hai ishq,
sair jannat kee kara deta hai ishk,
mareej ho agar dil ke to kar lo ishq,
kyonki dhadakana dilon ko sikha deta hai ishq.

====

कुछ तो मजबूरियाँ रही होंगी

यूँ कोई बेवफ़ा नहीं होता

बशीर बद्र

====

शायरी उसी के लबों पर सजती है साहिब
जिसकी आँखों में इश्क़ रोता हो

====

दिवाना हर शख़्स को बना देता है इश्क़,
सैर जन्नत की करा देता है इश्क,
मरीज हो अगर दिल के तो कर लो इस्क,
क्योंकि धड़कना दिलों को सिखा देता है इश्क।

====
हिज्र बना आज़ार सफ़र कैसे कटता
इश्क़ के रोग हज़ार सफ़र कैसे कटता

 

====

रोज वो ख़्वाब में आते हैं गले मिलने को,
मैं जो सोता हूँ तो जाग उठती है किस्मत मेरी..!!

====

हक़ से दो तो नफरत भी कुबूल है,
खैरात में तो हम मुहब्बत भी नहीं लेते..!!
Love Attitude Status

====

सारी उम्र में एक पल भी आराम का न था,
वो जो दिल मिला किसी काम का न था,
कलियाँ खिल रही थी हर गुल था ताज़ा,
मगर कोई भी फूल मेरे नाम का न था..!!

====

तुमसे कितनी मोहब्बत है मालूम नहीं,
मगर मुझे लोग आज भी तेरी कसम देकर मना लेते है..!!

====

रब से आपकी खुशीयां मांगते है,
दुआओं में आपकी हंसी मांगते है,
सोचते है आपसे क्या मांगे,
चलो आपसे उम्र भर की मोहब्बत मांगते है..!!

====
चुपके चुपके रात दिन आँसू बहाना याद है

हम को अब तक आशिक़ी का वो ज़माना याद है

हसरत मोहानी

====

Ishq Mohabbat Aashiqui Mujhe Nahin Pata

Bas Itna Janta Hoon Tu Mera Hai Aur Main Teri

====

बहती हुई आँखों की रवानी में मरे हैं,
कुछ ख्वाब मेरे ऐन जवानी में मरे हैं,
इस इश्क ने आखिर हमें बरबाद किया है,
हम लोग इसी खौलते पानी में मरे हैं,
कब्रों में नहीं हमको किताबों में उतारो,
हम लोग मोहब्बत की कहानी में मरे हैं।

====

ishq sabhee ko jeena sikha deta hai,
vafa ke naam par marana seekha deta hai,
ishq nahin kiya to karake dekho,
jaalim har dard sahana seekha deta hai.
इश्क़ सभी को जीना सिखा देता है,
वफ़ा के नाम पर मरना सीखा देता है,
इश्क़ नहीं किया तो करके देखो,
जालिम हर दर्द सहना सीखा देता है।

====
इश्क़ नाज़ुक=मिज़ाज है बेहद

अक़्ल का बोझ उठा नहीं सकता

अकबर इलाहाबादी

====

ताक़=ए=जाँ में तेरे हिज्र के रोग संभाल दिए
उस के बाद जो ग़म आए फिर हँस के टाल दिए

====

ना समेट सकोगे क़यामत तक जिसे तुम,
कसम तुम्हारी तुम्हें इतनी मोहब्बत करते हैं..!!

====

कोई है जो दुआ करता है अपनों मे मुझे भी गिना करता है,
बहुत खुशनसीब समझते है हम खुद को,
दूर रह कर भी जब हमें कोई प्यार किया करता है..!!

====

जिंदगी शुरू होती है रिश्तों से,
रिश्ते शुरू होते है प्यार से,
प्यार शुरू होता है अपनों से,
और अपने शुरू होते है आप से..!!

 

 

====

छेड़ आती हैं कभी लब तो कभी रूखसारों को तुमने,
ज़ुल्फ़ों को बहुत सर पर चढा रखा है..!!

 

====

तुम्हारी प्यारी सी नज़र अगर इधर नहीं होती,
नशे में चूर फ़िज़ा इस कदर नहीं होती,
तुम्हारे आने तलक हम को होश रहता है,
फिर उसके बाद हमें कुछ ख़बर नहीं होती..!!
====

 

बड़ी अजीब सी मोहब्बत थी तुम्हारी…

पहले पागल किया…

फिर पागल कहा…

फिर पागल समझ कर छोड़ दिया.

====

दोनों जहान तेरी मोहब्बत में हार के

वो जा रहा है कोई शब=ए=ग़म गुज़ार के

फ़ैज़ अहमद फ़ैज़

====

ishq ke daaman se lipata gam hee hota hai,
tanhaee kee aanch se preet kam nahin hota hai,
khuda bhee afasos karata hai aasamaan par,
jab bhee jameen par kabhee aashik rota hai.

====

एक ख़लिश सी रह गयी दिल में,
मुझ जैसा इश्क़ करता, मुझ से भी कोई!

====

घटे तो चैन नहीं है बढ़े तो चैन नहीं
हमें लगा है ये क्या रोग कोई पहचाने

====
किस किस को बताएँगे जुदाई का सबब हम

तू मुझ से ख़फ़ा है तो ज़माने के लिए आ

अहमद फ़राज़

====

साहिब ए अकल हो तो एक मशविरा तो दो….

एहतियात से इश्क करुं या इश्क से एहतियात

====

भटक जाते हैं लोग अक्सर
इश्क़ की गलियों में,
इस सफर का कोई इक
नक्शा तो होना चाहिए।

====

इश्क के दामन से लिपटा गम ही होता है,
तन्हाई की आंच से प्रीत कम नहीं होता है,
खुदा भी अफ़सोस करता है आसमान पर,
जब भी जमीन पर कभी आशिक रोता है।

====
ज़िंदगी किस तरह बसर होगी

दिल नहीं लग रहा मोहब्बत में

जौन एलिया

 

====

आप जब तक रहेंगे आंखों में नजारा बनकर,
रोज आएंगे मेरी दुनिया में उजाला बनकर..!!

====

अगर मुझसे नफरत ही करनी है तो, इरादे मजबूत रखना,
जो तुम जरा सा भी चूके तो, मोहब्बत हो जायेगी हमसे..!!

====

ऐ दिल मत कर इतनी मोहब्बत किसी से,
इश्क में मिला दर्द तू सह नहीं पायेगा,
टूट कर बिखर जायेगा अपनों के हाथो से,
किसने तोड़ा ये भी किसी से कह नहीं पयेगा..!!

====

नहीं हो सकती ये मोहब्बत तेरे सिवा किसी और से,
बस इतनी सी बात है और तुम हो की समझते नहीं..!!

====

एक पल के लिए जब तू पास आती है,
मेरा हर लम्हा ख़ास बन जाता है,
सँवरने सी लगती है ये ज़िन्दगी अपनी,
जब भी तू मेरी बाहों में मुस्कुराती है..!!

====

pyaar to pyaar hai isamen takaraar kya,
ishk to dil kee amaanat hai isase inkaar kya,
Mein to din raat tadapata hoon teree yaad mein,
too bhee hai mere ishk mein bekaraar kya ?
प्यार तो प्यार है इसमें तकरार क्या,
इश्क तो दिल की अमानत है इससे इंकार क्या,
मैं तो दिन रात तड़पता हूँ तेरी याद में,
तू भी है मेरे इश्क में बेकरार क्या ?

====

इश्क का दस्तूर ही ऐसा है

जो इस को जन लेता है ये उसकी जन लेता है

====

इश्क़ का रोग उन के बस का नहीं
दूर से वो सलाम करते हैं

====

हुआ है तुझ से बिछड़ने के बा’द ये मा’लूम

कि तू नहीं था तिरे साथ एक दुनिया थी

अहमद फ़राज़

====

log kahate hain ki ishk itana mat karo,
ki husn sar par savaar ho jaaye,
ham kahate hain ki ishk itana karo,
ki ” patthar dil ” ko bhee tumase pyaar ho jaaye.

====

इश्क ने हमसे कुछ ऐसी साजिशें रची हैं,
मुझमें मैं नहीं हूँ अब बस तू ही तू बसी है।

====

wo ishq dard hi kya jisme sifa mile
kon mange khushiyo ki duaa jis dard me khuda mile

====

आप के बा’द हर घड़ी हम ने

आप के साथ ही गुज़ारी है

गुलज़ार

 

====

तुम मुझे कभी दिल से कभी आँखों से पुकारो,
ये होठों के तकल्लुफ तो ज़माने के लिए होते हैं..!!

====

अब तुम लौट कर आने की तकलीफ मत करना,
हमें एक मोहब्बत को दो बार करने की आदत नहीं..!!

====

मोहलत ही ना दूंगा तुमको बिछड़ जाने की,
ज़िन्दगी भर तुम्हे यु बातो में लगाए रखूंगा..!!

====
कभी किसी से प्यार मत करना,
हो जाये तो इंकार मत करना,
चल सके तो चलना उसकी राहों में,
वरना यूँही किसी की ज़िंदगी खराब मत करना..!!

====

पगली तेरी आँखों में इश्क भी है और मोहब्बत भी है,
तभी तो हम कभी महकते भी हैं और कभी बहकते भी है..!!

====

लोग कहते हैं कि इश्क इतना मत करो,
कि हुस्न सर पर सवार हो जाये,
हम कहते हैं कि इश्क इतना करो,
कि ” पत्थर दिल ” को भी तुमसे प्यार हो जाये।

====

इश्क StatUs

Ishq ShayAri

====
गिला भी तुझ से बहुत है मगर मोहब्बत भी

वो बात अपनी जगह है ये बात अपनी जगह

बासिर सुल्तान काज़मी

====

bikhae kr rah gya=wazood mera
mai to samajhta tha ishq swar dega

 

====

हम भी मौजूद थे तकदीर के दरवाजे पे,
लोग दौलत पर गिरे और हमने तुझे माँग लिया..!!

====

जहाँ कोई कदर न करे, वहाँ जहाँ है फ़िज़ूल,
चाहे हो किसी का घर हो, या हो किसी का दिल..!!

====

जिस्म की जरूरत तुम्हे बहुत है,
झुठी तमन्नाओ का क्या फ़ायदा,
दिल तो तुम्हे मैने दिया ही था,
अभी बदनाम करने का क्या फ़ायदा..!!

====
जली को आग व बुझी को राख कहते हैं,
जब दो प्रेमी घुल मिल जाये,
तो उसे मोहब्बत की शुरुआत कहते हैं..!!

====
दिल ही दिल में दिल की बात हो जाएगी,
आईने में देखो हम से बात हो जाएगी,
शिकवा ना कीजिये हमसे मिलने का,
बस आँखे बंद कीजिये हमसे मुलाकात हो जाएगी..!!

====

रोग ऐसे भी ग़म=ए=यार से लग जाते हैं
दर से उठते हैं तो दीवार से लग जाते हैं
====

chalate to hain vo saath mere,
par adaaj dekhie,
jaise kee ishk karake,
vo ehasaan kar rahen hai.
चलते तो हैं वो साथ मेरे,
पर अदाज देखिए,
जैसे की इश्क करके,
वो एहसान कर रहें है।

====
वो तो ख़ुश=बू है हवाओं में बिखर जाएगा

मसअला फूल का है फूल किधर जाएगा

परवीन शाकिर

====

ishq bhi chand ki tarah hai
jab pura hota hai to phir ghatne lagta hai

====

आज कुछ लिखने की फ़िराक में हूँ,
आज सुबह ही मुझे इश्क़ हुआ है।

====

ishk mein jisane bhee,
bura haal bana rakha hai,
vahee kahata hai,
” ajee ishk mein kya rakha hai…”

====

ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया

जाने क्यूँ आज तिरे नाम पे रोना आया

शकील बदायुनी

====

इश्क़ का रोग तो विर्से में मिला था मुझ को
दिल धड़कता हुआ सीने में मिला था मुझ को

====

इश्क Status

 

====

छू गया जब कभी ख्याल तेरा, दिल मेरा देर तक धड़कता रहा,
कल तेरा ज़िक्र छिड़ गया घर में, और घर देर तक महकता रहा..!!

 

====

उन्हें खुद पर गुरूर है बहुत तो इस में कोई हैरत की बात नहीं,
अब जिसे हम चाहते हैं, वो कोई आम तो हो नहीं सकता..!!

 

====

किताबों से दलीलें दूं या खुद को सामने रख दूं,
वो मुझ से पूछ बैठी हैं मुहब्बत किसको कहते हैं..!!

====

नाम ऐ मोहब्बत से खुशबु ऐ वफ़ा आती है,
मेरे दिल से तेरी धड़कन की सदा आती है,
जब भी करते हो याद हमें दिल से,
यूँ लगता है जैसे जन्नत से हवा आती है..!!

====

मेरी यादो मे तुम हो, या मुझ मे ही तुम हो,
मेरे खयालो मे तुम हो, या मेरा खयाल ही तुम हो,
दिल मेरा धडक के पूछे, बार बार एक ही बात,
मेरी जान मे तुम हो, या मेरी जान ही तुम हो..!!

====
इश्क में जिसने भी,
बुरा हाल बना रखा है..
वही कहता है,
” अजी इश्क में क्या रखा है। “

 

 

 

 

====

इन्हीं पत्थरों पे चल कर अगर आ सको तो आओ

मिरे घर के रास्ते में कोई कहकशाँ नहीं है

मुस्तफ़ा ज़ैदी

====

rab na karen ishq kee,
kamee kisee ko satae,
Pyar karo usee se jo tumhen,
dil kee har bat batae.
रब ना करें इश्क की,
कमी किसी को सताए,
प्यार करो उसी से जो तुम्हें,
दिल की हर बत बताए।

====

किया इश्क़ ने मेरा हाल कुछ ऐसा,
ना अपनी है खबर ना दिल का पता है,
कसूरवार था मेरा ये दौर=ए=जवानी,
मैं समझता रहा सनम की खता है।

====

इश्क़ लिखने को इश्क़ होना बहुत जरूरी है
जहर का स्वाद बिना पिए कोई कैसे बताएगा

====

दिल में किसी के राह किए जा रहा हूँ मैं

कितना हसीं गुनाह किए जा रहा हूँ मैं

जिगर मुरादाबादी

====

Pata Nahi,
Ishq Hai Ya Kuch Aur,
Par Teri Parwah Karna,
Acha Lagta Hai Mujhe.

====

इश्क़ पर ज़ोर नहीं है ये वो आतिश ‘ग़ालिब’
कि लगाए न लगे और बुझाए न बने

====

चुपके से आकर इस दिल में उतर जाते हो,
सांसों में मेरी खुशबु बनके बिखर जाते हो,
कुछ यूँ चला है तेरे इश्क का जादू,
सोते=जागते तुम ही तुम नज़र आते हो..!!

====

तेरी दीवानगी में, तेरी गली में आते हैं,
आवारगी ही करनी हो तो पूरा शहर पड़ा है..!!

 

====

तुमने पूछा था न कैसा हूँ मैं,
कभी भूल न पाओगे ऐसा हूं मैं..!!

====

बेनाम सा यह दर्द ठहर क्यों नही जाता,
जो बीत गया है वो गुज़र क्यों नही जाता,
वो एक ही चेहरा तो नही सारे जहाँ मैं,
जो दूर है वो दिल से उतर क्यों नही जाता..!!

====

हमे ये दिल हारने की बिमारी ना होती,
अगर आप के दिल जितने की अदाए इतनी प्यारी ना होती..!!

====

 

बहती हुई आँखों की रवानी में मरे हैं,
कुछ ख्वाब मेरे ऐन जवानी में मरे हैं,
इस इश्क ने आखिर हमें बरबाद किया है,
हम लोग इसी खौलते पानी में मरे हैं,
कब्रों में नहीं हमको किताबों में उतारो,
हम लोग मोहब्बत की कहानी में मरे हैं।

 

====

ये इश्क़ नहीं आसाँ इतना ही समझ लीजे

इक आग का दरिया है और डूब के जाना है

जिगर मुरादाबादी

 

====
ऐ इश्क!!
तेरा वकील बनके बुरा किया मैंने
.
यहां हर शायर तेरे खिलाफ सबूत लिए बैठा है

====

किसी ने पूछा कभी इश्क हुआ था
हम मुस्कुरा के बोले आज भी है!

====

तेरे ख़त में इश्क की गवाही आज भी है,
हर्फ़ धुंधले हो गए पर स्याही आज भी है।।

====

तूने हसीन से हसीन चेहरों को उदास किया है
ऐ इश्क़ …
अगर तू इंसान होता तो तेरा कातिल मैं होता ।

====
तुम मेरे लिए अब कोई इल्ज़ाम न ढूँडो

चाहा था तुम्हें इक यही इल्ज़ाम बहुत है

साहिर लुधियानवी

====

साहिब ए अकल हो तो एक मशविरा तो दो
एहतियात से इश्क करुं या इश्क से एहतियात!
====

अच्छा सुनो तुम अपना जरा ध्यान रखना
अभी मौसम बीमारी का भी हैं और इश्क का भी!

====

इश्क़ तो बस मुक़द्दर है कोई ख्वाब नहीं,
ये वो मंज़िल है जिस में सब कामयाब नहीं,
जिन्हें साथ मिला उन्हें उँगलियों पर गिन लो,
जिन्हें मिली जुदाई उनका कोई हिसाब नहीं।

 

====

तू यकीन करें या ना करें….
तेरे साथ से मैं सवर गई….
तेरे इश्क के जूनून मे……
मैं सारी हदों से गुजर गई.

====

दिल की चोटों ने कभी चैन से रहने न दिया

जब चली सर्द हवा मैं ने तुझे याद किया

जोश मलीहाबादी

 

====

लफ़्ज़ों से तुम मेरी तारीफ कर लो
इश्क हम तेरी आंखो में ढूँढ लेंगे!

====

तेरा मेरा इश्क है ज़माने से कुछ जुदा
एक तुम्हारी कहानी है लफ्जों से भरी
एक मेरा किस्सा है ख़ामोशी से भरा।

====

आग थे इब्तिदा ए इश्क़ में हम
अब जो हैं ख़ाक इंतिहा है ये!

====

अब तक दिल=ए=ख़ुश=फ़हम को तुझ से हैं उमीदें

ये आख़िरी शमएँ भी बुझाने के लिए आ

अहमद फ़राज़

====

तुझसे इश्क क्या हुआ,
खुद से मोहब्बत हो गई।

====

किसी को इश्क़ की अच्छाई ने मार डाला,
किसी को इश्क़ की गहराई ने मार डाला,
करके इश्क़ कोई ना बच सका,
जो बच गया उससे तन्हाई ने मार डाला.

====

अनजान सी राहों पर चलने का तजुर्बा नहीं था,
इश्क़ की राह ने मुझे एक हुनरमंद राही बना दिया।

 

====

तुम्हें ज़रूर कोई चाहतों से देखेगा

मगर वो आँखें हमारी कहाँ से लाएगा

बशीर बद्र

====

बरबाद कर देती है मोहब्बत
हर मोहब्बत करने वाले को
इश्क़ हार नही मानता और
दिल बात नही मानता..!!

====

आज तो बेसबब उदास है दिल इश्क होता तो कोई बात भी थी ।

====

यह मेरा इश्क़ था या फिर दीवानगी की इन्तहा,
कि तेरे ही करीब से गुज़र गए तेरे ही ख्याल से ।

====
Hamen kuchh panktiyan yad aati hai jo ki ham aapke samne rakhte hain.

====

गर बाज़ी इश्क़ की बाज़ी है जो चाहो लगा दो डर कैसा

गर जीत गए तो क्या कहना हारे भी तो बाज़ी मात नहीं

फ़ैज़ अहमद फ़ैज़

====

मुक़म्मल इश्क़ तो इबादत है
बस करते चले जाना है!

====

इश्क़ इक भारी पत्थर है
कब ये तुझ ना तवाँ से उठता है!

 

====

इश्क़ को भी इश्क़ हो तो
फिर देखूं मैं इश्क़ को भी,
कैसे तड़पे, कैसे रोये,
इश्क़ अपने इश्क़ में।

====
Agar Thak Jaao Kabhi Toh,
Humse Kahna,
Hum Utha Lenge Tumko Apni,
Baahon Mein.

====
इश्क़ इक ‘मीर’ भारी पत्थर है

कब ये तुझ ना=तवाँ से उठता है

मीर तक़ी मीर

====

सोच कर पांव डालना
इसमें इश्क दरिया नहीं दलदल है!

====

खतम हो गई कहानी,
बस कुछ अलफाज बाकी हैं,
एक अधूरे इश्क की
एक मुकम्मल सी याद बाकी है।

====

अगर थक जाओ कभी तोह,
हमसे कहना,
हम उठा लेंगे तुमको अपनी,
बाहों में।

====
वो चेहरा किताबी रहा सामने

बड़ी ख़ूबसूरत पढ़ाई हुई

बशीर बद्र

====

आज कोई गज़ल तेरे नाम ना हो जाए
आज कही लिखते लिखते शाम ना हो जाए!

====

नक़ाब क्या छुपाएगा
शबाब=ए=हुस्न को,

निगाह=ए=इश्क तो
पत्थर भी चीर देती है ।

====
झुका ली उन्होंने नज़रे जब
मेरा नाम आया ‪
इश्क़ मेरा नाकाम ही
सही पर कही तो काम आया

====

तुम क्या जानो अपने आप से कितना मैं शर्मिंदा हूँ

छूट गया है साथ तुम्हारा और अभी तक ज़िंदा हूँ

साग़र आज़मी

====
Kuch to baat hogi uski,
Fitrat mein,
Warna hum kisi ko paane ke liye,
khuda se dua baar baar nahi karte.
कुछ तो बात होगी उसकी,
फितरत में,
वरना हम किसी को पाने के लिए,
खुदा से दुआ बार बार नहीं करते।

====

उससे कह दो कि
मेरी सज़ा कुछ कम कर दे,

हम पेशे से मुज़रिम नहीं हैं
बस गलती से इश्क हुआ था ।

====

ishq kee naasamajhee mein ham sab,
kuchh gavaan baithe,
unhen khilaune kee jarurat thee,
aur ham dil thama baithe.

====

देखने के लिए सारा आलम भी कम

चाहने के लिए एक चेहरा बहुत

असअ’द बदायुनी

====
इश्क़ है या कुछ और ये तो
पता नहीं पर जो तुमसे है
वो किसी और से नही!

====

इश्क़ जब तक न कर चुके रुस्वा
आदमी काम का नहीं होता!

====

 

दिल=ए=गुमराह को
काश ये मालूम होता,

प्यार तब तक हसीन है,
जब तक नहीं होता।

====

मोहब्बत‬ नही थी तो एक
बार समझाया‬ तो होता…
बेचारा‬ दिल तुम्हारी ‪
ख़ामोशी‬ को ‪इश्क़‬ समझ बैठा..!!

====

भला हम मिले भी तो क्या मिले वही दूरियाँ वही फ़ासले

न कभी हमारे क़दम बढ़े न कभी तुम्हारी झिजक गई

बशीर बद्र

====

इश्क की नासमझी में हम सब,
कुछ गवां बैठे,
उन्हें खिलौने की जरुरत थी,
और हम दिल थमा बैठे।

====

अजब चिराग हूँ दिन रात जलता रहता हूँ
थक गया हूँ मैं हवा से कहो बुझाए मुझे।

====

खिड़की से झांकता हूँ मै,
सबसे नज़र बचा कर
बेचैन हो रहा हूँ,
क्यों घर की छत पे आ कर
क्या ढूँढता हूँ,
जाने क्या चीज खो गई है,
इन्सान हूँ,
शायद मोहब्बत हमको भी हो गई ।

====

बहुत दिनों में मोहब्बत को ये हुआ मा’लूम

जो तेरे हिज्र में गुज़री वो रात रात हुई

फ़िराक़ गोरखपुरी

====

प्यार करना सीखा है नफरतो का कोई ठौर नही
बस तु ही तु है इस दिल मे दूसरा कोई और नही!

====

umr mat poochho unakee jo,
ishq main doobe rahate hain,
vo har vakt javaan rahate hain,
jo mahaboob kee,
aankhon mein khoe rahate hai.
उम्र मत पूछो उनकी जो,
इश्क मैं डूबे रहते हैं,
वो हर वक्त जवां रहते हैं,
जो महबूब की,
आंखों में खोए रहते है।

 

====

मत किया कीजिये दिन के
उजालों की ख्वाहिशें,

ये जो आशिक़ों की बस्तियाँ हैं
यहाँ चाँद से दिन निकलता है…।

====

इश्क का रोग है जाता नहीं कसम से
गले में डालकर सारे ताबीज देखे मैंने!

 

====

इश्क़ जब तक न कर चुके रुस्वा

आदमी काम का नहीं होता

जिगर मुरादाबादी

====

कितनी मासुम है दिल की
ख्वाहिश…….
इश्क भी करना चाहता है और
खुश भी रहना चाहता है…..!

====

 

खुदा की रहमत में अर्जियाँ नहीं चलतीं,
दिलों के खेल में खुदगर्जियाँ नहीं चलतीं ।

चल ही पड़े हैं तो ये जान लीजिए हुजुर,
इश्क़ की राह में मनमर्जियाँ नहीं चलतीं ।

====

farishte hee honge,
jinaka hua ishq mukammal,
insaanon ko to hamane sirph,
barabaad hote dekha hai.

====

किसी ने पूछा कभी इश्क हुआ था
हम मुस्कुरा के बोले आज भी है!

====

तुम से छुट कर भी तुम्हें भूलना आसान न था

तुम को ही याद किया तुम को भुलाने के लिए

निदा फ़ाज़ली

====

इश्क़ है इश्क़ ये मज़ाक़ नहीं
चंद लम्हों में फ़ैसला न करो!

====

दिल की आवाज़ को इज़हार कहते हैं,
झुकी निगाह को इकरार कहते हैं,
सिर्फ पाने का नाम इश्क नहीं,
कुछ खोने को भी प्यार कहते हैं।

====

फ़रिश्ते ही होंगे,
जिनका हुआ इश्क मुकम्मल,
इंसानों को तो हमने सिर्फ,
बरबाद होते देखा है।

====

तेरी बातों में जिक्र मेरा….
मेरी बातों में जिक्र तेरा….
अजब सा ये इश्क हैं….
ना तु मेरी ना मैं तेरा

====

चलो अच्छा हुआ काम आ गई दीवानगी अपनी

वगरना हम ज़माने भर को समझाने कहाँ जाते

क़तील शिफ़ाई

====
nasha tha, tere pyaar ka,
jisame ham kho gae,
hamen bhee nahin pata chala,
kab ham tere ho gae.
नशा था, तेरे प्यार का,
जिसमे हम खो गए,
हमें भी नहीं पता चला,
कब हम तेरे हो गए।

====

कुछ खेल नहीं है इश्क़ करना
ये ज़िंदगी भर का रत जगा है!

====
वो कहते है भूल जाओ पुरानी बातों को…..
कोई उसे समझाये कि इश्क़ कभी पुराना नहीं होता..||||

====

मुझसे पूछा किसी ने दिल का मतलब
मैने हँस कह दिया ठिकाना तेरा.
जब पूछा सुहानी शाम किसे कहते हैं,
मैने इतरा के कह दिया चाहना तेरा.
उसने पूछा कि बताओ ये क़यामत क्या है,
मैने घबरा के कह दिया रूठ जाना तेरा.
मौत कहते हैं किसे जब मुझसे पूछा,
मैंने आँखें झुका कर कहा छोड़ जाना तेरा।

====

यूँ तो हर शाम उमीदों में गुज़र जाती है

आज कुछ बात है जो शाम पे रोना आया

शकील बदायुनी

====

सुनो मुझे इश्क़ हुआ है
दूर रहना तुम हमसे सुना है
ये मर्ज छूने से बढ़ जाता है !

====

आग थे इब्तिदा ए इश्क़ में हम
अब जो हैं ख़ाक इंतिहा है ये!
====
दो बातें उनसे की तो दिल का दर्द खो गया,
लोगों ने हमसे पूछा कि तुम्हें क्या हो गया,
बेकरार आँखों से सिर्फ हँस के हम रह गए,
ये भी ना कह सके कि हमें इश्क़ हो गया…।

 

====

rukh mandir ka kiya tha,
use bhulaane kee niyat se,
dua mein haath kya uthe,
phir usee ko maang baithe.

====

अभी राह में कई मोड़ हैं कोई आएगा कोई जाएगा

तुम्हें जिस ने दिल से भुला दिया उसे भूलने की दुआ करो

बशीर बद्र

====

इश्क़ इक भारी पत्थर है
कब ये तुझ ना तवाँ से उठता है!

====

खुदा तू इश्क न करना
वरना बहुत पछतायेगा
हम तो मर के तेरे पास आयेंगे
तू कहाँ जायेगा!

====

ज़िंदगी यूँही बहुत कम है मोहब्बत के लिए

रूठ कर वक़्त गँवाने की ज़रूरत क्या है

====

ना आह सुनाई दी ना तड़प दिखाई दी….!!
बर्बाद हो गए तेरे इश्क में
हम बड़ी खामोशी के साथ….!!

====

 

एहसास=ए=मुहब्बत के लिए
बस इतना ही काफी है,
तेरे बगैर भी हम, तेरे ही रहते हैं…।
====

रुख मंदिर का किया था,
उसे भुलाने की नियत से,
दुआ में हाथ क्या उठे,
फिर उसी को मांग बैठे।

====
जज़्बा ए इश्क़ सलामत है तो इंशा अल्लाह
कच्चे धागे से चले आएँगे सरकार बंधे!

====

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

वही यानी वादा निबाह का तुम्हें याद हो कि न याद हो

मोमिन ख़ाँ मोमिन

====

आज कोई गज़ल तेरे नाम ना हो जाए
आज कही लिखते लिखते शाम ना हो जाए!

====

ज़मीन से आसमान तक
इश्क़ का ही बोल बाला है
इश्क़ के करने का लेकिन
सभी का ढंग निराला है!

 

====
tere ishk mein is tarah main,
neelaam ho jaoon,
aakharee ho teree bolee aur main,
tere naam ho jaoon.
तेरे इश्क में इस तरह मैं,
नीलाम हो जाऊं,
आख़री हो तेरी बोली और मैं,
तेरे नाम हो जाऊं।

====

उन्हें अपने दिल की ख़बरें मिरे दिल से मिल रही हैं

मैं जो उन से रूठ जाऊँ तो पयाम तक न पहुँचे

शकील बदायुनी

====

दिल इश्क से
बंधा हुआ एक
जिद्दी परिंदा है !
उम्मीदों से ही घायल है
उम्मीदों पर ही जिंदा !!

====

ऐ आशिक तू सोच तेरा क्या होगा,
क्योंकि हस्र की परवाह मैं नहीं करता,
फनाह होना तो रिवायत है तेरी,
इश्क़ नाम है मेरा मैं नहीं मरता।

====

gam hee milate aaye hain sada,
mujhe hamesha ishk kee raahon mein,
gam ke siva agar mila hai kuchh,
to bas ashk hee nigaahon mein.

====

न पाक होगा कभी हुस्न ओ इश्क़ का झगड़ा

वो क़िस्सा है ये कि जिस का कोई गवाह नहीं

हैदर अली आतिश

====

हुस्न की मल्लिका हो या साँवली सी सूरत…!!
इश्क अगर रूह से हो तो
हर चेहरा कमाल लगता है…!!

====

तुझसे इश्क़ कर के ये यक़ीन हुआ की
इबादत के लिए ख़ुदा का मिलना ज़रूरी नहीं है!

====

तुम को तो जान से प्यारा बना लिया;
दिल का सुकून आँख का तारा का बना लिया;
अब तुम साथ दो या ना दो तुम्हारी मर्ज़ी;
हम ने तो तुम्हें ज़िन्दगी का सहारा बना लिया।

====

गम ही मिलते आये हैं सदा,
मुझे हमेशा इश्क की राहों में,
गम के सिवा अगर मिला है कुछ,
तो बस अश्क ही निगाहों में।

====

सौ चाँद भी चमकेंगे तो क्या बात बनेगी

तुम आए तो इस रात की औक़ात बनेगी

जाँ निसार अख़्तर

====

अजब चिराग हूँ दिन रात जलता रहता हूँ
थक गया हूँ मैं हवा से कहो बुझाए मुझे।

====

तेरा प्यार मेरी जिंदगी में
बहार ले कर आया है,

तेरे आने से पहले हर दिन
पतझड़ हुआ करता था ।

====

जिसे इश्क़ का तीर कारी लगे
उसे ज़िंदगी क्यूँ न भारी लगे !

====

इश्क़ का ज़ौक़=ए=नज़ारा मुफ़्त में बदनाम है

हुस्न ख़ुद बे=ताब है जल्वा दिखाने के लिए

असरार=उल=हक़ मजाज़

 

====

इश्क का रोग है जाता नहीं कसम से
गले में डालकर सारे ताबीज देखे मैंने!

====

मै खुद लिखता हूँ मोहब्बत
तुम आइने को संवार लो
मै अपनी खुशबु बिखेर देता हूँ
तुम अपनी जुल्फों को सवार लो !

====
होश आये तो क्यों कर तेरे दीवाने को,
एक जाता है तो दो आते हैं समझाने को ।

====

वफ़ा तुम से करेंगे दुख सहेंगे नाज़ उठाएँगे

जिसे आता है दिल देना उसे हर काम आता है

आरज़ू लखनवी

====

सुनो मुझे इश्क़ हुआ है
दूर रहना तुम हमसे सुना है
ये मर्ज छूने से बढ़ जाता है !

====
सांसो को प्यारी आप की चाहत
धड़कनो को प्यारी आपकी मोहब्बत
जिंदगी को प्यारी आप की मुस्कुराहट !

 

====

इश्क़ करने से पहले जात नहीं पूछी जाती महबूब की
कुछ तो है दुनिया में जो अाज तक मज़हबी नही हुअा ।।

====

zarooree nahin ishk mein,
baanho ke sahaare hee mile,
kisee ko jee bhar ke mahasoos,
karana bhee mohabbat hai.
ज़रूरी नहीं इश्क में,
बांहो के सहारे ही मिले,
किसी को जी भर के महसूस,
करना भी मोहब्बत है।

====
दिल में न हो जुरअत तो मोहब्बत नहीं मिलती

ख़ैरात में इतनी बड़ी दौलत नहीं मिलती

निदा फ़ाज़ली

====

चर्चे किस्से नाराजगी आने दो मुझको इश्क़ में
और इश्क़ को मुझमें मशहूर हो जाने दो!

====

तन्हाइयों में मुस्कुराना इश्क़ है,
एक बात को सब से छुपाना इश्क़ है,
यूँ तो नींद नहीं आती हमें रात भर,
मगर सोते=सोते जागना और,
जागते=जागते सोना ही इश्क़ है।

====
खुदा तू इश्क न करना
वरना बहुत पछतायेगा
हम तो मर के तेरे पास आयेंगे
तू कहाँ जायेगा!

====

इश्क़ भी हो हिजाब में हुस्न भी हो हिजाब में

या तो ख़ुद आश्कार हो या मुझे आश्कार कर

अल्लामा इक़बाल

====

” Suno “
Jara Sa HaqJatana Bhi Sikh lo,
Ishq Hai To Batana Bhi Sikh Lo.

====

सख़्त काफ़िर था जिन ने पहले
मज़हब ए इश्क़ इख़्तियार किया!

====
हक़ीक़त खुल गई हसरत, तेरे तर्क=ए=मोहब्बत की,
तुझे तो अब वो पहले से भी बढ़ कर याद आते हैं।

====

अभी न छेड़ मोहब्बत के गीत ऐ मुतरिब

अभी हयात का माहौल ख़ुश=गवार नहीं

साहिर लुधियानवी

====
साथ देना चाहते है आप की हर राह मे
जिंदगी जीना चाहते है
आप की बाहों मे बन जाना साँसे हमारी ओर
कर देना एहसान इतना जो हो
हमारा प्यार सच्चा इस दुनिया मे !

====

महफिलों में भी वो
और तन्हाइयों में भी वो रहा करती है ,
क्या इश्क़ की हर घडी में
ऐसे ही मोहब्बत रहा करती है।

mehfilo me bhi wo
aur tanhaiyo me bhi wo rha krti h
kya ishq ki har ghadi me
aise hi mohabbat rha krti h

Romantic Shayari

====

तुम चाहो अगर तो लिख दो
इश्क़ मेरी तकदीर में
तुमसे खूबसूरत इबादत तो
जन्नत में भी नही!

====

ज़मीन से आसमान तक
इश्क़ का ही बोल बाला है
इश्क़ के करने का लेकिन
सभी का ढंग निराला है!

====
क्या हुस्न ने समझा है क्या इश्क़ ने जाना है

हम ख़ाक=नशीनों की ठोकर में ज़माना है

जिगर मुरादाबादी

====

” सुनो “
जरा सा हकजतना भी सीख लो,
इश्क़ है तो बताना भी सिख लो।

====

थोड़ी जल्दी आया करो मिलने के लिए ,
हमारा दिल नहीं बना
तुमसे दूर रहने के लिए।

thodi jaldi aaya kro milne ke liye
humara dil nhi bna
tumse door rhne ke liye

Love Shayari

 

====

 

इश्क़ में भी कोई अंजाम हुआ करता है
इश्क़ में याद है आग़ाज़ ही आग़ाज़ मुझे!
====

ज़रा सी बात सही तेरा याद आ जाना

ज़रा सी बात बहुत देर तक रुलाती थी

नासिर काज़मी

====

जिसे इश्क़ का तीर कारी लगे
उसे ज़िंदगी क्यूँ न भारी लगे !

 

====

आना तुम्हारा बहार ले आता है ,
मेरा मन तब मेरा ही ना रह पाता है।

aana tumhara bahar le aata h
mera mn tb mera hi na rh pata h

Pyar Shayari

====

मै खुद लिखता हूँ मोहब्बत
तुम आइने को संवार लो
मै अपनी खुशबु बिखेर देता हूँ
तुम अपनी जुल्फों को सवार लो !

====

चाहत में डूबने का हक़ सभी को है पर दुनिया के सामने
इनकार सभी को हैबेशक कोई छुपा ले दिल की गहराइयों में
पर किसी ना किसी से तो प्यार सभी को है!

====

किसी सबब से अगर बोलता नहीं हूँ मैं

तो यूँ नहीं कि तुझे सोचता नहीं हूँ मैं

इफ़्तिख़ार मुग़ल

====

 

चर्चे किस्से नाराजगी आने दो मुझको इश्क़ में
और इश्क़ को मुझमें मशहूर हो जाने दो!
साथ देना चाहते है आप की हर राह मे
जिंदगी जीना चाहते है
आप की बाहों मे बन जाना साँसे हमारी ओर
कर देना एहसान इतना जो हो
हमारा प्यार सच्चा इस दुनिया मे !
====

महफ़िल सजी है सनम भी ऑनलाइन हैं
हम कंफ्यूज हैं इश्क़ करे या शायरी!

====
4 चाँद मेरी ज़िंदगी में तब लग जाएँगे,
जब मेरे एहसासों के साथ=साथ
उनके ज़ज़्बात भी जग जाएंगे।

4 chand meri zindagi me tb lag jaege
jab mere ehsaaso ke sath sath
unke zazbat bhi jag jaege

Pyar Shayari

====
तुम चाहो अगर तो लिख दो
इश्क़ मेरी तकदीर में
तुमसे खूबसूरत इबादत तो
जन्नत में भी नही!

====

ज़िंदगी भर के लिए रूठ के जाने वाले

मैं अभी तक तिरी तस्वीर लिए बैठा हूँ

क़ैसर=उल जाफ़री

====

मन में छुपे राज़ बताऊ कैसे
तुम्हे अपना करीब लावू कैसे
दिल के अरमान दिल में रेह न जाए कभी
चाहत अपनी तुज पर जताऊ भी तो कैसे!

 

====

खुशबू से है वो
जब आसपास भी नहीं होते
फिर भी महसूस होते है।

khsuhboo se h wo
jab aaspaas bhi nhi hote
fir bhi mehsoos hote h

Love Shayari

====

ishk to itana kiya hai hamanen,
ki yah jindagee hee kam pad jaayegee,
isakee had ko bayaan karane mein.
इश्क तो इतना किया है हमनें,
कि यह जिन्दगी ही कम पड़ जायेगी,
इसकी हद को बयां करने में।

====

मैं आदत हूँ उसकी वो ज़रूरत है मेरी
मैं फरमाइश हूँ उसकी वो इबादत है मेरी
इतनी आसानी से कैसे
निकल दू उसे अपने दिल से
मैं ख्वाब हूँ उसका वो हक़ीक़त है मेरी !!

====

वफ़ा तुझ से ऐ बेवफ़ा चाहता हूँ

मिरी सादगी देख क्या चाहता हूँ

हसरत मोहानी

====

मन में छुपे राज़ बताऊ कैसे
तुम्हे अपना करीब लावू कैसे
दिल के अरमान दिल में रेह न जाए कभी
चाहत अपनी तुज पर जताऊ भी तो कैसे!

 

====

बार=बार वो हमपे इलज़ाम लगाते है।
कि वो कितना ही सम्भाले अपना दिल
हम हर दफा चुरा ले जाते है।

baar baar wo humpe ilzam lagate h
ki wo kitna hi smbhalle apna dil
hum har dafa use chura late

====

” yakeenan ” mujhe aaj bhee ishk hai tumase,
baas ab bayaan karane kee aadat nahin rahee.

====

लफ़्ज़ों से तुम मेरी तारीफ कर लो
इश्क हम तेरी आंखो में ढूँढ लेंगे!

====

इश्क़ में भी कोई अंजाम हुआ करता है
इश्क़ में याद है आग़ाज़ ही आग़ाज़ मुझे!

====

ये कहना था उन से मोहब्बत है मुझ को

ये कहने में मुझ को ज़माने लगे हैं

ख़ुमार बाराबंकवी

====

” यकीनन ” मुझे आज भी इश्क है तुमसे,
बास अब बयां करने की आदत नहीं रही।

====

मैं आदत हूँ उसकी वो ज़रूरत है मेरी
मैं फरमाइश हूँ उसकी वो इबादत है मेरी
इतनी आसानी से कैसे
निकल दू उसे अपने दिल से
मैं ख्वाब हूँ उसका वो हक़ीक़त है मेरी !!

====

मोहब्बत एक ख़ुशबू है हमेशा साथ चलती है

कोई इंसान तन्हाई में भी तन्हा नहीं रहता

बशीर बद्र

 

====

सुना है हश्र हैं उस की ग़ज़ाल सी आँखें
सुना है उस को हिरन दश्त भर के देखते हैं!

====

कोहरा=सा बनकर मेरे दिल पे छा गए हो ,
तुम्हारे सिवाय कुछ दिखता ही नहीं।

Kohra=sa banker mere dil pe chha gaye ho,
Tumhare siway kuch dikhta hi nahi .

====

सुना है हश्र हैं उस की ग़ज़ाल सी आँखें
सुना है उस को हिरन दश्त भर के देखते हैं!

====

क्या कहूँ तुम से मैं कि क्या है इश्क़

जान का रोग है बला है इश्क़

मीर तक़ी मीर

====

aaj to be – sabab udaas hai dil,
ishq hota to koee baat bhee thee.
आज तो बे – सबब उदास है दिल,
इश्क होता तो कोई बात भी थी।

====

दिल की आवाज़ को इज़हार कहते है
झुकी निगाह को इकरार कहते है
सिर्फ़ पाने का नाम इश्क़ नही
कुछ खोने को भी प्यार कहते हैं!

====

नज़रे मिले तो प्यार हो जाता है
पलके उठे तो इज़हार हो जाता है
ना जाने क्या कशिश है चाहत मैं
के कोई अंजान भी
हमारी ज़िंदगी का हक़दार हो जाता है!

====

फिर खो न जाएँ हम कहीं दुनिया की भीड़ में

मिलती है पास आने की मोहलत कभी कभी

साहिर लुधियानवी

====

नशा है इश्क़ खता है इश्क़
क्या करें यारो बड़ा दिलकश है इश्क़!
====

राख से भी आएगी खुशबू मोहब्बत की ,
मेरे खत तुम सरेआम जलाया ना करो।

raakh se bhi aayegi khushboo mohabbat ki,
mere khat tum sareaam jalaya na karo.
====

मेरे इब्तिदा – ए – इश्क की कहानी ना पुछ मुझसे,
हर सांस में हज़ारो बार तेरा नाम लिया हैं।

====

नशा है इश्क़ खता है इश्क़
क्या करें यारो बड़ा दिलकश है इश्क़!

====

दिल पे आए हुए इल्ज़ाम से पहचानते हैं

लोग अब मुझ को तिरे नाम से पहचानते हैं

क़तील शिफ़ाई

 

====

बादशाह थे हम अपनी मिजाज ए मस्ती के
इश्क़ ने तेरे दीदार का फ़क़ीर बना दिया!

====

लिखने को हर दिन आधा इश्क़ लिखता हूँ ,
तुम आओगे तभी तो पूरा होगा।

Likhne ko har din aadha ishq likhta hu
Tum aaoge tabhi to poora hoga .

====

mere ibtida – e – ishk kee kahaanee na puchh mujhase,
har saans mein hazaaro baar tera naam liya hain.

====

फरवरी की एक सर्द शाम और साथ तुम्हारा हो
काश कुछ पल ही सही ख़्वाब ये सच हमारा हो!

====

अक़्ल को तन्क़ीद से फ़ुर्सत नहीं

इश्क़ पर आमाल की बुनियाद रख

अल्लामा इक़बाल

====

फरवरी की एक सर्द शाम और साथ तुम्हारा हो
काश कुछ पल ही सही ख़्वाब ये सच हमारा हो!

====

ishk ne kab ijaajat lee hai aashikon se,
vo hota hai aur hokar hee rahata hai.
इश्क ने कब इजाजत ली है आशिकों से,
वो होता है और होकर ही रहता है।

====
इस कदर ये इश्क़ ऐसी साजिशें रचता है ,
कि मेरे चेहरे में उसका चेहरा दिखता है।

Is kadar ye ishq aisi sajishe rachta h,
Ki mere chehre me uska chehra dikhta h.

 

====

दिल की आवाज़ को इज़हार कहते है
झुकी निगाह को इकरार कहते है
सिर्फ़ पाने का नाम इश्क़ नही
कुछ खोने को भी प्यार कहते हैं!

 

====

आशिक़ी में बहुत ज़रूरी है

बेवफ़ाई कभी कभी करना

बशीर बद्र

====

इश्क़ वही है जो हो एकतरफा हो
इज़हार ऐ इश्क़ तो ख्वाहिश बन जाती है
है अगर मोहब्बत तो आँखों में पढ़ लो
ज़ुबान से इज़हार तो नुमाइश बन जाती है!

====

हर वक़्त फ़िराक में रहता है ,
ये मेरा इश्क़ तुमसे मिलने को कहता है।

Har waqt firak me rhta h,
Ye mera ishq tumse milne ko khta h.

====

इक बात कहूँ इश्क़ बुरा तो नहीं मानोगे,
बड़ी मौज के थे दिन, तुमसे पहचान से पहले।

====
वो एक ही चेहरा तो नहीं सारे जहाँ में

जो दूर है वो दिल से उतर क्यूँ नहीं जाता

निदा फ़ाज़ली

====

बादशाह थे हम अपनी मिजाज ए मस्ती के
इश्क़ ने तेरे दीदार का फ़क़ीर बना दिया!

====

यह वही है जो मुझे जीवन पर गर्व करता है,
आपने मुझे बहुत देर कर दी है
प्यार से कोई तरकीब करते हो तो
मुझमें हारने की हिम्मत है।

====

जितना तुम्हारा दीदार होता है ,
मुझे तुमसे इश्क़ उतनी बार होता है।

Jitna tumhara didar hota h
Mujhe tumse ishq utni bar hota h

====

इबादत ए इश्क बस इतना है तु रहे
सदा पास मेरे मै रहू सदा एहसासो मे तेरे!

====

वैसे तो तुम्हीं ने मुझे बर्बाद किया है

इल्ज़ाम किसी और के सर जाए तो अच्छा

साहिर लुधियानवी

====

क्या किसी से उसका हाल पूछें
नाम भी तो लिया नहीं जाता।

====

लगता है इश्क़ अपने
उसूलों पे कायम ही रहेगा ,
ये कल भी तकलीफ देता था
और आगे भी तकलीफ देगा।

Lagta h ishq apne oosolo pe
Kayam hi rhega
Ye kal bhi takleef deta tha
Aur aage bhi takleef dega

====

Tujhse Ishq Kar Ke
Ye Yakin Hua Ki
Ibadat Ke Liye Khuda Ka Milana
Jaruri Nahi Hai

====

अज़िय्यत मुसीबत मलामत बलाएँ

तिरे इश्क़ में हम ने क्या क्या न देखा

ख़्वाजा मीर दर्द

====

प्यार लिखने के लिए प्यार
का होना बहुत जरूरी है।
बिना जहर का स्वाद पिए
कोई कैसे बता सकता है?

====

इश्क़ का रोग भला कैसे पलेगा मुझ से
क़त्ल होता ही नहीं यार अना का मुझ से!

====
इतनी गहराइयो में जा पहुचा है इश्क़ मेरा
देखना पैमाना भी छोटा पड जाएगा तेरा।

Itni gehraiyo me jaa phucha h ishq mera
dekhna paimana bhi chhota pad jaega tera

 

====

चर्चे, किस्से नाराजगी आने दो,
मुझको इश्क़ में
और इश्क़ को मुझमें
मशहूर हो जाने दो

Charche, Kisse Narazagi Aane Do
Mujhko Ishk Me
Aur Ishq Ko Mujhme
Mashhur Ho Jaane Do

====

क्यूँ हिज्र के शिकवे करता है क्यूँ दर्द के रोने रोता है

अब इश्क़ किया तो सब्र भी कर इस में तो यही कुछ होता है

हफ़ीज़ जालंधरी

====

तुम चाहो अगर तो लिख दो
इश्क़ मेरी तकदीर में.
तुमसे खूबसूरत इबादत तो
जन्नत में भी नही

Tum Chaho Agar To Likh Do
Ishq Meri taqdir Me
Tumase Khubsurat Ibadat To
Jannat Me Bhi Nahi

====

नजर नमाज नजरिया सब कुछ बदल गया
एक रोज इश्क हुआ मेरा खुदा बदल गया!

====
क़र्ज़ चढ़ गया है अब
तुम पर मेरे प्यार का ,
तो सवाल ही नहीं उठता
तुम्हारे इंकार का।

karz chadh gaya h ab
tum par mere pyar ka
to sawal hi nahi uthta
tumhare inkaar ka

====

महफ़िल सजी है सनम भी
Online हैं
हम कंफ्यूज हैं
इश्क़ करे या शायरी?

Mahfil Saji Hai Sanam Bhi
Online Hai
Ham Confuse Hai
Ishq Kare Ya Shayari?

====

जब हुआ ज़िक्र ज़माने में मोहब्बत का ‘शकील’

मुझ को अपने दिल=ए=नाकाम पे रोना आया

शकील बदायुनी

====

इश्क़ वही है जो हो एकतरफा हो
इज़हार ऐ इश्क़ तो ख्वाहिश बन जाती है
है अगर मोहब्बत तो आँखों में पढ़ लो
ज़ुबान से इज़हार तो नुमाइश बन जाती है!

====

जब होना होता है
तब होके रहता है ,
ये इश्क़ है इस पर
किसका ज़ोर चलता है।

jab hona hota h
tab hoke rhta h
ye ishq h is par
kiska zor chala krta h

====
लफ़्ज़ों से तुम
मेरी तारीफ कर लो..
इश्क हम तेरी आंखो में
ढूँढ लेंगे

Lafzo Se Tum
Meri Tarif Kar Lo
Ishq Ham Teri Ankho Me
Dhundh Lenge

====

एक चेहरा है जो आँखों में बसा रहता है

इक तसव्वुर है जो तन्हा नहीं होने देता

जावेद नसीमी

====

नशा है इश्क़, खता है इश्क़,
क्या करें यारो
बड़ा दिलकश है इश्क़

Nasha Hain Ishq, Khata Hai Ishq
Kya Kare Yaaro
Bada Dilkash Hai Ishq

====

हर दिन याद कर
हाज़िरी लगा देते है ,
तुम्हारे दिल में पल रहे
हमारे इश्क़ की।

har din yaad kar
haziri laga dete h
tumhare dil me pal rahe
humare ishq ki

====

आपकी निगाहो से काश कोई इशारा होता
ज़िंदगी मे मेरी जान जीने का सहारा होता
फ़ना कर देते हम हर बंधन ज़माने के
आपने एक बार दिल से पुकारा होता!

====

बादशाह थे
हम अपनी मिजाज=ए मस्ती के
इश्क़ ने तेरे दीदार का
फ़क़ीर बना दिया.

Baadshaah The
Ham Apani Mizaz=E=Masti Ke
Ishq Ne Tere Deedaar Ka Ka
Fakir Bana Diya

====

ये किन नज़रों से तू ने आज देखा

कि तेरा देखना देखा न जाए

अहमद फ़राज़

====

नजर नमाज
नजरिया सब कुछ बदल गया ,
एक रोज इश्क हुआ मेरा
खुदा बदल गया

Nazar Namaaz
Nazariyan Sab Kuchh Badal Gaya
Ek Roz Ishq Hua Mera
Khuda Badal Gaya

====

तेरी आँखों में रब दिखता हैं
क्यूँकि सनम मेरा दिल
तेरे लियें धड़कता हैं

Teri Ankh Me Rab Dikhata Hai
Kyuki Sanam Mera Dil
Tere Liye Dhadakata Hai

====

इबादत ए इश्क बस इतना है तु रहे
सदा पास मेरे मै रहू सदा एहसासो मे तेरे!

====

मोहब्बत ही में मिलते हैं शिकायत के मज़े पैहम

मोहब्बत जितनी बढ़ती है शिकायत होती जाती है

शकील बदायुनी

====

इबादत ए इश्क बस इतना है
तु रहे सदा पास मेरे
मै रहू सदा एहसासो
मे तेरे

Ibaadat=E=Ishq Bas Itana Hai
Tu Rahe Sada Paas Mere
Main Rahu Sada Ehasaaso
Me Tere

====

होशवालों को खबर क्या
कि बेखुदी क्या चीज़ है,
इश्क़ कीजिये फिर समझिये
कि ज़िंदगी क्या चीज़ है।

Hoshwalo ko khabar kya
Ki bekhudi kya cheez h
Ishq kijiye fir smjhiye
Ki zindagi kya cheez h

====

मुक़म्मल इश्क़ तो इबादत है..
बस करते चले जाना है

Mukammal Ishq To Ibadat Hai
Bas Karate Chalo

====

सिर्फ़ उस के होंट काग़ज़ पर बना देता हूँ मैं

ख़ुद बना लेती है होंटों पर हँसी अपनी जगह

अनवर शऊर

====
इक बात कहूँ इश्क़ बुरा तो नहीं मानोगे,
बड़ी मौज के थे दिन, तुमसे पहचान से पहले।

====

वो जितना मुझे पलके उठा देख लेते है ,
उतना ही मैं नीलम हो जाता हूँ।

Wo jitna mujhe palke utha dekh lete h
Utna hi m nilam ho jata hu

====
अज़ीब था उनका
ज़वाब मांगने का अंदाज़ भी?
होंठ पर होंठ रख कर पूछते है.
“कुछ कहते क्यूँ नही?

Ajeeb Tha Unaka
Jawaab Mangane Ka Andaaz Bhi?
Honth Par Honth Rakh Kar Puchhate Hai
Kuchh Kahate Kyu Nahi?

====

ये मेरे इश्क़ की मजबूरियाँ मआज़=अल्लाह

तुम्हारा राज़ तुम्हीं से छुपा रहा हूँ मैं

असरार=उल=हक़ मजाज़

====
सुनो.
मुझे इश्क़ हुआ है. दूर रहना
तुम हमसे
सुना है ये मर्ज, छूने से बढ़
जाता है

Suno
Mujhe Ishq Hua Hai, Dur Rahana
Tum Mujhse
Suna Hai Ye Marz, Chhune Se Badh
Jata Hai.

====

एक बात पूछो और मुस्कुरा कर जवाब दो..
मुझे रुला कर खुश हो ??

====

तुझसे ना मिलने की तड़प
कुछ ऐसी है कि ,
जैसे मेरी सांस में सांस ना हो।

Tujhse na milne ki tadap
Kuch aisi h ki
Jaise meri sans me sans na ho

 

====

इलाज अपना कराते फिर रहे हो जाने किस किस से

मोहब्बत कर के देखो ना मोहब्बत क्यूँ नहीं करते

फ़रहत एहसास

====
.कितना चाहा
ना जाऊं इश्क़ की गली
पर इस दिल के आगे मेरी
एक ना चली

Kitana Chaha
Naa Jaun Ishq Ki Gali Me
Par Is Dil Ke Aage Meri
Ek Na Chali

 

====

यह वही है जो मुझे जीवन पर गर्व करता है,
आपने मुझे बहुत देर कर दी है
प्यार से कोई तरकीब करते हो तो
मुझमें हारने की हिम्मत है।

====

तुम हकीकत=ऐ=इश्क़ हो
या फरेब मेरी आँखों का ,
ना दिल से निकलते हो
ना मेरी ज़िंदगी में आते हो।

Tum hakikat=ae=ishq ho
Ya fareb meri aankho ka,
Na dil se niklte ho
Na meri zindagi me aate ho.

====
वों जुल्फें हवाओं संग
लहरायी थीं,
हम असर इश्क का
समझ बैठे.

Wo Julfe Hawaon Ke Sath
Laharayi Thi,
Ham Asar Ishq Ka
Samjh Baithe

 

====

आशिक़ी सब्र=तलब और तमन्ना बेताब

दिल का क्या रंग करूँ ख़ून=ए=जिगर होते तक

मिर्ज़ा ग़ालिब

====

हमें अपने पास कैद करके कहीं रख दो,
काश हम कुछ ऐसा कर पाते।

====

वो कहते है कि
भूल जाओ पुरानी बातो को ,
कोई उसे समझाए कि
इश्क़ पुराना नहीं होता ,

Wo khte h ki
bhool jao purani bato ko
Koi use smjhae ki
Ishq purana nahi hota.

====

नज़ाक़त
और ग़ुरूर होना चाहिये इश्क़ में
एक तरफ़ा ही सही
पर सुरूर होना चाहिए इश्क़ में

Nazakat
Aur Gurur Hona Chahiye Ishq Me
Ek Tarfa Hi Sahi
Par Surur Hona Chahiye Ishk Me

====

इक़रार है कि दिल से तुम्हें चाहते हैं हम

कुछ इस गुनाह की भी सज़ा है तुम्हारे पास

हसरत मोहानी

====

जानेजाना तुम ही सोचो ज़रा
क्यों ना रोकें तुम्हे, बताओ?
जान जाती है जब
उठकर जाते हो तुम

Jaanejaana Tum Hi Socho Jara?
Kyu Naa Roke Tumhe, Bataao?
Jaan Jati Hai Jab
Uthkar Tum Jaate Ho

====

इश्क़ का समुन्दर भी क्या समुन्दर ,
जो डूब गया वो इश्क़
और जो बच गया वो दीवाना।

Ishq ka samundar bhi kya samundar
Jo doob gaya wo aashiq
Aur jo bach gaya wo deewana.

====

प्यार लिखने के लिए प्यार का होना बहुत जरूरी है।
बिना जहर का स्वाद पिए कोई कैसे बता सकता है?

 

====

चंद कलियाँ नशात की चुन कर मुद्दतों महव=ए=यास रहता हूँ

तेरा मिलना ख़ुशी की बात सही तुझ से मिल कर उदास रहता हूँ

साहिर लुधियानवी

====
दिल मेरा एक
ख्वाहिशों की किताब सा है,
जिसका हर लफ्ज तुझे पाने की
ख्वाहिश में लिखा है

Dil Mera Ek Hai
Khwahishon Ki Kiyaab Sa Hai
Jisaka Har Lafz Tujhe Paane Ki
Khwahish Me Likha Hai

 

====

इश्क कोई घाव नहीं
जो भर जायेगा,
रिवाज है साहब
हीर के बगैर रांझा
मर जायेगा

Ishq Koi Ghav Nahi
Jo Bhar Jayega
Riwaaz Hai Saahab
Heer Ke Bagair Ranjha
Mar Jaayega

====

जिंदगी बढ़ती जा रही है मगर
हरकतों में कोई
सुधार नहीं

Zindagi Badhati Ja Rahi Magar
Harkato Me Koi
Sudhaar Nahi

====

किसी का यूँ तो हुआ कौन उम्र भर फिर भी

ये हुस्न ओ इश्क़ तो धोका है सब मगर फिर भी

फ़िराक़ गोरखपुरी

====

इश्क हिंदी शायरी

====

इश्क़ का रोग कुछ ऐसा लगा है ,
कि लोग क्या कहेंगे
अब मतलब नहीं रहा है।

Ishq ka rog kuch aisa laga h
Ki log kya kahenge
Ab matlab nahi raha h

====

इश्क़ की उम्र नही होती,
ना ही दौर होता है,
इश्क तो इश्क़ है जब होता है.
तो बेहिसाब होता है.

Ishq Ki Umr Nahi Hoti,
Naa Hi Daur Hota Hai.
Ishk To Ishk Hai Jab Hota Hai,
To Brhisaab Hota Hai.

 

====

Ishk Hindi Shayari

====

मुझे तो क़ैद=ए=मोहब्बत अज़ीज़ थी लेकिन

किसी ने मुझ को गिरफ़्तार कर के छोड़ दिया

शकील बदायुनी

 

====

लबों को छूकर यूँ बहकाया ना करो,

यूँ सपनों में इश्क़ महकाया ना करो।

====

फ़रिश्ते ही होंगे जिनका हुआ इश्क मुकम्मल, इंसानों को तो हमने सिर्फ बर्बाद होते देखा है…

====

हुस्न इक दिलरुबा हुकूमत है

इश्क़ इक क़ुदरती ग़ुलामी है

अब्दुल हमीद अदम

====

काले जादू जैसा है
ये तेरा तिलस्मी इश्क़,
दुआ और दवा
सब बेअसर मालूम होती है.

Kaale Jaadu Jaisa Hai
Ye Tera Tilasmi Ishq
Dua Aur Dawa
Sab Beasar Malum Hoti Hai

====

कुछ चीजें रोने से नहीं
सब्र करने से मिलती हैं

Kuchh Chize Rone Se Nahi
Sabra Karane Se Milati Hai

====
हर उदास शख्स का मसला,

इश्क नहीं होता जनाब।

 

====

हम अपना इश्क़ चमकाएँ तुम अपना हुस्न चमकाओ

कि हैराँ देख कर आलम हमें भी हो तुम्हें भी हो

बहादुर शाह ज़फ़र

====

इतना #Like तो मैं खुद को भी नहीं करता
जितना तेरे को करने लगा हूं

Itana Like To Main Khud Ko Bhi Nahi Karta
Jitana Tere Ko Karane Laga Hun

====
इश्क़ की राह में, खुबसूरत
क्या हैं
एक मैं हूँ, एक तुम हो और
जरूरत क्या हैं.

Ishq Ki Raah Me Khubsurat
Kya Hai?
Ek Mai Hun, Ek Tum Ho Aur Ki
Jarurat Kya Hai.

====

उसके इश्क में मुकाम की चाह कुछ इस कदर है,

कि उसकी बेवफाई में भी नादानी नज़र आती हैं।

====

माँग लूँ तुझ से तुझी को कि सभी कुछ मिल जाए

सौ सवालों से यही एक सवाल अच्छा है

अमीर मीनाई

====

“मैं भी हुआ करता था वकील इश्क वालों का कभी….
नज़रें उस से क्या मिलीं आज खुद कटघरे में हूँ….”

====
क्यों एक दिल को
दूसरे दिल की खबर ना हो
वो दर्द ए इश्क ही क्या
जो इधर हो उधर ना हो.

Kyu Ek Dil Ko
Dusare Dil Ki Khabar Naa Ho,
Wo Dard=E=Ishq Hi Kya
Jo Idhar Ho Udhar Naa Ho.

 

====

तुम आए तो मेरे इश्क में अब बरकत होने लगी है,

चुपचाप रहता था दिल मेरा, अब हरकत होने लगी है।

====

इश्क़ की चोट का कुछ दिल पे असर हो तो सही

दर्द कम हो या ज़ियादा हो मगर हो तो सही

जलाल लखनवी

====
इश्क है वही जो हो एक तरफा;
इजहार है इश्क तो ख्वाईश बन जाती है;
है अगर इश्क तो आँखों में दिखाओ;
जुबां खोलने से ये नुमाइश बन जाती है।

====

तुम आए तो मेरे इश्क में अब बरकत होने लगी है,

चुपचाप रहता था दिल मेरा अब हरकत होने लगी है।

 

====
तेरे दिल में मेरी साँसों को,
पनाह मिल जाये,
तेरे इश्क में मेरी जान,
फ़ना हो जाये.

Tere Dil Me Meri Sanso Ko,
Panaah Mil Jaaye,
Tere Ishq Me Meri Jaan
Fana Ho Jaaye.

====

महक रही है ज़मीं चाँदनी के फूलों से

ख़ुदा किसी की मोहब्बत पे मुस्कुराया है

बशीर बद्र

====

इश्क का तो पता नहीं,
पर जो तुझमे है, वो किसी और
में नहीं

Ishq Ka To Pata Nahi,
Par Jo Tujhame Hai, Wo Kisi Aur
Me Nahi.

====

मेरे इश्क़ से मिली है ,,
तेरे हुस्न को ये शौहरत ,

तेरा ज़िक्र ही कहाँ था
मेरी दीवानगी से पहले ,,

====

तबाह करेगा मुझे एक दिन ये दिल मेरा,

कमबख्त इस दिल को इश्क बहुत है तुमसे।

====

अभी आए अभी जाते हो जल्दी क्या है दम ले लो

न छेड़ूँगा मैं जैसी चाहे तुम मुझ से क़सम ले लो

अमीर मीनाई

====

अदा=ए=मोहब्बत सजदा=ए=इश्क,
नाम कुछ भी हो. मतलब
तुम्ही से है

Ada=E=Mohabbat Sajada=E=Ishq,
Naam Kuchh Bhi Ho Matalab
Tumhi Se Hain

 

====

जो भी समीकरण है तुम्हारे इश्क़ के दिल पर लागू करो,

मैं प्रूव कर दूंगा तुम्हे मुझ से और मुझे तुमसे इश्क़ है।

====

बात सुन

हुस्न में नाज़ था, नज़ाकत थी,
इश्क़ में एहसास था, शराफ़त थी
“वो ज़माने भी क्या ज़माने थे,
“जब प्यार करना इक इबादत थी

Baat Sun
Husn Me Naaz Tha, Nazakat Thi
Ishk Me Ehasaas Tha, Sharafat Thi
Wo Zamaane Bhi Kya The
Jab Pyaar Karan eK Ibaadat Thi

====

ज़ालिम था वो और ज़ुल्म की आदत भी बहुत थी

मजबूर थे हम उस से मोहब्बत भी बहुत थी

कलीम आजिज़

====

मिलावट है तेरे इश्क में
इत्र और शराब की,
कभी हम महक जाते हैं
कभी हम बहक जाते हैं

Milawat Hai Tere Ishq ME
Itr Aur Sharab Ki,
Kabhi Ham Mahak Jate Hai,
Kabhi Ham Bahak Jaate Hai.

====

कुछ तो शराफत सीख ले, ऐ इश्क़ शराब से………..!!
बोतल पे लिखा तो होता है, मैं जानलेवा हूँ………….!!

====

शिकायते ज्यादा और इश्क़ कम हो गया है,

लगता है किसी गैर का तुझ पे करम हो गया है।

 

====
न जिद है न हमे कोई गुरूर है
बस तुम्हे पाने का
हमे सुरूर है.
इश्क गुनाह है तो गलती की
अब सजा जो भी हो
हमे मंजूर है..

Naa Zid Hai Na Hame Koi Gurur Hai,
Bas Tumhe Paane Ka
Hame Surur Hai.
Ishq Gunaah Hai Galati Ki,
Ab Saja Jo Bhi Ho
Hame Manjur Hai.

====

मरज़=ए=इश्क़ जिसे हो उसे क्या याद रहे

न दवा याद रहे और न दुआ याद रहे

शेख़ इब्राहीम ज़ौक़

====

बरसों से कायम है इश्क़ अपने उसूलों पर,
ये कल भी तकलीफ देता था ये आज भी तकलीफ देता है.

====

किसी ने इश्क यूँ किया बेपनाह हमसे,

कि उसकी पनाह को हम दर=दर भटक रहे हैं।

====
एक तो मेरी चाहत
और दुसरा इश्क का बुखार,
शहर का तापमान
50 डिग्री ना हो तो क्या हो.

Ek To Teri Chahat
Aur Dusara Ishq Ka Bukhaar
Shahar Kaa Taapmaan
50 Degree Na Ho To Kya Ho?

====

आदमी जान के खाता है मोहब्बत में फ़रेब

ख़ुद=फ़रेबी ही मोहब्बत का सिला हो जैसे

इक़बाल अज़ीम

====

बंद कर दिए हैं हमने तो दरवाजे इश्क के
पर कमबख़्त तेरी यादें तो दरारों से ही चली आई..

 

====

हमारी हजार शायरियों के बीच तुम्हारी,

एक छोटी सी तारीफ ही इश्क है।

 

====

इश्क की गहराईयों में.. खूबसूरत क्या है..!!

एक मैं हूँ, एक तुम हो और ज़रुरत क्या है..!!

====

ज़िंदगी जब अज़ाब होती है

आशिक़ी कामयाब होती है

दुष्यंत कुमार

====

मोहब्बत में पनाह अब किसे चाहिए
आपसे तो वैसे भी बेपनाह
इश्क़ हैं हमारा

Mohabbat Me Panaah Ab Kise Chahaiye?
Aapse To Wese Bhi Bepanaah
Ishq Hai Hamaaara

====

भीगेंगे जो
किसी रोज हम मोहब्बत की बरसात में
फिर कमज़ोर से इस दिल को
इश्क का बुखार पक्का है.

Bhigege Jo
Kisi Roj Hum Mohabbat Ki barsat Me ,
Fir Kamjor Se Es Dil Ko
Ishq Ka Bukhar Pakka Hai.

====

उनको गुजरते देखा तो
आँखें बंद कर ली हमने*
पायल की झंकार क्या उठी,
आँखों ने बगावत कर दी

Unako Guzarate Dekha To?
Ankhe Band Kar Li Hamane
Paayal Ki Jhankaar Kya Uthi
Ankho Ne Bagaawat Kar Di

====

इश्क़ मुझ को नहीं वहशत ही सही

मेरी वहशत तिरी शोहरत ही सही

मिर्ज़ा ग़ालिब

====

ख़त्म हो जाता है जब इश्क़ जिस्मों का,

फ़िर लोग तोहफ़े सड़कों पर छोड़ जाते हैं।

====

खतम हो गई कहानी, बस कुछ अलफाज बाकी हैं;
एक अधूरे इश्क की एक मुकम्मल सी याद बाकी है।
====

इन धड़कनो में तुम्हे बसा लू,
इन आँखों मे तुम्हे
सजा लू
मेरे दिल की आरज़ू हो तुम,
इन सांसो में तुम्हे
छुपा लू मैं

In Dhadakano Me Tumhe Basa Lu
In Ankho Me Tumhe
Saja Lu
Mere Dil Ki Aarzoo Ho Tum
In Sanso Me Tumhe
Chhupa Lu Mai

====

बारिश=ए=इश्क की
गहराईयों में खूबसूरत क्या है?
मैं हूँ, तुम हो और कुछ की
ज़रुरत क्या है.

Barish=E=Ishq Ki
Gaharayiyon Me Khubsurat Kya Hai?
Mai Hun, Tum Ho Aur Kuchh Ki
Jarurat Kya Hai.

====

आतिश=ए=इश्क़ वो जहन्नम है

जिस में फ़िरदौस के नज़ारे हैं

जिगर मुरादाबादी

====

इश्क़ ने हमे बेनाम कर दिया,
हर खुशी से हमे अंजान कर दिया,
हमने तो कभी नही चाहा की हमे
भी मोहब्बत हो,
लेकिन तुम्हारी एक नज़र ने
हमे नीलाम कर दिया…

====

अधूरे इश्क़ में ही होती हैं बेपनाह चाहत,

मुकम्मल इश्क़ में तो लोगों को झगड़ते देखा हैं।

====

जब तुम से मोहब्बत की हम ने तब जा के कहीं ये राज़ खुला

मरने का सलीक़ा आते ही जीने का शुऊर आ जाता है

साहिर लुधियानवी

====

इश्क में, मैं खुद को बेकसूर कहती थी पहले
भूल जाती हूँ कि इस दिल की भी तो शरारत थी कुछ…….

====
उल्टी ही चाल चलते हैं
इश्क़ के दीवाने,
आँखों को बंद करते हैं
दीदार के लिये

Ulti Hi Chal Chalate Hai
Ishq Ke Deewane
Ankho Ko Band Karate Hai
Deedaar Ke Liye

 

====

दूर रहकर भी हमसे वो गुनाह हो गया,

आपसे मिले बिना ही इश्क बेपनाह हो गया।

 

====

ये ठीक है नहीं मरता कोई जुदाई में

ख़ुदा किसी को किसी से मगर जुदा न करे

क़तील शिफ़ाई

====

गलत सुना था कि, इश्क
आँखों से होता है..
दिल तो वो भी ले जाते है,
जो पलकें तक नही उठाते

Galat Suna Tha Ki, Ishq
Ankho Se Hota Hain,
Dil To Wo Bhi Le Jate Hain,
Jo Palake Tak Nahi Uthate.

====

माना कि, ना देखा है, ना छुआ है, ना पाया है तुझको लेकिन,

तेरे इश्क़ में इबादत सा सुकूं आया है मुझको।

====

जाने कब उतरेगा क़र्ज़ उसकी मोहब्बत का . .
हर रोज आँसुओं से इश्क की किस्त भरते हैँ

 

====

इस तअल्लुक़ में नहीं मुमकिन तलाक़

ये मोहब्बत है कोई शादी नहीं

अनवर शऊर

====

मैंने जान बचा के रखी है, एक
जान के लिए,
इतना इश्क कैसे हो गया? एक
अनजान के लिए?

Maine Jaan Bacha Ke Rakkhi Hain,
Ek Jaan Ke Liye..
Itana Ishk Kaise Ho Gaya? Ek
Anjaan Ke Liye?

====
इश्क़ है तो शक कैसा
अगर नहीं है तो फिर हक कैसा..?

====

कतरा कतरा आग बन के
जला रही है यादे तेरी
बरस के इश्क तू भी
दिल की लगी बुझा

Katara=Katara Aag Ban Ke
Jala Rahi Hai Yaade Teri
Baras ke Ishk Tu Bhi
Dil Ki Lagi Bujhaa

====

ये इश्क तो बस एक अफवाह है,

इस दुनिया में किसे किसकी परवाह हैं।

 

====

 

तुम्हारा नाम आया और हम तकने लगे रस्ता

तुम्हारी याद आई और खिड़की खोल दी हम ने

मुनव्वर राना

====

नयनों से नैन मिलाकर, महोब्बत का इजहार करूँ
बन कर ओस की बुँदे., जिन्दगी तेरी गुलजार करूँ
संवर जाएगी तेरी मेरी जिन्दगी, इश्क के सफर में
थाम ले तू हाथ मेरा, मैं तेरे हर वादे पे ऐतबार करूँ

====

मंदिर=मस्जिद सब नाम के हैं,
खुदा से रूबरू होना है तो
इश्क़ कर.

Mandir=Maszid Sab Naam Ke Hai
Khuda Se Rubaru Hona Hai To
Ishq Kar

====

उसे पाना उसे खोना उसी के हिज्र में रोना,

यही गर इश्क है तो हम तन्हा ही अच्छे हैं।

 

====

ऐ इश्क मुझे अब और जख्म चाहिये…!!
मेरी शायरी मे अब वो बात नही रही…!!

====

इश्क़ को एक उम्र चाहिए और

उम्र का कोई ए’तिबार नहीं

जिगर बरेलवी

====

वो कहने लगी,
नकाब में भी पहचान लेते हो
हजारों के बीच ?
मैंने मुस्करा के कहा,
तेरी आँखों से ही शुरू हुआ था
इश्क हज़ारों के बीच.

Wo Khane Lagi ,
Nakab Me Bhi Pahchan Lete Ho
Hajaron Ke Bich?
Mene Muskra Ke Kha,
Teri Ankho Se Hi Suru Huwa Tha
Ishq Hajaron Ke Bich

====

अफीम सी है तेरी मोहब्बत,
वक़्त बेवक्त तलब उठती रहती है

Afim Si Hai Teri Mohabbat
Waqt Bewaqt Talab Uthati Rahati Hai

====

इश्क़ को पी जा, इश्क़ उतार अंदर,

तू बाकि ना रहे, रहे बस यार अंदर।

====

शायरी समझते हो जिसे तुम सब,
वो मेरी किसी से अधूरी मुलाकात है

Shayari Samjhate Ho Jise Tum Sab
Wo Meri Kisi Se Adhuri Mulakaat Hai

====
क्यूँ मेरी तरह रातों को रहता है परेशाँ

ऐ चाँद बता किस से तिरी आँख लड़ी है

साहिर लखनवी

====
इश्क सूफी है ना मुफ्ती है ना आलीम है
ये जालीम है बहूत जालीम है फकत जालीम है

====

नही पसन्द
इश्क मे मिलावट मुझको,
अगर वो मेरा है,
तो ख्वाब भी बस मेरे देखे

Nahi Pasand
Ishk Me Milawat Mujhako
Agar Wo Mera Hai
To Khwaab Bhi Bas Mere Dekhe

====

इश्क है तो इजहार करो इश्क है तो इजहार करो,

वरना हमने कब कहा तुम हमसे प्यार करो।

 

====

मेरी आँखों को तेरी आदत है,
तू ना दिखे तो इन्हें शिकायत है

Meri Ankhon Ko Teri Aadat Hai
Tu Naa Dikhe To Inhe Shikayat Hai

====

हुस्न को शर्मसार करना ही

इश्क़ का इंतिक़ाम होता है

असरार=उल=हक़ मजाज़

====

इश्क ओर दोस्ती मेरे दो जहान है,
इश्क मेरी रुह, तो दोस्ती मेरा ईमान है,
इश्क पर तो फिदा करदु अपनी पुरी जिंदगी,
पर दोस्ती पर, मेरा इश्क भी कुर्बान है

====

एक हम हैं
जो इश्क़ कि बारिश करते है,
एक तुम हो जो भीगने को
तैयार ही नहीं.

Ek Hum Hai
Jo Ishq Ki Barish Karte Hai,
Ek Tum Ho Jo Bhigne Ko
Tayar Hi Nahi.

====

तुम चाहो अगर तो लिख दो इश्क़ मेरी तक़दीर में​,

तुमसे खूबसूरत स्याही तो जन्नत में भी नहीं होगी।

 

====

खूबसूरत मैं नहीं ये तुम्हारा इश्क़ है…
जो नूर बनकर मेरी आँखों से छलकता है….

====

प्यार का पहला ख़त लिखने में वक़्त तो लगता है

नए परिंदों को उड़ने में वक़्त तो लगता है

हस्तीमल हस्ती
====

जुदा होकर भी
जुदाई नहीं होती इश्क
उम्र कैद है प्यारे इसमें
रिहाई नहीं होती

Juda Hokar Bhi
Juda Nahi Hota Ishq
Umra Kaid Hai Pyaare Isame
Rihayi Nhai Hoti

 

====

नादानियाँ झलकती हैं अभी भी मेरी आदतों से..!!
मैं खुद हैरान हूँ के मुझे इश्क़ हुआ कैसे….!!!!

====

वज़ाहत इसकी पूछोगे तो फिर लाज़िम है उलझोगे,

ये अक्सर बे=वजह होता है जिसको इश्क़ कहते हैं।

====

ये कैसी ख्वाहिश है कि
मिटती ही नहीं
जी भर के तुझे देख लिया फिर भी
नजर हटती नहीं..

Ye Kaisi Khwahish Hain Ki?
Mitati Hi Nahi
Jee Bhar Ke Tujhe Dekh Liya Fir Bhi
Nazar Hatati Nahi

====

प्यार का पहला इश्क़ का दूसरा मोहब्बत का तीसरा अक्षर अधूरा होता है

इसलिए हम तुम्हे चाहते है क्योंकि चाहत का हर अक्षर पूरा होता है ।?

====

 

इश्क़ माशूक़ इश्क़ आशिक़ है

यानी अपना ही मुब्तला है इश्क़

मीर तक़ी मीर

 

====

कमबख्त
आईने को भी
तुझसे, इश्क हो गया है,
देखो उसे भी हर पल तेरे,
दीदार का ही इन्तजार
रहता है

Kambkhat
Aayine Ko Bhi
Tujhse Ishk Ho Gaya Hai
Dekho Use Bhi Har Pal Tere
Deedaar Ka Hi Intzaar
Rahata Hai

====

तेरे बगैर इश्क़ हो.
तो कैसे हो
इबादत के लिए
ख़ुदा भी तो जरूरी होता है

Tere Bagair ishq Ho
To Kaise Ho?
Ibaadat Ke Liye
Khuda Bhi Jaruri Hota Hai

====

हमने हार भी क़ुबूल की जीत से जफा करके,

सुना था इश्क जंग है देखा इक दफा करके।

 

====

कभी रुक न सकेगा
तुमसे सिलसिला मेरी मोहब्बत का
ऐ जान. मेरा इश्क तेरी “हां” या “ना”
का मोहताज नही

Kabhi Ruk Naa Sakega
Tumase Silsila Meri Mohabbat Ka
E Jaan Mera Ishq Teri Haa Yaa Naa
Ka Mohataaz Nahi

====

लोग कहते हैं मोहब्बत में असर होता है

कौन से शहर में होता है किधर होता है

मुसहफ़ी ग़ुलाम हमदानी

====

मोहब्बत करने की बात होती तो
किसी से भी
कर लेते हम मगर.
जो मोहब्बत होने की बात है
वो बस तुमसे ही है मुझे

Mohabbat Karane Ki Baat Hoti To
Kisi Se Bhi Kar Lete Ham Magar
Jo Mohabbat Hone Ki Baat Hai
Wo Bas Tumase Hi Hain Mujhe

====

इश्क कर लीजिए बेइंतेहा किताबो से..
एक यही ऐसी चीज़ है जो अपनी बातों से पलटा नही करती.

====

दर्द होगा बे चैनी होगी बे करारी होगी

सुनो! अगर इश्क हो तो यह बीमारी होगी।

====

उतर भी आओ कभी आसमाँ के ज़ीने से

तुम्हें ख़ुदा ने हमारे लिए बनाया है

बशीर बद्र

====
प्यार था , मोहब्बत थी , इश्क़ था , अदा थी ,
सब कुछ था उस हसीन मैं !!
*
अगर वफ़ा होती तो कयामत होती ,,

====

इजहार ए इश्क करूँ या
पुछलूं तबियत उनकी
ऐ दिल कोई तो बहाना बता
उनसे बात करने का

Uzahaar=E=Ishq Karu Yaa
Puchh Lu Tabiyat Unaki
E Dil Koi To Bahaana Bata
Unase Baat Karane Ka?

====

जलाकर अपना कलेजा चाय को बांहों में भरता है,

कुल्हड़ जैसा इश्क़ भला कौन करता है।

====

इक रोज़ खेल खेल में हम उस के हो गए

और फिर तमाम उम्र किसी के नहीं हुए

विपुल कुमार

 

====

हमने हमारे इश्क़ का,
इज़हार यूँ किया,
फूलों से तेरा नाम, पत्थरों पे
लिख दिया.

Hamane Hamare Ishk Ka
Izahaar Yun Kiya
Phoolo Se Tera Naam Pattharo Pe
Likh Diya

====

वो करते हैं बात इश्क़ की,
पर इश्क़ के दर्द का उन्हें एहसास नहीं,

इश्क़ वो चाँद है जो दिखता तो है सबको,

पर उसे पाना सब के बस की बात नही..

====

हां फसाद है अफवाह है मुशरिकिनो में भी,

इश्क उरोज पे हो तो महबूब खुदा दिखता है।

====

उन्हीं रास्तों ने जिन पर कभी तुम थे साथ मेरे

मुझे रोक रोक पूछा तिरा हम=सफ़र कहाँ है

बशीर बद्र

====

हमें कहा मालूम था क़ि
इश्क़ होता क्या है
बस एक ‘तुम’ मिले
और ज़िन्दगी
मुहब्बत बन गई

Hame Kaha Malum Tha Ki
Ishq Hota Kya Hai?
Bs Ek Tum Mile
Aur Zindagi
Muhabbat Ban Gayi

====

 

तेरे उतारे हुये दिनों को पहनकर,

मैं हर रोज इश्क़ नया कर लेता हूँ।

====

चलो हम
मर जाते हैं तुम पर
बस ये बता दो. कि
दफन बाहों में करोगे या
सीने में

Chalo Ham
Mar Jaate Hai Tum Par
Bas Ye Bata Do Ki
Dafan Baaho Me Karoge Ya
Seene Me?

====

आधे से कुछ ज्यादा है,
पूरे से कुछ कम…
कुछ जिंदगी… कुछ गम,
कुछ इश्क… कुछ हम…

====
इश्क़ के शोले को भड़काओ कि कुछ रात कटे

दिल के अंगारे को दहकाओ कि कुछ रात कटे

मख़दूम मुहिउद्दीन

====

बंदगी में इश्क सी दीवानगी
पैदा करों,
एक दम दुआओं में असर
आ जाएगा.

Bandagi Me Ishq Si Deewanagi
Paida Karo
Ek=Dam Duaaon Me Asar
Aa Jaayega

====

मैं वो मजनू हूं जो इश्क के नारे मारू,

तो ठोकरे खाई हुई हर कब्र से लैला निकले।

 

====

वो कहता है की बता तेरा दर्द कैसे समझू ..
मैंने कहा की इश्क़ कर और कर के हार जा …!!

====

 

दुनिया के सितम याद न अपनी ही वफ़ा याद

अब मुझ को नहीं कुछ भी मोहब्बत के सिवा याद

जिगर मुरादाबादी

====

मैं कहाँ से लाऊँ कोई बताओ
कहाँ बिकता है
वो नसीब जो तुझे उम्र भर के लिए
मेरा कर दे

Mai Kaha Se Laau Koi Batao
Kaha Bikata Hai
Wo Nasheeb Jo Tujhe Umra Bhar Ke Liye
Mera Kar De

====

इश्क में इसलिए भी धोखा खानें लगें हैं लोग,

दिल की जगह जिस्म को चाहनें लगे हैं लोग..

====

इश्क ने देख क्या तबाही मचा रखी है।

आधी दुनिया पागल और आधी शायर बना रखी है।

====

किसी ने पूछा
कभी इश्क हुआ था,
हम मुस्कुरा के बोले
आज भी है.

Kisi Ne Punchha
Kabhi Ishq Hua Tha
Ham Muskura Ke Bole,
Aaj Bhi Hain

Ishq Shayari

====
इतनी शिकायत लाते
कहांं से हो
इश्क़ करते हो
या हिसाब करते हो

Itani Shikayat Laate
Kaha Se Ho?
ishk Karate Ho Ya
Hisab Karate Ho?

====

अहल=ए=हवस तो ख़ैर हवस में हुए ज़लील

वो भी हुए ख़राब, मोहब्बत जिन्हों ने की

अहमद मुश्ताक़

====
किसे पता था मैं इश्क करूंगा,
हकीम भी दवा नहीं देता
बच्चा समझकर.

Kise Pata Tha Main Ishq Karunga
Hakeem Bhi Dawa Nahi Deta
Bachcha Samjhke.

====

नहीं पसंद इश्क में मिलावट मुझको,

गर वो मेरी है तो खोवाब भी बस मेरा देखे।

====

इश्क ने कब इजाजत ली है आशिक़ों से

वो होता है, और होकर ही रहता है……

====

गर इश्क है तो फिर
बता दीजिए?
दिल को भा गए हो तो
मुस्कुरा दीजिए

Gar Ishk Hai To Fir
Bata Dijiye?
Dil Ko Bha Gaye Ho To
Muskura Dijiye

====

तुझ को पा कर भी न कम हो सकी बे=ताबी=ए=दिल

इतना आसान तिरे इश्क़ का ग़म था ही नहीं

फ़िराक़ गोरखपुरी

====

इश्क़ है अगर
तो शिकायत न कीजिए,
और शिकवे हैं तो मोहब्बत
न कीजिए

Ishq Hain Agar
To Shikayat Naa Kijiye
Aur Shikawe Hai To Mohabbat
Naa Kijiye

 

====

ताउम्र जलते रहे हैं धीमी धीमी आँच पर,

तभी ये इश्क़ और चाय मशहूर हुए हैं।

====
सच्चे इश्क में अल्फाज़ से ज्यादा..!
एहसास की एहमियत होती है…!।

====
पिघल रहे हैं हम
इक फ़ासले पे बैठे हुए
गले लगो कि ये
सीने की आग ठंडी हो

Pighal Rahe Hain Ham
Ek Faasale Pe Baithe Huye
Gale Lago Ki Ye Seene Ki Aag Thandi Ho

 

====

मेरे इश्क़ के तरीके
बेहद जुदा हैं.औरों से
मुझे तन्हा होने पर भी
इश्क़ करना आता है. तुमसे

Mere Ishk Ke Tarike
Behad Juda Hai Auro Se
Mujhe Tanha Hone Par Bhi
Ishk Karana Aata Hai Tumase

====

वो कहीं भी गया लौटा तो मिरे पास आया

बस यही बात है अच्छी मिरे हरजाई की

परवीन शाकिर

====
चाहने की वजह कुछ भी नहीं ,
बस इश्क
की फितरत है, बे= वजह होना… . !!

====
नज़र लग जाती है
हर खुबसूरत चीज़ को
काला धागा बांध दे कोई
मेरे इश्क़ को

Nazar Lag Jaati Hai
Har Khubsurat Chiz Ko
Kaala Ghaaga Bandh De Koi
Mere Ishk Ko

 

====
इश्क चाय का इस कदर हावी है,

दिमाग ताला है और चाय चाबी है।

 

====

तुम्हें चाहने की
वजह कुछ भी नहीं,
बस इश्क की फितरत है
बे=वजह होना

Tumhe Chahane Ki
Vajah Kuchh Bhi Nahi
Bas Ishq Ki Fitarat Hain
Be=Vajah Hona

 

====

मैं हर हाल में मुस्कुराता रहूँगा

तुम्हारी मोहब्बत अगर साथ होगी

बशीर बद्र

====

रहना यूं तेरे खयालों मे.. ये मेरी आदत है,
कोई कहता इश्क … कोई कहता इबादत है=

====

निगाहें तो बस ज़रिया हैं
इज़हार का
ज़रा. मेरे दिल में झांककर देख
एक दरिया हैं प्यार का

Nigaahe To Bas Jariya Hai
Izahaar Ka
Jara Dil Me Jhaak Kar Dekh
Ek Dareeya Hai Pyaar Ka

====

गजल=ए=उल्फत पढ़ लिया करो,
एक खुराक सुबह एक खुराक शाम,
ये वही दवा है
जिससे, बीमारे=इश्क को
मिलता है तुरंत आराम

Gazal=E=Ulfat Padh Liya Karo
Ek Khurak Subah Ek Khurak Shaam
Ye Wahi Dawa Hai
Jisase Bimaare=Ishq Ko
Milata Hai Turant Aaraam

====

बक्शीश मत दे मुझको को इन चंद मुलाकातों की,

गर इश्क है तो हर लम्हा इरफान के नाम कर।

 

====

वही कारवाँ वही रास्ते वही ज़िंदगी वही मरहले

मगर अपने अपने मक़ाम पर कभी तुम नहीं कभी हम नहीं

शकील बदायुनी

====
इन आँखो में कैद थे गुनाह ए इश्क कि सजा के बेहिसाब आंसु….
तेरी यादों ने आकर उनकी जमानत कर दी….

====

मैंने रंग दिया है
हर पन्ना तेरी यादों से,
मेरी किताबों से पूछ इश्क
किसे कहते हैं

Maine Rang Diya Hai
Har Panna Teri Yaadon Se
Meri Kitaabon Se Puchh Ishk
Kise Kahate Hai

====

ये इश्क़ मोहब्बत की रिवायत भी अजीब है,

पाया नहीं है जिसको उसे खोना भी नहीं चाहते।

====

जरुरी तो नहीं, हर चाहत का मतलब इश्क हो,

कभी कभी कुछ अनजान रिश्तों के लिए भी…

दिल बेचैन हो जाता है…!!!!

====

नाम होंटों पे तिरा आए तो राहत सी मिले

तू तसल्ली है दिलासा है दुआ है क्या है

नक़्श लायलपुरी

====
मेरी शायरी को
मेरा इश्क़ ना समझना
ये तो मेरे नादान दिल की ख्वाहिशें हैं
जो तुम्हें बयाँ करता हूँ

Meri Shayari Ko
Mera Ishq Na Samjhna
Ye To Mere Nadan Dil Ki Khwahishe Hai
Jo Tumhe Bayan Karata Hun

====

कत्ल किया था जिसने मेरी मासूम मुहब्बत का
वो बा=इज़्ज़त बरी है
और हम इश्क़ करके सारे शहर के गुनहगार हो गये

====

हुस्न के क़सीदे तो गढ़ती रहेगी महफ़िलें,

झुर्रियां भी प्यारी लगे तो समझ लेना इश्क़ है।

====

मुहब्बत की इन्तिहां न पूछिये।
इस प्यार की वजह न पूछिये।।
हर सांस मे समाये रहते हो।
कहां बसे हो तुम जगह न पूछिये

IMohabbat Ki Inthaan Na Puchhiye
Is Pyaar Ki Vajah Naa Puchhiye
Har Sans Me Samaaye Rahate Ho
Kaha Base Ho Tum Jagah Naa Puchhiye

====
इश्क़ करना तो
हम सिखाएंगे आपको.
जरा मेरा इश्क़ कुबूल तो
करके देखिये

Ishk Karana To
Ham Sikhayenge Aapko
Jara Mera Ishk Kabul To
Karake Dekhiye

 

====

मोहब्बत का तुम से असर क्या कहूँ

नज़र मिल गई दिल धड़कने लगा

अकबर इलाहाबादी

====

इश्क़ तो साहब यूं ही मुफ़्त में
बदनाम है
हुस्न खुद बे=ताब रहता है जलवा
दिखाने के लिए l

 

====
मत सिखाओ तुम
हमे मुहब्बत का बही खाता
हिसाब=ऐ=इश्क़ रखना
हम दीवानो को नही आता.

Mat Sikhao Tum
Hame Mohabbat Ka Bahi Khata
Hisab=E=Ishq Rakhana
Ham Deewano Ko Nahi Aata

====

तुम्हारा इश्क मेरे लिए हवा जैसा है,

जरा सा कम हो तो साँस रुकने लगती है।
====

जी भर के इश्क़ की नज़रों से
देखा है तुझे
घर जाते ही नज़र, अपनी
उतार लेना तुम

Jee Bhar Ke Ishk Ki Nazaro Se
Dekha Hai Tujhe
Ghar Jaate Hi Nazar Apani
Utaar Lena Tum

 

====

ओस से प्यास कहाँ बुझती है

मूसला=धार बरस मेरी जान

राजेन्द्र मनचंदा बानी

====

गलत सुना था कि,इश्क़ आँखों से होता हे
दिल तो वो भी ले जाते है,जो पलके तक नही उठाते हे

====

यकीन है मुझ पर तो
बेपनाह इश्क कर,
वफाए मेरी जवाब देगी
तू सवाल तो कर

Yakin Hai Mujhe Par To
Bepanaah Ishk Kar
Wafaaye Meri Jawab Degi
Tu Sawaal To Kar

 

====

बज़्म=ए=हिदायत से अपना क्या वास्ता साहब,

कि जिनको इश्क़ हो जाये वो सुधरा नहीं करते।

====

तुझे नाज है
तु हुस्न है .तेरे गुलिस्ता की
मुझे फक्र है मैं इश्क हूँ
तुझे तड़पा न दूं तो
कमाल क्या

Tujhe Naaz Hai
Tu Husn Hain Tere Gulista Ki
Mujhe Fakr Hai Main Ishq Hun
Tujhe Tadapa Na Du To
Kamaal Kya

====
कुछ खेल नहीं है इश्क़ करना

ये ज़िंदगी भर का रत=जगा है

अहमद नदीम क़ासमी

====
बैचेन है मेरा दिल
आपके महोब्बत मे

Baichain Hain Mera Dil
Aapke Mohabbat Me

====

इश्क़ के चर्चे भले ही सारी दुनिया में होते होंगे,

पर दिल तो ख़ामोशी से ही टूटते हैं….!!!!

====

 

मुझे इश्क़ की दुनिया का बादशाह बना दो यारों,

मै वादा करता हू बे वफाओं को सजाए मौत होगी।

 

====

ना ही हम तुम्हें खोना चाहते है,
ना ही हम किसी और के
होना चाहते है

Naa Hi Ham Tumhe Khona Chahate Hai
Naa Hi Ham Kisi Aur Ke
Hona Chahate Hai

====

क़ब्रों में नहीं हम को किताबों में उतारो

हम लोग मोहब्बत की कहानी में मरें हैं

एजाज तवक्कल

====
तुझे छूने की हसरत
ना जाने क्या ख़्वाब दिखा जाती है
आँखों में इन्तजार
और रातो की नींद उड़ा जाती है

Tujhe Chhune Ki Hasarat
Naa Jaane Kya Khwaab Dikha Jati Hai
Ankho Me Intzaar
Aur Raato Ki Neend Uda Jati Hai

====

इश्क़ का रोग उन के बस का नहीं
दूर से वो सलाम करते हैं

====
चाहत से फतेह कर लो
नजरों से करम
फरमाओ
इश्क़ इबादत है मेरी
हर दुआ में तुम नज़र आओ

Chahat Se Fateh Kar Lo
Nazaron Se Karam
Farmao
Ishq Ibadat Hai Meri
Har Duwa Me Tum Nazar Aao

====

ऐ इश्क!!
तेरा वकील बनके बुरा किया मैंने
.
यहां हर शायर तेरे खिलाफ सबूत लिए बैठा है

 

====

अभी ज़िंदा हूँ लेकिन सोचता रहता हूँ ख़ल्वत में

कि अब तक किस तमन्ना के सहारे जी लिया मैं ने

साहिर लुधियानवी

====

LoVe Status For GF In Hindi

====

दिवाना हर शख़्स को
बना देता है इश्क़,
सैर जन्नत की
करा देता है इश्क़,
मरीज हो अगर दिल के तो
कर लो इश्क़,
क्योंकि धड़कना दिलों को
सिखा देता है इश्क़

Deewana Har Shkhs Ko
Bana Deta Hai Ishk
Sair Jannat Ki
Kara Deta Hai Ishq
Mareej Ho Agar Dil Ke To
Kar Lo Ishk
Kyuki Dhdakana Dilo Ko
Sikha Deta Hai Ishk

====

तेरे ख़त में इश्क की गवाही आज भी है,
हर्फ़ धुंधले हो गए पर स्याही आज भी है।।

====

खुदा को याद करूँ
या याद करूँ तुम्हें?
जर्रे जर्रे में वो है
और कतरे कतरे में तुम.

Khuda Ko Yaad Karu
Ya Yaad Karu Tumhe?
Jarre=Jarre Me Wo Hai
Aur Katare=Katare Me Tum

====

मिरे सलीक़े से मेरी निभी मोहब्बत में

तमाम उम्र मैं नाकामियों से काम लिया

मीर तक़ी मीर

====
जूनून=ए=इश्क,
नहीं रास आया हमें,
जब भी देखा आइना,
अक्स उनका ही नजर आया हमें

Junun=E=Ishq
Nahi Raas Aaya Hame
Jab Bhi Dekha Aayina
Aks Unaka Hi Nazar Aaya Hame

 

====

तू यकीन करें या ना करें….तेरे साथ से मैं सवर गई….
तेरे इश्क के जूनून मे……मैं सारी हदों से गुजर गई.

====

सुनो
“जाने अनजाने में क्या से क्या हो गया,
I Am Sorry पर तुमसे प्यार हो गया

Jaane Anjaane Me Kya Se Kya Ho Gaya
I Am Sorry Par Tumase Pyaar Ho Gaya

====

Love Status For Whatsapp Facebook

====

जो दिल रखते हैं सीने में वो काफ़िर हो नहीं सकते

मोहब्बत दीन होती है वफ़ा ईमान होती है

आरज़ू लखनवी

====

 

किसी को इश्क़ की अच्छाई ने मार डाला,
किसी को इश्क़ की गहराई ने मार डाला,
करके इश्क़ कोई ना बच सका,
जो बच गया उससे तन्हाई ने मार डाला.

====

दिल एक है तो
कई बार क्यों लगाया जाए,
बस एक इश्क ही काफी है
अगर निभाया जाए

Dil Ek Hai To
Kati Baar Kyu Lagaya Jaay
Bas Ek Ishq Hi Kafi Hai
Agar Nibhaya Jaay

 

====

मुझसा कोई
जहान में नादान भी ना होगा
करके जो इश्क कहता है,
कोई नुकसान भी ना होगा.

Mujhsa Koi
Jhaan Me Nadaan Bhi Na Hoga
Karake Jo Ishq Kahata hai
Koi Nuksaan Bhi Na Hoga

 

====

आँखों के सामने हर पल आपको पाया हैं
अपने दिल में सिर्फ आपको ही बसाया हैं
आपके बिना हम जिए भी तो कैसे
भला जान के बिना भी कोई जी पाया है

Ankho Ke Samane Har=Pal Aapko Paya Hain
Apane Dil Me Sirf Aapko Hi Basaaya Hai
Aapke Bina Ham Jiye Bhi To Kaise
Bhala Jaan KE Bina Koi Jee Paya Hai

====

इश्क़ में कौन बता सकता है

किस ने किस से सच बोला है

अहमद मुश्ताक़

====

बरबाद कर देती है मोहब्बत हर मोहब्बत करने वाले को

इश्क़ हार नही मानता और दिल बात नही मानता..!!

====

हम नींद से उठकर, इधर=उधर ढूंढते हैं तुझे,
क्यों ख्वाबों में मेरे, इतने करीब चले आते हो तुम

Ham Nind Se Uthakar, Idhar Udhar Dhundhate Hain Tujhe,
Kyu Khwabon Me Mere, Itane Kareeb Chale Aate Ho

====
किताबें इश्क की पढकर
ना समझो खुद को
आशिक़,
ये दिल का काम,
दिल वालों को करने दो
तो अच्छा है.

Kitabe Ishq Ki Padhkar
Na Samjho Khud Ko
Aashik
Ye Dil Ka Kaam
Dilwalo Ko Karane Do
To Achchha Hai

====

सबको प्यारी है अपनी ज़िन्दगी,
पर तु मुझे ज़िन्दगी से भी प्यारी है.

Sabako Pyari Hain Apani Zindagi,
Par Tu Mujhe Zindagi Se Bhi Pyari Hai.

====

मोहब्बत सोज़ भी है साज़ भी है

ख़मोशी भी है ये आवाज़ भी है

अर्श मलसियानी

====

दुनिया में तेरे इश्क़ का चर्चा ना करेंगे,

मर जायेंगे लेकिन तुझे रुस्वा ना करेंगे,

गुस्ताख़ निगाहों से अगर तुमको गिला है,

हम दूर से भी अब तुम्हें देखा ना करेंगे।
====
प्यार करना सिखा है नफरतो की कोई जगह नही,
बस तु ही तु है इस दिल मे, दूसरा कोई और नही

Pyar Karana Sikha Hain,
Nafarato Ki Koi Jagah Nahi.
Bas Tu Hi Tu Hai Is Dil Me, Dusara Koi Aur Nahi..

====

लम्हों का
इश्क नही, सदियों की इबादत है
कैसे करें शिकायत, हर साँस को
तेरी चाहत है

Lamho Ka
Ishk Nahi, Sadiyo Ki Ibadat Hai
Kaise Kare Shikayat, Har Sans Ko
Teri Chahat Hai

====

बदल जाती है ज़िंदगी की हक़ीक़त,
जब तुम मुस्कुराकर कहते हो तुम बहुत प्यारे हो

Badal Jati Hai Zindagi Ki Haqikat,
Jab Tum Muskura Kar Kahate Ho, Tum Bahut Pyare Ho.

====

तलाक़ दे तो रहे हो इताब=ओ=क़हर के साथ

मिरा शबाब भी लौटा दो मेरी महर के साथ

साजिद सजनी

====
झुका ली उन्होंने नज़रे जब मेरा नाम आया ‪
इश्क़ मेरा नाकाम ही सही पर कही तो काम आया

 

====

ना जाने क्यों तुझे देखने के बाद भी,
तुझे ही देखने की चाहत रहती है.

Na Jane Kyu Tujhe Dekhane Ke Baad Bhi,
Tujhe Hi Dekhane Ki Chahat Rahati Hai.

====

इश्क़
हुआ है तुमसे,
बस यही ख़ता है मेरी.
तुम दिल हो, तुम मोहब्बत हो,
और तुम ही कमजोरी हो मेरी

Ishq Hua Hai Tumse
Bas Yahi Khata Hai Meri
Tum Dil Ho, Tum Mohabbat Ho
Aur Tum Hi Kamjori Ho Meri

====

यूँ सामने आ कर आप बैठा ना कीजिये,
सब्र तो सब्र ही है, हर बार नहीँ होता.

Yun Samane Aa Kar Aap Baitha Naa Kijiye,
Sabr To Sabr Hi Hai, Har Baar Nahi Hota.

====

बुलबुल के कारोबार पे हैं ख़ंदा=हा=ए=गुल

कहते हैं जिस को इश्क़ ख़लल है दिमाग़ का

मिर्ज़ा ग़ालिब
====

तुम हक़ीक़त=ए=इश्क़ हों या फ़रेब मेरी आँखों का,
न दिल से निकलते हो न मेरी ज़िन्दगी में आते हो…

====

कैसे बदल दूं मैं फितरत ये अपनी,
मुझे तुम्हें सोचते रहने की आदत सी हो गई है..

Kaise Badal Du Main Fitarat Ye Apani,
Mujhe Tumhe Sochate Rahane Ki Aadat Si Ho Gayi Hai.

====

मोहब्बत‬ नही थी तो एक बार समझाया‬ तो होता…
बेचारा‬ दिल तुम्हारी ‪#‎ख़ामोशी‬ को ‪इश्क़‬ समझ बैठा..!!

====

मैंने जान बचा के रखी है,
एक जान के लिए
.इतना इश्क कैसे हो गया
एक अनजान के लिए

Maine Ek Jaan Bacha Rakhi Hai
Ek Jaan Ke Liye
Itana ishk kaise Ho Gaya
Ek Anjaan Ke Liye?

====

इश्क़ में बू है किबरियाई की

आशिक़ी जिस ने की ख़ुदाई की

बक़ा उल्लाह ‘बक़ा’

====

कितनी मासुम है दिल की
ख्वाहिश…….
इश्क भी करना चाहता है और
खुश भी रहना चाहता है…..!

====

में तेरी ज़ुल्फ़ों और आँखो में खोया सा रहता हूँ,
बस इसी तरह ज़िंदगी को जीना चाहता हूँ.

Mai Teri Julfo Aur Ankhon Me Khoya Sa Rahata Hun,
Bas Isi Tarah Zindagi Ko Jeena Chata Hun.

====

तुम समझो गर ये ख़ालीपन
तो कोई बात भी बने,
के बातें बेवजह भी ज़रूरी है
कभी कभी इश्क़ में.

Tum Samjho Gar Ye Khalipan
To Koi Baat Bhi Bane
Ke Baate Bevajah Bhi Jaruri Hai
Kabhi Kabhi Ishq Me

====

दिल को छु जाती है,
एक तुम और एक बाते तुम्हारी

Dil Ko Chhu Jati Hai,
Ek Tum Aur Ek Baate Tumhari.

====

 

====

जज़्बा=ए=इश्क़ सलामत है तो इंशा=अल्लाह

कच्चे धागे से चले आएँगे सरकार बंधे

इंशा अल्लाह ख़ान इंशा

====

तेरी बातों में जिक्र मेरा….मेरी बातों में जिक्र तेरा….अजब सा ये इश्क हैं….ना तु मेरी ना मैं तेरा ♡♡

====
हमे क्या मालूम था इश्क होता क्या है
बस तुम मिले और जिन्दगी मोहब्बत बन गई

Hame Kya Malum Tha Ishk Hota Kya Hai
Bas Tum Mile Aur Zindagi Mohabbat Ban Gayi..

 

====

इश्क़ तो सिर्फ़ मुझे हुआ था ,.
उसे तो कुछ पल का
नशा हुआ था

Ishq To Sirf Mujhe Hua Tha
Use To Kuchh Pal Ka
Nasha Huaa Tha.

====

कमबख्त आईने को भी तुझसे, इश्क हो गया है,
देखो उसे भी हर पल तेरे, दीदार का ही इन्तजार रहता है

Kambakht Aayine Ko Bhi, Tujhase Ishk Ho Gaya Hai.
Dekho Use Bhi Har Pal Tere, Deedar Ka Intzaar Rahata Hai.

====

मैं चाहता हूँ कि तुम ही मुझे इजाज़त दो

तुम्हारी तरह से कोई गले लगाए मुझे

बशीर बद्र

====

वो कहते है भूल जाओ पुरानी बातों को…..
कोई उसे समझाये कि इश्क़ कभी पुराना नहीं होता..||||

====

वैसे तो दिखे लाखों हसीन चेहरे,
मगर तेरे सिवा कोई जंचा ही नहीं.

Vaise To Dikhe Lakho Hasin Chehare,
Magar Tere Siwa Koi Jancha Hi Nahi.

 

====

बहुत थे मेरे भी
इस दुनिया में अपने,
फिर हुआ इश्क
और हम अकेले हो गए

Bahut The Mere Bhi
Is Duniya Me Apne
Fir Hua Ishq
Aur Ham Akele Ho Gaye

====

इक इश्क़ का ग़म आफ़त और उस पे ये दिल आफ़त

या ग़म न दिया होता या दिल न दिया होता

चराग़ हसन हसरत

 

====

खतम हो गई कहानी, बस कुछ अलफाज
बाकी हैं,,
.
एक अधूरे इश्क की एक मुकम्मल सी याद बाकी है,,
.
====

ना जाने कौन सी दौलत है तेरे लफ़्जों में
बात करते हो तो दिल खरीद लेते हो..

Naa Jane Kaun Si Daulat Hai Tere Lafzo Me
Baat Karate Ho To Dil Kharid Lete Ho.

====

इश्क़ है या इबादत अब कुछ समझ नहीं आता,एक खूबसूरत ख्याल हो तुम जो दिल से नहीं जाता।

====

इश्क की चोट
का कुछ दिल पर असर हो तो सही,
दर्द कम हो या ज्यदा हो
मगर हो तो सही

Ishq Ki Chot
Ka Kuchh Dil Par Asar Ho To Sahi
Dard Kam Ho Yaa Jyaada Ho
Magar Ho To Sahi

====

अब तो आँखों के डॉक्टर भी मरीज हो गये,
तेरी जादू भरी आँखों को देखा हैं ज़ब से..

Ab To Ankhon Ke Dr. Bhi Marij Ho Gaye,
Teri Jadu Bhari Ankho Ko Dekha Hain Jab Se.

====

जिसे इश्क़ का तीर कारी लगे

उसे ज़िंदगी क्यूँ न भारी लगे

वली मोहम्मद वली

====

इश्क़ पाने की तमन्ना में कभी कभी ज़िंदगी…
….
खिलौना बन जाती है…
….

जिसे दिल में बसाना चाहते हैं वो सूरत
.
सिर्फ याद बन जाती है…..!!

====

नादानियां झलकती है अभी भी मेरी आदतो से,
मैं खुद हैरान हूँ मुझे इश्क़ हुआ तो हुआ कैसे

Nadaniyan Jhalakati Hai Abhi Bhi Meri Aadato Se,
Mai Khud Pareshan Hun,
Mujhe Ishk Hua To Hua Kaise

 

====

हम
बने थे तबाह होने को,

आपका इश्क़ तो बहाना था.

Ham
Bane The Tabah Hone Ko,
Aapka Ishk To Bahana Tha.

 

====

बाज़ार के रंगों से मुझे रंगने की ज़रूरत नही,
तेरी याद आते ही ये चेहरा गुलाबी हो जाता है.

Baazar Ke Rangon Se Mujhe Rangane Ki Jarurat Nahi,
Teri Yaad Aate Hi Ye Chaihara Gulabi Ho Jata Hain.

====

हिज्र को हौसला और वस्ल को फ़ुर्सत दरकार

इक मोहब्बत के लिए एक जवानी कम है

अब्बास ताबिश

====

ऐसा भी क्या रिश्ता है तुमसे
गुफ्तगू ना हो तो बेचैन से रहते है हम.

Yesa Bhi Kya Rishta Hai Tumase
Guftgu Na Ho To Baichain Se Rahate Hai Ham.

====

इश्क़ पर ज़ोर नहीं है
ये वो आतिश ‘ग़ालिब’
कि लगाए न लगे
और बुझाए न बने
..

मिर्ज़ा ग़ालिब

Ishk Par Jor Nahi Hai
Ye Wo Aatish Galib
Ki Lagaye Naa Lage
Aur Bujhaye Na Bane

====
अच्छा लगता है मेरे होठों पर रख कर अपनी उंगली,
जब बोलते हो तुम, अब चुप भी रहो तुम.

Aachchha Lagata Hain Mere Hotho Par Rakh Kar,
Apani Ungali,
Jab Bolate Ho Tum Ab Chup Bhi Raho Tum.

 

वो मौहब्बत ही क्या जिसमें आप ना हो
वो आप ही क्या जिसमें हम ना हो.

Wo Mohabbat Hi Kya Jisame Aap Na Ho
Wo Aap Hi Kya Jisame Ham Na Ho.

====
बंद कर दिए हैं हमने तो दरवाजे इश्क केपर कमबख़्त तेरी यादें तो दरारों से ही चली आई..

====

इधर आ रक़ीब मेरे मैं तुझे गले लगा लूँ

मिरा इश्क़ बे=मज़ा था तिरी दुश्मनी से पहले

कैफ़ भोपाली

====

kitane masum hai dil kekhvahish…….ishk bhe karana chahata hai aurakhush bhe rahana chahata hai…..!***

====

गमगीन से
गमहीन होना चाहता हूँ
अब मैं खुद से इश्क़ करना चाहता हूँ

Gamgeen Se
Gamheen Hona Chahata Hun
Ab Main Khud Se Ishk Karana Chahata Hun

 

====
इश्क मुहब्बत क्या है मुझे नही मालूम ? .
बस तुम्हारी याद आती है, सीधी सी बात है.

Ishk Mohabbat Kya Hai Mujhe Nhi Malum
Bas Tumhari Yaad Aati Hai, Sidhi Si Baat Hai.

====

Ishq Quotes In Hindi

====

एक बार उलझना चाहते हैं तुम्हारे इश्क़ में हम ✧बहुत कुछ सुलझाने के लिए..

====

मुझ से तू पूछने आया है वफ़ा के मअ’नी

ये तिरी सादा=दिली मार न डाले मुझ को

क़तील शिफ़ाई

====
tere baton mein jikr mera….mere baton mein jikr tera….ajab sa ye ishk hain….na tu mere na main tera ♡♡***

====
इश्क़ से क़ातिल
कोई नशा नहीं जनाब,
घूँट=घूँट पीते है और
कतरा कतरा मरते है

Ishk Se Qatil
Koi Nasha Nahi Janab
Ghut=Ghut Peete Hai Aur
Kataraa=Kataraa Marate Hai

====

इश्क में जिसने भी बुरा हाल बना रखा है..वही कहता है, अजी इश्क में क्या रखा है।

====
जुबां कह न पाई मगर,
आँखे बोलती ही रही,
कि मुझे सांसो से पहले तेरी जरूरत है..

Juba Kah Na Payi Magar,
Ankhe Bolati Hi Rahi.
Ki Mujhe Sanso Se Pahle Teri Jarurat Hai.

 

====

तुम्हारा नाम लिखने की इजाज़त छिन गई जब से

कोई भी लफ़्ज़ लिखता हूँ तो आँखें भीग जाती हैं

वसी शाह

====

vo kahate hai bhool jao purane baton ko…..koe use samajhaye ki ishq kabhe purana nahin hota..||||**

====

शायरी उसी के लबों पर
सजती है साहिब
जिसकी आँखों में
इश्क़ रोता हो

Shayari Usi Ke Labo Par
Sajati Hai Sahib
Jisaki Ankho Me
Ishk Rota Hai

====

कैसे कहूँ कि,
इस दिल के लिए कितने खास हो तुम.
फासले तो कदमों के हैं,
पर, हर वक्त दिल के पास हो तुम.

Kaise Kahu Ki,
Is Dil Ke Liye Kitane Khas Ho Tum.
Fasale To Kadamo Ke Hai,
Par Har Waqt Dil Ke Paas Ho Tum.

====

करूँगा क्या – जो मोहब्बत में हो गया नाकाम।,मुझे तो और कोई काम भी नहीं आता।

====

मोहब्बत में ये क्या मक़ाम आ रहे हैं

कि मंज़िल पे हैं और चले जा रहे हैं

जिगर मुरादाबादी

 

====

khatam ho gae kahane, bas kuchh alafajabake hain,,..ek adhoore ishk ke ek mukammal se yad bake hai,,.***

====

घुटन सी होने लगी है,
इश्क़ जताते हुए,

मैं खुद से रूठ जाता हूँ,

तुम्हे मनाते हुए

Ghutan Si Hone Lagi Hai
Ishk Jatate Huye
Main Khud Se Ruth Jata Hun
Tumhe Mante Huye

====

सिर्फ सितारों में ही होती मोहब्बत अगर,तो इन अल्फाजों को खूबसूरती कौन देता,बस पत्थर बनकर रह जाता ताजमहल,अगर इश्क़ इसे अपनी पहचान ना देता।

====

अब तो इन आँखों से भी जलन होती है मुझे,
खुली हों तो तलाश तेरी, बंद हों तो ख्वाब तेरे.

Ab To In Ankhon Se Bhi Jalan Hoti Hai Mujhe,
Khuli Ho To Talash Teri,
Band Ho To Khwab Tere.

====

राह यूँ ही नामुक्क्मल, ग़म=ए=इश्क का फ़साना,मुझ को नींद नहीं आयी, सो गया ज़माना।

====

मुझे आ गया यक़ीं सा कि यही है मेरी मंज़िल

सर=ए=राह जब किसी ने मुझे दफ़अतन पुकारा

शकील बदायुनी

====

ishq pane ke tamanna mein kabhe kabhe zindage…….khilauna ban jate hai…….jise dil mein basana chahate hain vo soorat….sirf yad ban jate hai…..!!**

====

देखते हैं
अब क्या मुकाम आता है साहब,
सूखे पत्ते को इश्क हुआ है
बहती हवा से

Dekhate Hai
Ab Kya Mukaam Aata Hai Sahab
Sukhe Patte Ko Ishk Hua Hai
Bahati Hawa Se

 

====

इश्क की गहराईयों में.. खूबसूरत क्या है..!!एक मैं हूँ, एक तुम हो और ज़रुरत क्या है..!!

====

मैं वक्त बन जाऊं, तु बन जाना कोई लम्हा,
मैं तुझमे गुजर जाऊं,तु मुझमे गुजर जाना

Mai Waqt Ban Jau, Tu Ban Jana Koi Lamha,
Mai Tujhame Guzar Jau, Tu Mujhame Guzar Jana.

====

इश्क़ की कोई मंजिल नहीं होती..!!बस सफर ही खूबसूरत होता है

====

हम बहुत दूर निकल आए हैं चलते चलते

अब ठहर जाएँ कहीं शाम के ढलते ढलते

इक़बाल अज़ीम

====

*na ah sunae de na tadap dikhae de….!!barbad ho gae tere ishk mein ham bade khamoshe ke sath….!!***
====

हुस्न वाले
वफ़ा नहीं करते,
इश्क वाले दगा नहीं करते,
जुल्म करना तो इनकी आदत है,
ये किसी का भला नहीं करते

Husn Wale
Wafa Nahi Karate
Ishk Wale Daga NAHI karate
Zulm Karana To Inaki Aadat Hai
Ye Kisi Ka Bhala Nahi Karate

====

रब ना करें इश्क की,कमी किसी को सताए,प्यार करो उसी से जो तुम्हें,दिल की हर बत बताए।

====

ये आईने नही दे सकते तुझे तेरे हुस्न की ख़बर,
कभी मेरी इन आँखों से आकर पूछ तुम कितनी हसीन हो

====

जाती है धूप उजले परों को समेट के

ज़ख़्मों को अब गिनूँगा मैं बिस्तर पे लेट के

शकेब जलाली

====

dil ishk sebandha hua ekajidde parinda hai !ummedon se he ghayal haiummedon par he jinda !!***

====
इश्क को भी इश्क हो तो
फिर मैं देखूं इश्क को भी,
कैसे तड़पे कैसे रोये,
इश्क अपने इश्क में

Ishk Ko Bhi Ishk Ho To
Fir Main Dekhu Ishk Ko Bhi
Kaise Tadape Kaise Roye
Ishk Apane Ishk Me

====

मेरी रूह गुलाम हो गयी है, तेरे इश्क़ में शायद,वरना यूं छटपटाना मेरी आदत तो ना थी।

====

आँखों पर तेरी निगाहों ने दस्तख़त क्या किए…
हमने साँसों की वसीयत तुम्हारे नाम कर दी

Ankho Par Teri Nigaho Ne Dastakhat Kya Diye,
Hamane Sanson Ki Vasihat Tumhare Naam Kar Di.

====

इश्क में तेरे जागा वर्षों और तन्हाई बनी रही,धूप रही मेरे चौतरफा पर पुरबाई बनी रही।

====

हुस्न यूँ इश्क़ से नाराज़ है अब

फूल ख़ुश्बू से ख़फ़ा हो जैसे

इफ़्तिख़ार आज़मी

====

husn ke mallika ho ya sanvale se soorat…!!ishk agar rooh se ho to har chehara kamal lagata hai…!!***

====

बढती उमर का इश्क
और ढलती उमर की ख्वाहिश
खूबसुरत जिस्म नही,
खूबसुरत साथ ढूंढता है

Badhati Umr Ka Ishk
Aur Dhalati Umr Ki Khwahishe
Khubsurat Zism Nahi
Khubsurat Sath Dhundhata Hai

 

====

दिल धड़कता है तो डर सा लगा रहता है,
कोई सुन ना ले, मेरी धड़कन मे नाम तेरा.

Dil Dhadakata Hai To Dar Sa Laga Rahata Hai,
Koi Sun Naa Le, Meri Dhadakan Me Naam Tera.

====

Ghalib Ishq Shayari

====

जूनून=ए=इश्क, नहीं रास आया हमें,जब भी देखा आइना, अक्स उनका ही नजर आया हमें।

====

रहेगा साथ तिरा प्यार ज़िंदगी बन कर

ये और बात मिरी ज़िंदगी वफ़ा न करे

क़तील शिफ़ाई

====

ishk hindi shayari ishk ka samandar bhe kya samandar hai, jo doob gaya vo ashik jo bach gaya vo devana***

====
खता=मत=गिन
इश्क़ में
किसने क्या गुनाह किया
इश्क़ इक नशा था जो
तूने भी किया और मैंने भी किया

Khata Mat Gin
Ishk Me
Kisane Kya Gunaah Kiya
Ishk Ek Nasha Tha Jo
Tune Bhi Kiya Maine Bhi Kiya

Ishq Shayari Urdu

====

खतम हो गई कहानी, बस कुछ अलफाज बाकी हैं;एक अधूरे इश्क की एक मुकम्मल सी याद बाकी है।

====

बहक ना जाए कहीं लौ की नीयत,
होठों से दिया तु बुझाया ना कर..!!

====

लफ्ज़ बीमार से पड़ गये है आज कल,
एक खुराक तेरे दीदार की चाहिए.

Lafz Bimar Se Pad Gaye Hai Aaj Kal,
Ek Khurak Tere Deedar Ki Chahiye.

====

मुश्किल था कुछ तो इश्क़ की बाज़ी को जीतना

कुछ जीतने के ख़ौफ़ से हारे चले गए

शकील बदायुनी

====

ये इश्क है यूँ ना दिल से उछल
साकी से अपने जुडता जा
ये राह है उसकी राह गुजर
न राह से अपनी उडता जा….

====

मत ज़िक्र करो
अपने अदा के बारे मे,
हम भी बहुत जानते हैं
वफ़ा के बारे मे,
हमने सुना हैं
उन्हे भी इश्क़ का नशा छाया हैं
जो नही जानते कुछ भी
वफ़ा के बारे मे.

Mat Zikr Karo
Apane Adaa Ke Baare Me
Ham Bhi Bahut Jaanate Hai
Wafa Ke Baare Me
Hamane Suna Hai
Unhe Bhi Ishk Ka Nasha Chhaya Hai
Jo Nahi Janate Kuchh Bhi
Wafa Ke Baare Me

====

लाजमी नहीं के तुझे आँखों से देखूं ,
तुझे सोचना भी तेरे दीदार से कम नहीं.

Lazami Nahi Ke Tujhe Ankhon Se Dukhu,
Tujhe Sochana Bhi Tere Deedaar Se Kam Nahi.

====

वो अच्छे हैं तो बेहतर है बुरे हैं तो भी कुबूल,मिजाज=ए=इश्क में ऐब=ओ=हुनर देखे नहीं जाते..

====

पहले बड़ी रग़बत थी तिरे नाम से मुझ को

अब सुन के तिरा नाम मैं कुछ सोच रहा हूँ

अब्दुल हमीद अदम

====

तेरी याद आई इस कदर आई
दिल को सुकून ना मिल पाया
फिर जब सोचा तेरी बेवफाई को
तब दिल सराब में उतर आया

====

इश्क मुहब्बत तो सब करते हैं,
गम=ऐ=जुदाई से सब डरते हैं,
हम तो न इश्क करते हैं न मुहब्बत,
हम तो बस आपकी एक मुस्कुराहट
पाने के लिए तरसते हैं

Ishk Mohabbat To Sab Karate Hai
Gam=E=Judayi Se Sab Darate Hai
Ham To Na Ishk Karate Hain Naa Mohabbat
Ham To Bas Aapki Ek Muskurahat
Paane Ko Tarsate Hai

 

====

पता नहीं, इश्क़ है या कुछ और,पर तेरी परवाह करना, अच्छा लगता है मुझे।

====

अचानक‬ चौँक उठे “नींद’ से हम,
किसी ने ‪‎शरारत‬ से कह दिया
सुनो..
वो मिलने ‪‎आयी‬ हैं.

Achanak Chauk Uthe Need Se Ham,
Kisi Ne Shararat Se Kah Diya
Suno Wo Milane Aayi Hai.

====

लफ्ज़ो से तुम मेरी तारीफ कर लो,इश्क़ हम तेरी आँखों में ढूंढ लेंगे।

====

कहीं ये अपनी मोहब्बत की इंतिहा तो नहीं

बहुत दिनों से तिरी याद भी नहीं आई

अहमद राही

====

कभी कभी सुलझ कर भी
अनसुलझा सा हो जाता हूं
तेरी याद आती है जब भी
पलकें भिगोकर सो जाता हूं

====

मेरी आँखों में मत ढूंढा करो खुद को
पता है ना दिल में रहते हो खुदा की तरह

Meri Ankho Me Mat Dhundha Karo Khud Ko,
Pata Hain Na Dil Me Rahate Ho Khuda Ki Tarah.

====

सीने में जलन आँखों में तूफ़ान क्यों होता है,इस आशिकी में हर आदमी परेशान क्यों होता है।

====

इश्क़ की हर दास्ताँ में एक ही नुक्ता मिला

इश्क़ का माज़ी हुआ करता है मुस्तक़बिल नहीं

====

Ishq Karna hai to dard bhi sahna seekho…

Warna aesa kro aaukaat me rahna seekho…

====
हर धड़कन में
एक राज़ होता है,
हर बात कहने का एक अंदाज़ होता है.
जब तक ठोकर न लगे इश्क़ में,
हर किसी को अपने महबूब पे
नाज़ होता है.

Har Dhadakan Me
Ek Raaz Hota Hai
Har Baat Kahane Ka Ek Andaaz Hota Hai
Jab Tak Thokar Naa Lage Ishk Me
Har Kisi Ko Apane Mahbub Pe
Naaz Hota Hai

====

खुद से भी बढ़कर मैने तेरी चाहत की है
हाँ प्यार नहीं, ईश्क नहीं, ईबादत की है.

Khud Se Bhi Badhkar Maine Teri Chahat Ki Hai,
Ha Pyar Nahi, Ishk Nahi, Ibadat Ki Hai.

 

====

तुम से मिल कर इमली मीठी लगती है

तुम से बिछड़ कर शहद भी खारा लगता है

कैफ़ भोपाली

====

इश्क ज़िस्मानी खेल बन के
रह गया,
पनघट किनारे इंतजार करने के
ज़माने चले गये.

Ishk Zismaani Khel Ban Ke
Rah Gaya
Panghat Kinaare Intzaar Karane Ke
Zamaane Chale Gaye

 

 

 

====
तुम्हारी फ़िक्र हे मुझे शक नहीं,
तुम्हे कोई और देखे ये किसी को हक़ नहीं.

Tumhari Fikr Hai Mujhe Shak Nahi,
Tumhe Koi Aur Dekhe Ye Kisi Ko Haq Nahi.

====

इश्क कर लिजीए बेइन्तेहा ~किताबोँ~ से,जिन्दगी के पन्ने इन्ही से मुक्कमल होते हैं।

====

एक पल की जुदाई ग़वारा ना कर सके,
ऐसा इश्क़ हम दोबारा ना कर सके,
जान तक लुटा दी उन के प्यार में मगर,
एक दिल ही वो अपना हमारा ना कर सके..!!

====

कू=ब=कू फैल गई बात शनासाई की

उस ने ख़ुश्बू की तरह मेरी पज़ीराई की

परवीन शाकिर

====

उसके इश्क में मुकाम की चाह कुछ इस कदर है,
कि उसकी बेवफाई में भी नादानी नज़र आती हैं।

====

किसे मालूम था
इश्क़ इस कदर लाचार करता है,
दिल उसे जानता है बेवफा है,
मगर प्यार करता है.

Kise Malum Tha
Ishk Is Kadar Laachaar Karta Hai
Dil Janata Hai Bewafa Hai
Magar Use Hi Pyaar Karata Hai.

====

मेरे होठों पे उँगलियाँ क्यूँ रख दी तुमने सनम,
चुप ही कराना था तो होठ रख देती.

Mere Hotho Pe Ungali Kyu Rakh Di Tumane Sanam,
Chup Hi Karana Tha To Hoth Rakh Deti.
====

इश्क़ ने हमे बेनाम कर दिया,हर खुशी से हमे अंजान कर दिया,हमने तो कभी नही चाहा की हमे भी मोहब्बत हो,लेकिन तुम्हारी एक नज़र ने हमे नीलाम कर दिया…

====

दिल के दो हिस्से जो कर डाले थे हुस्न=ओ=इश्क़ ने

एक सहरा बन गया और एक गुलशन हो गया

नूह नारवी

====

पहले इश्क
फिर धोखा फिर बेवफ़ाई,
बड़ी तरकीब से एक शख्स ने
तबाह किया.

====

Ishq Sad Shayari

Pahale Ishk
Fir Dhokha Fir Bewafayi
Badi Tarkib Se Ek Shkhs Ne
Tabaah Kiya

 

====

इश्क़ एक सच था तुझसे जो बोला नहीं कभी,इश्क़ अब तो वो झूट है जो बहुत बोलता हूँ मैं..

====

ये वफ़ा की सख़्त राहें ये तुम्हारे पाँव नाज़ुक

न लो इंतिक़ाम मुझ से मिरे साथ साथ चल के

ख़ुमार बाराबंकवी

====

इश्क से बचिए जनाब,
सुना है धीमी मौत है ये.

Ishk Se Bachiye Janaab
Suna Hai Dheemi Maut Hai Ye

 

====

इश्क एक नशा है, दिल का चाहत है,दिलों का सरूर प्यार हो जाता है,नजरों से किसकी खता किसका कसूर।

====

मुझे अभी किसीने याद किया क्या
बहुत हिचकी आ रही है.

Abhi Kisi Ne Yaad Kiya Kya
Bahut Hichaki Aa Rahi Hai.

 

====

अब छोड़ दिया है इश्क़ का स्कूल हमने भी,
हमसे अब मोहब्बत की फीस अदा नही होती..!!

====

रात थी जब तुम्हारा शहर आया

फिर भी खिड़की तो मैं ने खौल ही ली

शारिक़ कैफ़ी

====

न मौत आती है
न कोई दवा लगती है,
न जाने उसने
इश्क में कौन सा जहर
मिलाया था.

Naa Maut Aati Hai
Na Koi Dawa Lagati Hai
Naa Jaane Usane
Ishk Me Kaun Sa Zahar
Milaya Tha?

====

वो नादाँ इतना भी नही जानते
सीने से लगा कर पूछते है
की धड़कने तेज क्यू है.

Wo Nadan Itana Bhi Nahi Janate
Seene Se Laga Kar Puchhate Hai
Ki Dhakane Tez Kyu Hain

====
Sad Ishq Shayai

====

इश्क़ का रोग है कसम से जाता ही नहीं,गले में मैंने सारे ताबीज़ डालकर देख लिए।

====

इश्क़ सुनते थे जिसे हम वो यही है शायद

ख़ुद=बख़ुद दिल में है इक शख़्स समाया जाता

अल्ताफ़ हुसैन हाली

====

ले रहे थे मोहब्बत के बाजार मे
इश्क की चादर,
पीछे से आवाज आयी कफन भी ले लो
जरूरत पड़ेगी..

Le Rahe The Mohbbat Ke Bazar Me
Ishk Ki Chadar
Piche Se Awaj Aayi Kafan Bhi Le Lo
Jarurat Padegi.

====

इसमें इश्क़ की किस्मत भी बदल सकती थी,जो वक़्त बीत गया मुझको आजमाने में।

====

साहिब ए अकल हो तो एक मशविरा तो दो,
एहतियात से इश्क करुं या इश्क से एहतियात..!!

====

जाने क्या कशिश है उसकी मदहोंश आँखों में,
नजर अंदाज जितना करो नज़र उस पे ही पड़ती है.

Jane Kyu Kashish Hai Usaki Madahosh Ankhon Mem
Nazar Andaaz Jitana Karo Nazar Us Pe Hi Padati Hai,

====

तकिये के नीचे दबा के रखे हैँ तुम्हारे ख्याल,एक तेरा अक्स, एक तेरा इश्क़, ढेरो सवाल और तेरा इंतज़ार।

====

इश्क़ में भी सियासतें निकलीं

क़ुर्बतों में भी फ़ासला निकला

रसा चुग़ताई

====

कल लगी थी
शहर में बद्दुआओं की महफ़िल
मेरी बारी आई तो मैंने कहा
इसे भी इश्क़ हो इसे भी इश्क़
इसे भी इश्क़ हो.

Kal Lagi Thi
Shahar Me Badduaaon Ki Mahafil,
Meri Baari Aayi To Maine Kaha.
Ise Bhi Ishk Ho, Ise Bhi Ishk Ho,
Ise Bhi Ishk Ho.

====

उस शख्स में बात ही कुछ ऐसी थी,
दिल नहीं देते तो जान चली जाती.

Us Shakhs Me Baat Hi Kuchh Yesi Thi,
Dil Nahi Dete To Jaan Chali Jati.

====

इश्क में, मैं खुद को बेकसूर कहती थी पहलेभूल जाती हूँ कि इस दिल की भी तो शरारत थी कुछ…….

====

इश्क़ चख लिया था इत्तेफाक से ,
जुबां पर आज भी दर्द के छाले है..!!

====
दिन भर तो मैं दुनिया के धंदों में खोया रहा

जब दीवारों से धूप ढली तुम याद आए

नासिर काज़मी

====
अजब जज्बा है इश्क़ करने का
उम्र जीने की है और
शौक मरने का.

Ajab Jajba Hain Hai Ishk Karane Ka,
Umr Jeene Ki Hai Aur
Shauk Marane Ka.

 

====

सस्ता सा कोई इलाज बता दो इस मोहब्बत का,एक ग़रीब इश्क़ कर बैठा है..

 

====

बहुत शौक था हमे भी दिल लगाने का,
शौक शौक में ज़िन्दगी बर्बाद कर बैठे..!!

====

एक ख़लिश सी रह गयी दिल में,
मुझ जैसा इश्क़ करता मुझसे भी कोई..!!

====

रास्ता दे कि मोहब्बत में बदन शामिल है

मैं फ़क़त रूह नहीं हूँ मुझे हल्का न समझ

साक़ी फ़ारुक़ी

====

आज तो बे=सबब उदास है जी
इश्क़ होता तो कोई बात भी थी

Aaj To Be=Sabab Udaas Hai Jee
Ishk Hota To Koi Baat Bhi Thi

====

तेरे इश्क़ में हर इम्तिहान दे देंगे,हमे है तुमसे मोहब्बत,सारी दुनिया से कह देंगे।

 

====

इश्क़ अधूरा रह जाए तो खुद पर नाज़ करना,
कहते है सच्ची मोहब्बत मुकम्मल नहीं होती..!!

====

ये आग के घर में रहने का शौक़ीन है बहुत,
इश्क को दिल की बस्ती में पनाह मत देना..!!

====

Romantic Ishq Shayari

====

लोग कहते हैं कि तुम से ही मोहब्बत है मुझे

तुम जो कहते हो कि वहशत है तो वहशत होगी

अब्दुल हमीद अदम

====

जाने कब उतरेगा कर्ज उसकी
मोहब्बत का
हर रोज आँसुओं से इश्क की
किस्ते भरता हूँ

Naa Jane Kab Utarega Karz Usaki
Mohabbat Ka,
Har Roz Anshuon Se Ishk Ki
Kiste Bharata Hu.

====

इश्क़ ने जिस दिल पे कब्ज़ा कर लिया,फिर कहां उसमे ख़ुशी=ओ=गम रहे।

 

====

हमने तो सिर्फ हाथ फैलाकर इश्क मांगा था,
उसने तो हाथ चूमकर मेरी जान ही ले ली..!!

====
वो अच्छे हैं तो बेहतर बुरे हैं,
तो भी कबूल मिजाज़ ए इश्क में,
ऐब ओ हुनर देखे नहीं जाते..!!

====

 

तुम से मिलती=जुलती मैं आवाज़ कहाँ से लाऊँगा

ताज=महल बन जाए अगर मुम्ताज़ कहाँ से लाऊँगा

साग़र आज़मी
====

अपने जख्मों की
नुमाइश करना एक इक अदा है
दुनियां को पता तो चले,
यह मशहूर इश्क आखिर क्या बला है.

Apane Zakhmo Ki
Numaish Karana Ek Aada Hain,
Duniya Ko Pata To Chale,
Yah Mashhur Ishk Kya Bala Hain.

 

====

महफ़िल ना सही तन्हाई तो मिलती है,मिलना न सही जुदाई तो मिलती है,कौन कहता इश्क़ में कुछ नहीं मिलता?वफ़ा न सही बेवफाई तो मिलती है।

 

====

तेरे इश्क़ में हर इम्तिहान दे देंगे,
हमे है तुमसे मोहब्बत सारी दुनिया से कह देंगे..!!

====

हमने तो सिर्फ हाथ फैलाकर इश्क मांगा था,
उसने तो हाथ चूमकर मेरी जान ही ले ली..!!

====

उस के बारे में बहुत सोचता हूँ

मुझ से बिछड़ा तो किधर जाएगा

फ़रहत अब्बास शाह

====

अगर इश्क़ हुआ दोबारा,
तो भी तुझसे ही
होगा,
मेरे नादान दिल को तुझ पर इतना
भरोसा है..

Agar Ishk Hua Dobara,
To Bhi Tujhase Hi
Hoga,
Mere Nadan Dil Ko Tujh Par Itana
Bharosha Hain.

Ishq Shayari Urdu

====

देखते हैं अब क्या मुकाम आता है साहब,सूखे पत्ते को इश्क हुआ है बहती हवा से।

 

 

 

 

====

इश्क एक नशा है दिल का चाहत है,
दिलों का सरूर प्यार हो जाता है,
नजरों से किसकी खता किसका कसूर..!!

====

तुम्हारा आगोश देता है सुकून=ए=इश्क़ मुझको,
ज़िन्दगी भर अपनी बाहों में यूँही क़ैद रखना मुझे..!!

====

रब ना करें इश्क की कमी किसी को सताए,
प्यार करो उसी से जो तुम्हें दिल की हर बत बताए..!!

====

मुझे इश्तिहार सी लगती हैं ये मोहब्बतों की कहानियाँ

जो कहा नहीं वो सुना करो जो सुना नहीं वो कहा करो

बशीर बद्र

====

अदायें सीख लीं
तुमनें,नज़र से क़त्ल करने की,
मगर तालीम न सीखी, किसी से
इश्क़ करने की.

Adaaye Sikh Li
Tumane Nazar Se Qatl Karane Ki,
Magar Talim Naa Sikhi, Kisi Se

Ishk Karane Ki.

====

जाने कब उतरेगा क़र्ज़ उसकी मोहब्बत का . .हर रोज आँसुओं से इश्क की किस्त भरते हैँ.

====

इश्क में जिसने भी बुरा हाल बना रखा है,
वही कहता है अजी इश्क में क्या रखा है..!!

====

कभी यूँ भी आ मिरी आँख में कि मिरी नज़र को ख़बर न हो

मुझे एक रात नवाज़ दे मगर इस के बाद सहर न हो

बशीर बद्र

====
ऐ ‘ख़ुदा’
तू कभी इश्क न करना
बेमौत मारा जायेगा,
हम तो मर के भी तेरे पास आते है
पर तू कहा जायेगा?

Ye Khuda
Tu Kabhi Ishk Na Karana,
Bemaut Maara Jayega,

Ham To Mar Ke Tere Paas Aate Hai
Par Tu Kaha Jayega?

====

इश्क न हुआ कोहरा हो जैसे…तुम्हारे सिवा कुछ दिखता ही नहीं…..

 

====
चलते तो हैं वो साथ मेरे पर अंदाज देखिए,
जैसे की इश्क करके वो एहसान कर रहें है..!!

====

Shayari On Ishq

====

 

इस जुदाई में तुम अंदर से बिखर जाओगे

किसी मा’ज़ूर को देखोगे तो याद आऊँगा

वसी शाह

====

मत पूछो यारो
ये इश्क कैसा होता है,
बस जो रुलाता है ना
उसे ही गले लगाकर रोने को
जी चाहता है.

Mat Punchho Yaaro
Ye Ishk Kaisa Hota Hai,
Bas Jo Rulata Hai Naa
Use Hi Gale Lagakar Rone Ko
Ji Chahata Hai.

====

वो अच्छे हैं तो बेहतर बुरे हैं,तो भी कबूल मिजाज़ – ए – इश्क में,ऐब – ओ – हुनर देखे नहीं जाते!
====

दिवाना हर शख़्स को बना देता है इश्क़,
सैर जन्नत की करा देता है इश्क़,
मरीज हो अगर दिल के तो कर लो इश्क़,
क्योंकि धड़कना दिलों को सिखा देता है इश्क़..!!

====

किस से जा कर माँगिये दर्द=ए=मोहब्बत की दवा

चारा=गर अब ख़ुद ही बेचारे नज़र आने लगे

शकील बदायुनी

====

बड़ी काम आई लगन इश्क़ में,
मैं गिर=गिर के ख़ुद हि
संभलता रहा.

Badi Kaam Aayi Lagan Ishk Me,

Main Geer=Geer Ke Khud Hi
Sambhalata Raha.

====

इश्क़ चख लिया था इत्तेफाक से,जुबां पर आज भी दर्द के छाले है।

 

====
तेरा ज़िक्र ही कहाँ था,
मेरी दीवानगी से पहले..!!

====

जो तिरे इश्क़ में तबाह हुआ

कोई उस को तबाह कर न सका

जलील मानिकपूरी

====

इश्क़=ऐ=बेवफ़ाई ने डाल दी है
आदत बुरी,
मैं भी शरीफ हुआ करता था
इस ज़माने में,
पहले दिन शुरू करता था मस्जिद में
नमाज़ से,
अब ढलती है शाम शराब के साथ
मैखाने में..

Ishk=E=Bewafayi Ne Daal Di Hai
Aadat Buri,
Main Bhi Sharif Hua Karata Tha, Is
Zamane Me.
Pahale Din Shuru Karata Tha Masjid Me
Namaz Se,
Ab Dhalati Hai Sham Sharab Ke Sath
Maikhane Me..

====

दिल की हसरत मेरी जुबान पे आने लगी,तूने देखा और ये ज़िन्दगी मुस्कुराने लगी,ये इश्क़ की इन्तहा थी या दीवानगी मेरी,हर सूरत में सूरत तेरी नजर आने लगी।

 

====

पता नहीं इश्क़ है या कुछ और,
पर तेरी परवाह करना अच्छा लगता है मुझे..!!

====

लोग मुझे पत्थर मारने आये तो वो भी साथ थे,
जिनके गुनाह कभी हम अपने सर लिया करते थे..!!

====

मोहब्बत को छुपाए लाख कोई छुप नहीं सकती

ये वो अफ़्साना है जो बे=कहे मशहूर होता है

लाला माधव राम जौहर

====

तेरे इश्क़ का सुरूर था.
जो खुद को बर्बाद कर लिया,
वर्ना. दुनियाँ मेरी भी दीवानी थी.

Tere Ishk Ka Surur Tha
Jo Khud Ko Barbad Kar Liya.
Vrna. Duniya Mere Bhi Divani Thi

====

इश्क़ है तो शक कैसाअगर नहीं है तो फिर हक कैसा..?

 

====

Adhura Ishq Ki Shayari

====

सीने में राज़=ए=इश्क़ छुपाया न जाएगा

ये आग वो है जिस को दबाया न जाएगा

हमीद जालंधरी

====

जाम तो
यू ही बदनाम है
यारों कभी इश्क करके देखो,
या तो पीना भूल जाओगे
या फिर पी=पी के जीना
भूल जाओगे.

Jaam To
Yu Hi Badanaam Hai Yaaro
Kabhi Ishk Karke Dekho?
Ya To Peena Bhul Jaoge
Ya To Pee=Pee Ke Jeena
Bhul Jaaoge

 

====

बहुत शौक था हमे भी दिल लगाने का,शौक शौक में ज़िन्दगी बर्बाद कर बैठे।

 

====

है दुआ कि क़ुबूल कर लें वो मोहब्बत हमारी,
कि तमाम उम्र अब उनकी ज़ुल्फ़ों के साये में रहने को ज़ी करता है..!!

====

जिन्दगी तुम्हारे बिना अब कटती नहीं है,
तुम्हारी यादें मेरे दिल से मिटती नहीं है,
तुम बसे हो मेरी आँखों में,
निगाहों से तेरी तस्वीर हटती नहीं है..!!

====

नहीं होती है राह=ए=इश्क़ में आसान मंज़िल

सफ़र में भी तो सदियों की मसाफ़त चाहिए है

फ़रहत नदीम हुमायूँ

====

अभी तो इश्क़ हुआ है,
मंज़िल तो मयखाने में मिलेगी.

Abhi To Ishk Hua Hai
Manzil To Maykhane Me Milegi

====

एक सुकून=सा मिलता है तुझे सोचने से,फिर कैसे कह दूँ कि मेरा इश्क़ बेवजह=सा है।

====

आपकी यादों के साये में गुज़रता है ज़िन्दगी का सफ़र,
आपके ही ख्यालों के रंगों के दायरे में जो रहते हैं सदा..!!

====

साँसों की तरह तुम भी शामिल हो मुझमें,
साथ भी रहते हो और ठहरते भी नहीं..!!

 

====

हम ने अव्वल से पढ़ी है ये किताब आख़िर तक

हम से पूछे कोई होती है मोहब्बत कैसी

अल्ताफ़ हुसैन हाली

====

ये इश्क भी नशा=ए=शराब
जैसा है, यारो
करें तो मर जाएँ और छोड़े तो
किधर जाएँ

Ye Ishk Bhi Nasha=E=Sharaab
Jaisa Hain Yaaro
Kare To Mar Jaaye Aur Chhode To
Kidhar Jaaye?

====

ऐ इश्क मुझे अब और जख्म चाहिये…!!मेरी शायरी मे अब वो बात नही रही…!!

 

====

तुम्हारे इश्क़ के रंग ओढ़कर ही मैं ख़ुशनुमा हूँ,
तुम ही तो हो मुझमे मैं खुद में कहाँ हूँ..!!

====

 

====

तू यकीन करें या ना करें तेरे साथ से मैं संवर गई,
तेरे इश्क के जूनून मे मैं सारी हदों से गुजर गई..!!

====
इश्क़ तो हर शख़्स करता है ‘शुऊर’

तुम ने अपना हाल ये क्या कर लिया

अनवर शऊर
====

कितना भी कर ले, चाँद से इश्क़,
रात के मुक़द्दर मे, अँधियारे ही
लिखे हैं

Kitana Bhi Kar Le, Chand Se Ishk,
Raat Ke Mukaddar Me, Andhiyaren Hi
Likhe Hain

====

हमने तो सिर्फ हाथ फैलाकर इश्क मांगा था,उसने तो हाथ चूमकर मेरी जान ही ले ली।

====

Romantic Shayari in Hindi

बक्शा है मुझे हुस्न आपकी आँखों ने,
आप ही तो लेकर आये हो मुझे इस गुरूर=ए हद तक..!!

====

लोग कहते हैं कि इश्क इतना मत करो,
कि हुस्न सर पर सवार हो जाये,
हम कहते हैं कि इश्क इतना करो,
कि पत्थर दिल को भी तुमसे प्यार हो जाये..!!

====

तू ने ही तो चाहा था कि मिलता रहूँ तुझ से

तेरी यही मर्ज़ी है तो अच्छा नहीं मिलता

अहमद मुश्ताक़

====

ये इश्क़ बनाने वाले की मैं
तारीफ करता हूं,

मौत भी हो जाती है और कातिल भी
पकड़ा नही जाता.

Ye Ishk Banaane Walo Ki Mai
Taarif Karta Hun
Maut Bhi Ho Jati Hai Aur Qatil Bhi
Pakada Nahi Jata

====

कितनी खूबसूरत है ये ज़िन्दगी जान लोगे,तुम कभी इश्क़ की राहो से गुज़र के देखो।

 

====

इश्क का समंदर भी क्या समंदर है,
जो डूब गया वो आशिक जो बच गया वो दीवाना..!!

====

अब मिरी बात जो माने तो न ले इश्क़ का नाम

तू ने दुख ऐ दिल=ए=नाकाम बहुत सा पाया

मुसहफ़ी ग़ुलाम हमदानी

====
ये रात ये तनहाई और
ये तेरी याद

मैं इश्क न करता तो
कब का सो गया होता

Ye Raat Ye Tanhaayi Aur
Ye Teri Yaade
Main Ishk Na Karata To
Kab Ka So Gaya Hota Hota

====

इश्क सूफी है ना मुफ्ती है ना आलीम हैये जालीम है बहूत जालीम है फकत जालीम है

 

====

प्यार तो प्यार है इसमें तकरार क्या,
इश्क तो दिल की अमानत है इससे इंकार क्या,
मैं तो दिन रात तड़पता हूँ तेरी याद में,
तू भी है मेरे इश्क में बेकरार क्या..!!

====

कहाँ जाऊंगा मैं तुम्हे छोड़कर कि तुम्हारे बिना जब रात नहीं गुजरती,
तो ज़िन्दगी क्या ख़ाक गुजरेगी..!!

====

इश्क के दामन से लिपटा गम ही होता है,
तन्हाई की आंच से प्रीत कम नहीं होता है,
खुदा भी अफ़सोस करता है आसमान पर,
जब भी जमीन पर कभी आशिक रोता है..!!

====

इश्क़ ही इश्क़ है जहाँ देखो

सारे आलम में भर रहा है इश्क़

मीर तक़ी मीर

====

उस से कह दो के,
मेरी सजा कुछ कम कर दे,
हम पेसे से मुजरिम नहीं हैं,
बस गलती से इश्क हुआ है

Us Se Kah Do Ke
Meri Saza Kuchh Kam Kar De
Ham Peshe Se Muzrim Nahi Hai
Bas Galati Se Ishk Hua Hai

====
इश्क की बहुत सारी उधारियां है तुम पर,चुकाने की बात करो तो कुछ किश्तें तय कर लें.

====

Ishq Shayari in Hindi

====

इश्क की बहुत सारी उधारियां है तुम पर,
चुकाने की बात करो तो कुछ किश्तें तय कर लें..!!
Best Ishq Shayari Hindi

====

इब्तिदा वो थी कि जीने के लिए मरता था मैं

इंतिहा ये है कि मरने की भी हसरत न रही

माहिर=उल क़ादरी

====

कल क्या
खूब इश्क़ से मैने बदला लिया,
कागज़ पर लिखा इश्क़ और
उसे ज़ला दिया।

Kal Kya
Khub Ishk Se Maine Badala Liya
Kagaz Par Likha Ishk Aur
Use Jala Diya

 

====

इश्क़ है या इबादत
अब कुछ समझ नहीं आता ,
एक खूबसूरत ख्याल हो तुम
जो दिल से नहीं जाता।

Ishq h ya ibadat
Ab kuch smjh nahi aata
Ek khoobsurat khyal ho tum
Jo dil se nahi jata

====

तुझसे इश्क़ क्या हुआ,
खुद से मोहब्बत हो गयी..!!

====

नाराजगी चाहे कितनी भी हो तुझसे,
पर तुझे भूलने का ख्याल आज भी नहीं आता..!!

====

रोज़ मिलने पे भी लगता था कि जुग बीत गए

इश्क़ में वक़्त का एहसास नहीं रहता है

अहमद मुश्ताक़

====
इश्क़ है इश्क़ ये मज़ाक़ नहीं,
चंद लम्हों में फ़ैसला न करो

Ishk Hain Ishk Ye Mazaak Nahi
Chand Lamho Me Faisala Na Kijiye

====

इश्क़ अधूरा रह जाए तो ,
खुद पर नाज़ करना
कहते है सच्ची मोहब्बत
मुकम्मल नहीं होती।

Ishq adhoora rh jaye to
Khud par naz krna
Khte h sacchi mohabbat
Muqammal nahi hoti

====

Mohabbat Ishq Shayari Hindi

====

इक बात कहूँ इश्क़ बुरा तो नहीं मानोगे,
बड़ी मौज के थे दिन, तुमसे पहचान से पहले..!!

====

न जाने कौन सी मंज़िल पे आ पहुँचा है प्यार अपना

न हम को ए’तिबार अपना न उन को ए’तिबार अपना

क़तील शिफ़ाई

====

चलते थे इस जहाँ में कभी.
सीना तान के हम,
ये कम्बख्त
इश्क़ क्या हुआ घुटनो पे
आ गए हम

Chalate The Janha Me Kabhi
Seena=Taan Ke Ham
Ye Kambkhat
Ishk Hua Ghutano Pe
Aa Gaye Ham

====

इश्क ने हमसे कुछ ऐसी साजिशें रची हैं,
मुझमें मैं नहीं हूँ अब बस तू ही तू बसी है..!!

====

हम इस तरह तुम पर मर मिटेंगे,
तुम जहा भी देखोगे
केवल हम ही दिखेंगे।

Hum is tarah tum par mar mitenge
Tum jaha bhi dekhoge
Kewal hum hi dikhenge

====

इश्क़ सभी को जीना सिखा देता है,
वफ़ा के नाम पर मरना सीखा देता है,
इश्क़ नहीं किया तो करके देखो,
जालिम हर दर्द सहना सीखा देता है..!!

 

====

यूँ तिरी याद में दिन रात मगन रहता हूँ

दिल धड़कना तिरे क़दमों की सदा लगता है

शहज़ाद अहमद

====
जिंदा है तो बस
तेरी इश्क की रहमत पर,
हम मर गये तो समझना
तेरा प्यार कम पड गया.

Zinda Hai To Bas
Teri Ishk Ki Rahamat Par,
Ham Mar Gaye To Samjhana
Tera Pyaar Kam Pad Gaya.

====

Ishq Shayari 2 Lines

====

अगर आए तुम्हे हिचकियाँ, तो माफ़ करना मुझे,
क्योंकि इस दिल को आदत है, तुम्हे याद करने की..!!

====

 

====

दिवाना हर शख़्स को बना देता है इश्क़,
सैर जन्नत की करा देता है इश्क,
मरीज हो अगर दिल के तो कर लो इस्क,
क्योंकि धड़कना दिलों को सिखा देता है इश्क..!!

====

कूचा=ए=इश्क़ में निकल आया

जिस को ख़ाना=ख़राब होना था

जिगर मुरादाबादी

====

फासले ही अच्छे है इश्क में यारों,
ज्यादा करीब रहने से मोहब्बत,
पाक नही रहती

Fasale Hi Achchhe Hain Ishk Me Yaaro,
Jyaada Kareeb Rahane Se Mohabbat,
Paak Nahi Rahati.

====
Ishq Shayari in Hindi

====
सुना है कि तेरी, एक नज़र से ही लोग फ़ना हो जाते हैं,
मुझ गरीब को भी, एक निग़ाह देख लो..!!

====

रोकना मेरी हसरत थी और चले जाना उनका शौक,
वो शौक पूरा कर गए मेरी हसरतें तोड़ कर..!!

====

रात तेरी यादों ने दिल को इस तरह छेड़ा

जैसे कोई चुटकी ले नर्म नर्म गालों में

बशीर बद्र

====

इश्क में
सिर्फ दिल नहीं आता
अक्ल भी आती है बस ज़रा देर से

Ishk Me
Sirf Dil Nahi Aata
Akl Bhi Aati Hai Bas Jara Der Se

 

====

इश्क़ अगर ख़ाक ना कर दे ,
तो ख़ाक इश्क़ है।

Ishq agar khak na kr de
To khaak ishq h

====

रास्ते खुद ही तबाही के निकाले हमने,
कर दिया दिल किसी पत्थर के हवाले हमने,
हमें मालूम है इश्क के लिए क्या राय है लोगों की,
घर फूंक कर देखे हैं उजाले हमने..!!

 

====

तुझे भुला देंगे अपने दिल से ये फ़ैसला तो किया है लेकिन

न दिल को मालूम है न हम को जिएँगे कैसे तुझे भुला के

साहिर लुधियानवी

====

घर बना कर मेरे दिल में,
वो चली गई है,
ना खुद रहती है,
ना किसी और को बसने देती है!!

Ghar Bana Kar Mere Dil Me
Wo Chali Gayi Hain
Naa Khud Rahati Hai
Na Hi Kisi Ko Basane Deti.
====

बर्बाद कर दिया मुझे तेरी इन मस्त निगाहों ने,
सौ साल जी लेते अगर दीदार=ऐ=हुस्न तेरा ना किया होता..!!

====

 

====
खूबसूरत मैं नहीं ये तुम्हारा इश्क़ है,
जो नूर बनकर मेरी आँखों से छलकता है..!!

====

इश्क़ पाबंद=ए=वफ़ा है न कि पाबंद=ए=रुसूम

सर झुकाने को नहीं कहते हैं सज्दा करना

आसी उल्दनी

====

वो तेरे चश्मा नीचे करके मुझे
आँख मारने की शरारती अदा,
सीधी मेरे दिल में तीर चला देती है!!

Wo Tere Chashma Neeche Karke Mujhe
Aankh Maarane Ki Shararati Adaa
Sidhi Mere Dil Me Teer Chala Deti Hai

====
काश मेरा घर तेरे घर के करीब होता,
बात करना ना सही
देखना तो नसीब होता।

Kash mera ghar tere ghar ke kareeb hota
Baat krna na sahi
dekhna to naseeb hota

====

तुम्हारी मदहोश आँखों ने,
मेरे दिल का सिस्टम ही तोड़ दिया,
जब से तुमने आई लव यू है कहा मुझे,
मैंने तब से पढ़ना लिखना ही छोड़ दिया..!!

====

इश्क़ है तो शक कैसा,
अगर नहीं है तो फिर हक कैसा..!!

====

 

मर्ग ही सेहत है उस की मर्ग ही उस का इलाज

इश्क़ का बीमार क्या जाने दवा क्या चीज़ है

बहादुर शाह ज़फ़र

====
मुझे अच्छा लगता है
तुझे मनाना
इसीलिये तुझे बिना वजह
परेशान करता हूँ!!

Mujhe Achchha Lagata Hai
Tujhe Manaanaa
Isiliye Tujhe Bina Wazah
Pareshaan Karata Hun

====

क्या कहू तुमसे कि क्या है इश्क़ ,
जान का रोग और बला है इश्क़।

Kya khu tumse ki kya h ishq
Jaan ka rog aur bala h ishq

====

मासूम सी मोहब्बत का बस इतना सा फ़साना है,
कागज की हवेली है बारिश का ज़माना है..!!

====

जाने कब उतरेगा क़र्ज़ उसकी मोहब्बत का,
हर रोज आँसुओं से इश्क की किस्त भरते हैँ..!!

====
आबलों का शिकवा क्या ठोकरों का ग़म कैसा

आदमी मोहब्बत में सब को भूल जाता है

आमिर उस्मानी

====

कहते है जिन्दगी मे सबको
एक बार प्यार जरूर होता है,
तुम्हे कब होगा मुझसे?

Kahate Hai Zindagi Me Sabako
Ek Baar Pyaar Jarur Hota Hai
Tumhe Kab Hoga Mujhse?

====

मैंने जान बचा के रखी है
एक जान के लिए ,
इतना इश्क़ कैसे हो गया ‘
एक अनजान के लिए।

Maine jan bacha ke rkhi h
Ek jaan ke liye
Itna ishq kaise ho gaya
Ek anjan ke liye

====

Ishq Shayari in Hindi

====

भरी दुनिया में फ़क़त मुझ से निगाहें न चुरा

इश्क़ पर बस न चलेगा तिरी दानाई का

अहमद नदीम क़ासमी

====

कुछ खास नही
बस इतनी सी है
मोहब्बत मेरी
हर रात का आखरी खयाल
और हर सुबह की पहली
सोच हो तुम!!

Kuchh Khas Nahi
Bas Itani Si Hain
Mohabbat Meri
Har Raat Ka Aakhiri Khyaal
Aur Subah Ki Pahali
Soch Ho Tum

====

इसमें नुक्सान और फायदा कैसा,
ये इश्क़ है कारोबार नहीं।

Isme nuksan aur fayda kaisa
Ye ishq hai karobar nahi

====

मेरे इश्क़ से मिली है तेरे हुस्न को ये शौहरत,
तेरा ज़िक्र ही कहाँ था मेरी दीवानगी से पहले..!!

====

 

इलाही एक ग़म=ए=रोज़गार क्या कम था

कि इश्क़ भेज दिया जान=ए=मुब्तला के लिए

हफ़ीज़ जालंधरी

====

सुनो जान
इस महफिल में
किसी को महसूस मत होने देना
कि तुम्हारी चाहत से मेरी
साँसे चलती है!!

Suno Jaan
Is Mahafil Me
Kisi Ko Mahasus Mat Hone Dena
Ki Tuhaari Chaahat Se Meri
Sanse Chalati Hai

====

करूँगा क्या =
जो मोहब्बत में हो गया नाकाम।
मुझे तो और कोई काम भी नहीं आता।

Karunga kya=
jo mohabbat me ho gaya nakam
Mujhe to aur koi kaam bhi nahi Ata

====

तुझको लिख पाना नहीं हैं इतना भी आसान,
कि इतने सुन्दर तो लब्ज़ ही नहीं है मेरे पास..!!

====

 

====

चलते थे इस जहाँ में कभी सीना तान के,
ये कम्बख्त इश्क़ क्या हुआ घुटनो पे आ गए..!!

====

वो शख़्स जिस को दिल ओ जाँ से बढ़ के चाहा था

बिछड़ गया तो ब=ज़ाहिर कोई मलाल नहीं

बशीर बद्र

====

सुना है
तुम ज़िद्दी बहुत हो,
मुझे भी अपनी जिद्द बना लो!!

Suna Hai
Tum Bahut Ziddi Bahut Ho
Mujhe Bhi Apani Zodd Bana Lo

====

मेरी रूह गुलाम हो गयी है ,
तेरे इश्क़ में शायद
वरना यूं छटपटाना
मेरी आदत तो ना थी।

Meri ruh gulam ho gayi h
Tere ishq me shayad
Warna yu chatpatana
Meri aadat to na thi

====

प्यार मोहब्बत तो सभी करते हैं,
दर्द=ए =जुदाई से सभी डरते हैं,
हम न तुमसे प्यार करते हैं ना ही मोहब्बत,
हम तो बस तुम्हारी एक मुस्कराहट के लिए तरसते हैं..!!

====

 

कुछ तो शराफत सीख ले ऐ इश्क़ शराब से,
बोतल पे लिखा तो होता है मैं जानलेवा हूँ..!!

====

मुद्दत से इक लड़की के रुख़्सार की धूप नहीं आई

इस लिए मेरे कमरे में इतनी ठंडक रहती है

बशीर बद्र

====

अगर हम सुधर गए तो
उनका क्या होगा ?
जिनको हमारे पागलपन से
प्यार है!!

Agar Ham Sudhar Gaye To
Unaka Kya Hoga?
Jinako Hamaare Pagalpan Se
Pyaar Hai

 

====

लफ्ज़ो से तुम मेरी तारीफ कर लो,
इश्क़ हम तेरी आँखों में ढूंढ लेंगे।

Lafzo Se Tum Meri Tarif Kar Lo
Ishq Ham Teri Ankho Me Dhundh Lenge

====

मेरे इश्क़ से मिली है,
तेरे हुस्न को ये शौहरत..!!

====

तिरी ख़ुशी से अगर ग़म में भी ख़ुशी न हुई

वो ज़िंदगी तो मोहब्बत की ज़िंदगी न हुई

जिगर मुरादाबादी

====

आँखों के अंदाज़ बदल जाते हैं,
जब कभी हम उनके
सामने जाते हैं

Ankhon Ke Andaaz Badal Jaate Hai
Jab Kabhi Ham Unake
Samane Jaate Hai

====
इश्क़ का रोग है
कसम से जाता ही नहीं ,
गले में मैंने सारे
ताबीज़ डालकर देख लिए।

Ishq Ka Rog Hai, Jata Nahi
Kasam Se
Gale Me Daalkar Saare
Tabij Dekhe Maine

====

मेरे कंधे पर यूं इस क़दर गिरे तेरी आँखों से आँसू,
कि मेरी ये सस्ती सी कमीज़ बेशक़ीमती हो गई..!! Hindi Romantic Shayari

====

बंद कर दिए हैं हमने तो दरवाजे इश्क के,
पर कमबख़्त तेरी यादें तो दरारों से ही चली आई..!!

====

बात निकलेगी तो फिर दूर तलक जाएगी

लोग बे=वज्ह उदासी का सबब पूछेंगे

कफ़ील आज़र अमरोहवी

====
लोग आज कल ‪मुझसे‬
मेरी ‪खुशी‬ का ‪राज‬ पूछते है,
तुम कहो तो तुम्हारा नाम ‪‎बता‬ दूँ तेरा

Log Aaj Kal Mujhase
Meri Khushi Ka Raaz Puchhate Hai?
Tum Kaho To To Tumhaara Naam Bata Du

====

इश्क़ ने जिस दिल पे कब्ज़ा कर लिया,
फिर कहां उसमे ख़ुशी=ओ=गम रहे।

Ishq Ne Jis Dil Pe Kabja Kar Liya,
Phir Kahan Uss Mein Khushi=o=Gam Rahe.

====

हँसकर हर दुःख छिपाने की,
आदत है बड़ी मशहूर मेरी,
लेकिन कोई हुनर काम नहीं आता,
जब इन होंठो पर किसी ख़ास का नाम आता है..!!

====

मैं भी हुआ करता था वकील इश्क वालों का कभी,
नज़रें उस से क्या मिलीं आज खुद कटघरे में हूँ..!!

====

एक रिश्ता भी मोहब्बत का अगर टूट गया

देखते देखते शीराज़ा बिखर जाता है

नुशूर वाहिदी

====

हम तो कभी शायर थे,
लेकिन हम शायरी ही भूल गए
तुम्हारे इश्क़ में

Ham To Kabhi Shayar The
Lekin Ham Shayari Hi Bhul Gaye
Tumhaare Ishk Me

====

इश्क़ चख लिया था इत्तेफाक से ,
जुबां पर आज भी दर्द के छाले है।

Ishq chakh liya tha ittefaq se
Zuban par aaj bhi dard ke chhale h

====

Romantic Shayari for Girlfriend
रूबरू होने का मौका तो नहीं मिलता है हर दिन,
इसलिए शब्दों से अपने छू लेता हूँ मैं तुम्हे..!!

====

इश्क है वही जो हो एक तरफा,
इजहार है इश्क तो ख्वाईश बन जाती है,
है अगर इश्क तो आँखों में दिखाओ,
जुबां खोलने से ये नुमाइश बन जाती है..!!

====

बहुत मुश्किल ज़मानों में भी हम अहल=ए=मोहब्बत

वफ़ा पर इश्क़ की बुनियाद रखना चाहते हैं

इफ़्तिख़ार आरिफ़

====

लफ्जों की बनावट नहीं
आती मुझे.
तू अच्छी लगती है
सीधी से बात है

Lafzo Ki Banawat Nahi
Aati Mujhe
Tu Achchi Lagati Hai
Sidhi Si Baat Hai

 

====

एक सुकून=सा मिलता है तुझे सोचने से ,
फिर कैसे कह दूँ कि
मेरा इश्क़ बेवजह=सा है।

Ek sukoon sa milta h tujhe sochne se
Fir kaise kh du ki
mera ishq bewajah sa h

====

है प्यार नाम जिसका, एक ऐसी है क़ैद दोस्तों,
ज़िन्दगी बीत जाती है पर सज़ा ख़त्म नहीं होती..!!

====
मैं भी हुआ करता था वकील इश्क वालों का कभी,
नज़रें उस से क्या मिलीं आज खुद कटघरे में हूँ..!!
Romantic Ishq Shayari

====

यूँ तेरी रहगुज़र से दीवाना=वार गुज़रे

काँधे पे अपने रख के अपना मज़ार गुज़रे

मीना कुमारी नाज़

====
एक ख़लिश सी रह गयी दिल में,
मुझ जैसा इश्क़ करता,
मुझ से भी कोई

Ek Khalish Si Rah Gayi DiL Me
Mujh Jaisa Ishq Karata
Mujh Se Bhi Koi

====

कितनी खूबसूरत है ये ज़िन्दगी जान लोगे ,
तुम कभी इश्क़ की राहो से गुज़र के देखो।

Kitni khoobsurat hai ye zindagi jan loge
Tum kabhi ishq ki raho se guzar ke dekho

====

फ़रिश्ते ही होंगे जिनका हुआ इश्क मुकम्मल,
इंसानों को तो हमने सिर्फ बर्बाद होते देखा है..!!

====

भला आदमी था प नादान निकला

सुना है किसी से मोहब्बत करे है

कलीम आजिज़

====

ना चाहतों का
ना ही ये दौलतों का रिश्ता है
ये तेरा मेरा तो बस
रूह का रिश्ता है

Naa Chahaton Ka
Naa Hi Daulaton Ka Rishata Hai
Ye Tera Mera To Bas
Ruh Ka Rishta Hain

====

इश्क़ का भी अलग ही हिसाब है ,
पलभर में हो जाता है
उम्रभर के लिए।

Ishq ka bhi alag hi hisab h
Palbhar me ho jata h
Umr bhar ke liye

====

होश वालों को खबर क्या बेखुदी क्या चीज़ है,
इश्क कीजिये फिर समझिये ज़िन्दगी क्या चीज़ है..!!

====

चाहत है या दिल्लगी या यूँ ही मन भरमाया है,
याद करोगे तुम भी कभी किससे दिल लगाया है..!!

====

शाम ढले ये सोच के बैठे हम अपनी तस्वीर के पास

सारी ग़ज़लें बैठी होंगी अपने अपने मीर के पास

साग़र आज़मी

====

तुम समंदर हो, दिल मेरा दरिया है
साँसे चलती है दिल में जो मेरे
उसका तू ही तो जरिया है

Tum Samandar Ho Dil Mera Dariya Hain
Sanse Chalati Hai Dil Me Jo Mere
Usaka Tu Hi To Jariya Hai

 

====

मौसम=ऐ=इश्क़ है ये,
ज़रा खुश्क हो जाएगा
ना उलझा करो हमसे
वरना इश्क़ हो जाएगा।

Mausam ae ishq hai ye zara
Khushk ho jaega
Na uljha kro humse
Warna ishq ho jaega

====

इश्क शायरी

====

ऐ शख्स तेरा साथ मुझे हर शक्ल में मंज़ूर है,
यादें हों कि खुशबू हो, यक़ीं हो कि ग़ुमान हो..!!

====

बारहा उन से न मिलने की क़सम खाता हूँ मैं

और फिर ये बात क़स्दन भूल भी जाता हूँ मैं

इक़बाल अज़ीम
====

जो कभी न मिले
उससे ही लग जाता है दिल
आखिर अपना ये दिल
इतना नादान क्यों है?

Jo Kabhi Naa Mile
Usase Hi Lag Jaata Hain Dil
Aakhir Apana Ye Dil
Itanaa Naadaan Kyu Hai?

====

इश्क़ की बेहतरीन सूरत हो आप ,
मेरी ज़िन्दगी की ज़रूरत हो आप।

Ishq ki behtrin soorat ho aap
Meri zindagi ki zaroort ho aap

====

कोई भी तकलीफ दर्द नहीं देती ,
अगर बस तुम हमेशा मेरे साथ रहे

Koi bhi taqleef dard nahi deti
Agar bus tu humesha mere sath rhe

====

अपने हमराह जो आते हो इधर से पहले

दश्त पड़ता है मियाँ इश्क़ में घर से पहले

इब्न=ए=इंशा

====
मै तो गुरूर हूं उसका
कैसे सोचु मै ?
उसके सिवा किसी और को?

Main To Gurur Hun usaka
Kaise Sochu Main?
Usake Siwa Kisi Aur Ko?

 

====

इश्क़ कमीना नहीं होता है
बस कभी=कभी
कमीने लोगो से हो जाता है।

Ishq kamina nahi hota h
Bus kabhi kabhi
Kamine logo se ho jata h

====

खुदा करे वो मोहब्बत जो तेरे नाम से है,
हजार साल गुजरने पे भी जवान ही रहे..!!

====

 

====

अधूरा इश्क़ था मेरा ,
मुकम्मल खा गया मुझको।

Adhoora ishq tha mera
Mukammal kha gaya mujhko

====

ये मोहब्बत भी एक नेकी है

इस को दरिया में डाल आते हैं

इनाम नदीम

====

रेशम सी गाठें थी,
जरा सा खोल लेते तुम
अगर दिल मे शिकायत थी
ज़बा से बोल देते तुम

Resham Si Ganth Thi
Jara Sa Kho; Lete Tum
Agar Dil Me Shikaayat Thi
Jubaan Se Bol Dete Tum

 

====
क्या फर्क पड़ता है
सूरज निकले या ना निकले ,
मेरा सवेरा तो
तेरे चेहरे की रौनक से है।

Kya fark pdta h
Sooraj nikle ya na nikle
Mera sawera to
Tere chehre ki raunak se h

====

इश्क़ में मैंने और तो कुछ नहीं किया ,
बस अपनी हालत खराब कर ली है।

Ishq me maine aur to kuch nahi kiya
Bus apni halat khrab kar li h

====

तुम मिल गए तो मुझ से नाराज है खुदा,
कहता है कि तू अब कुछ माँगता नहीं है..!!

====

मुझ से तो दिल भी मोहब्बत में नहीं ख़र्च हुआ

तुम तो कहते थे कि इस काम में घर लगता है

अब्बास ताबिश

====

होठों पर नाम है तेरा,
दिल में याद है तेरी.
जमाने से क्या लेना हमको,
तुझमें बसी जान है मेरी

Hotho Par Naam Hai Tera
Dil Me Yaad Hai Teri
Zamaane Se Kya lena Hamako
Tujhme Basi Jaan Hai Meri

====

हम भी कभी हुआ करते थे
वकील इश्क़ वालों के कभी ,
नज़रे उनसे क्या मिली
आज खुद कटघरे में है।

Hum bhi hua krte the
Wakil ishq walo ke kabhi
Nazre unse kya mili
Aaj khud katghare me h

====

 

Ishq Shayari Sad | Sad Ishq Shayari Romantic Ishq Shayari | तुझसे इश्क़ क्या हुआ

===========

उसका रुप भले ही लाखो मे एक हो,
पर मेरा कमीनापन करोडो मे एक है..!!
Love Attitude Status in Hindi

 

====

तू ही बता ए दिल कि तुझे समझाऊं कैसे,
जिसे चाहता है तू उसे नज़दीक लाऊँ कैसे,
यूँ तो हर तमन्ना हर एहसास है वो मेरा,
मगर उस एहसास को ये एहसास दिलाऊं कैसे..!!

====

इस कदर हद से ज़्यादा प्यार किया है मैंने,
इंतज़ार की हद तक इंतज़ार किया है मैंने,
कहने को कुछ भी कहें ये जहां वाले,
पर सिर्फ तुझ पर ही ऐतबार किया है मैंने..!!

 

====
उसकी सादगी की कोई इंतेहा नही है,
यही तो मेरे प्यार की वजह रही है,
माना की उसमे खास कुछ भी नही,
पर जो है उसमें वो किसी और में भी तो नही है..!!

====

कई चेहरे लेकर लोग यहाँ जिया करते हैं,
हम तो बस एक ही चेहरे से प्यार करते हैं,
ना छुपाया करो तुम इस चेहरे को,
क्योंकि हम इसे देख के ही जिया करते हैं..!!

====

आ भी जाओ मेरी आँखों के रूबरू अब तुम,
कितना ख्वावों में तुझे और तलाशा जाए..!!

====

एक लड़की‬ आकर बोलती है मुझे आपसे मिलना है,
मैने बोला ये ले पगली टोकन और लाइन मे लग जा..!!

====

पानी बन तुम बरसे नहीं हो कब से,
दिल सूखी ज़मीन है देखो ना कब से..!!

====

सांवला रंग तेरा बेहतरीन लगता है,
नज़र को ये तेरा नज़ारा हसीन लगता है,
आते हो जब बाँहों में सिमट कर,
तो सारा आलम रंगीन लगता है..!!

====

आँखों में वफा हो तो पर्दा दिल का ही काफी है,
नहीं तो नक़ाब से भी होते हैं इशारे मोहब्बत के..!!

 

====

True Love Shayari in Hindi
====

मुझे सहल हो गई मंजिलें वो, हवा के रुख भी बदल गये,
तेरा हाथ, हाथ में आ गया, कि चिराग राह में जल गये..!!

====

रब से आपकी खुशीयां मांगते है,
दुआओं में आपकी हंसी मांगते है,
सोचते है आपसे क्या मांगे,
चलो आपसे उम्र भर की मोहब्बत मांगते है..!!

====

जितना दिमाग लड़कियाे में होता है,
उतना तो मेरा खराब रहता है..!!

====

दिल के ज़ख्मों पर मत रो मेरे यार,
वक़्त हर ज़ख्म का मरहम होता है,
दिल से जो सच्चा प्यार करे,
उसका तो खुदा भी दीवाना होता है..!!

====

हसीन पलों को याद कर रहे थे,
सितारों से आपकी बात कर रहे थें,
दिल को बड़ा सुकून मिला ये जानकार की,
आप भी मुझे याद कर रहे थे..!!

====

आँखों में वफा हो तो पर्दा दिल का ही काफी है,
नहीं तो नक़ाब से भी होते हैं इशारे मोहब्बत के..!!

====

दिल‬ होना चाहिए जिगर होना चाहिए,
आशिकी के लिए हुनर होना चाहिए,
नजर से नजर मिलने पर ‪‎इश्क‬ नहीं होता,
‪नजर‬ के उस पार भी एक असर होना चाहिए..!!

====

अच्छी सूरत नज़र आते ही मचल जाता है,
किसी आफ़त में न डाल दे दिल=ए=नाशाद मुझे..!!

====

हमारी हैसियत का अंदाज़ा तुम ये जान के लगा लो,
हम कभी उनके नही होते, जो हर किसी के हो जाए..!!

====

फिर तमाशा हुआ आज उसकी गली में,
मैं उसे, वो मुझे और लोग हमें देखते रहें..!!

====

यही तो खूबसूरत प्यार का नाता है,
जो बिना किसी शर्त के जिया जाता है,
रहे दूरियां दरमियान तो क्या हुआ,
प्यार तो हर पल दिल में बसाया जाता है..!!

====

 

तू चाँद मैं सितारा होता,
आसमान में एक आशिया हमारा होता,
लोग तुझे दूर से देखा करते
और सिर्फ पास रहने का हक हमारा होता..!!

====

लगता है तुम्हें नज़र में बसा लूँ ,
औरों की नजरों से तुम्हें बचा लूँ,
कहीं चूरा ना ले तुम्हें मुझसे कोई,
आ तुझे मैं अपनी धड़कन में छुपा लूँ..!!

====
ये तो नहीं कि तुम सा जहान में हसीन नहीं,
इस दिल का क्या करूँ ये बहलता कहीं नहीं..!!

====

प्यार इश्क मोहब्बत सब धोखेबाजी है,
अपनी लाइफ में तो सिर्फ Attitude ही काफी है..!!

====

तसल्ली दिल को हर कोई दे देता है,
मगर साथ कोई नहीं देता है..!!

====

मेरी दीवानगी को गलत ना समझना,
मैंने चाहा है तुम्हें हद से बढ़कर,
मेरी ज़िंदगी से कभी दूर ना जाना,
मैंने पाया है तुम्हें किस्मत की लकीरों से लड़कर..!!

====

मजा तो हमने इंतजार में देखा है,
चाहत का असर प्यार में देखा है,
लोग ढूंढ़ते हैं जिसे मंदिर मस्जिद में,
उस खुदा को मैने आपमें देखा है..!!

====

तेरी सांस के साथ चलती है मेरी हर धड़कन,
और तुम पूछते हो मुझे याद किया या नही..!!

====

तेरा प्यार मेरी जिंदगी में बहार ले कर आया है,
तेरे आने से पहले हर दिन पतझड़ हुआ करता था..!!

====

ये तो हम है जो अपना प्यार निभा रहे है,
जिस दिन छोड़कर चले गए, औकात पता चल जायगी तुझे..!!

====

गन सिर्फ रखते ही नहीं बल्कि चलाना भी जानते है,
तू अपनी औक़ात में रह वरना उडाना भी जानते है..!!
Love Attitude Status in Hindi

====
कुछ जानना हो मेरे बारे में तो मुझसे रूबरू हो जाना,
बिना कुछ जाने यु वहम ना पाल लेना..!!

====

देख पगली मेरे स्टेटस नशें की तरह होते है,
एक बार आदत पड़ गई तो बिना पढ़े रह पाना मुश्किल है..!!

====

ज़िन्दगी के सफ़र में मैंने अब तक तो यही जाना है,
ख्वाहिशों का हाथ अक्सर मजबूरियों ने थामा है..!!

====

तुम्हें देखते हैं तो दिल में ऐसी दस्तक होती है,
जैसे सागर में लहरों की हलचल होती है,
सोचा था कभी तुम्हें बता ना पाएंगे,
इन आँखों में तुम्हारी सूरत हर पल होती है..!!

====

जहर से अधिक खतरनाक हैं यह प्यार,
जो भी चख ले मर मर के जीता है,
उतर जाते है दिल मे कुछ लोग इस कदर,
उनको निकालो तो जान निकल जाती है..!!
====

आखों की गहराई में तेरी खो जाना चाहता हूँ,
आज तुझे बाँहों में लेकर सो जाना चाहता हूँ,
तोड़ कर हदे मैं आज सारी,
तुझे अपना बना लेना चाहता हूँ..!!

====

अंदाज=ऐ=प्यार तुम्हारी एक अदा है,
दूर हो हमसे तुम्हारी खता है,
दिल में बसी है एक प्यारी सी तस्वीर तुम्हारी,
जिस के नीचे आई मिस यू लिखा है..!!

====

बस इतना ही कहा था कि बरसों के प्यासे हैं हम,
उसने होठों पे होंठ रख के खामोश कर दिया..!!

====

अरे स्टेटस डाल के तू क्या मुझे Impress करेगी,
तू जिस Page से Status Copy करती है न उसका Admin भी हमारे ही Status Copy करता है..!!

====
मै अकेली हूँ मुझे सहारा देने आजा,
ज़िन्दगी अधुरी है तेरे बिना पूरी करने आजा,
मानती हूँ तुम मुझसे प्यार नही करते,
फ़िर से झूठा प्यार करने आजा..!!

====

तेरे इश्क़ की दुनिया में खो गया हूँ इस कदर,
बन कर अफसाना रह गया हूँ इस कदर,
जादू तेरे इन आँखों का हो गया है इस कदर,
एक तेरे सिवा कुछ ना आये नज़र..!!

====

लम्हे ये सुहाने साथ हो न हो,
कल में आज ऐसी बात हो न हो,
आपसे प्यार हमेशा दिल में रहेगा,
चाहे पूरी उम्र मुलाकात हो न हो..!!

====

मैं लव हूँ पर मेरी बात तुम हो,
और मैं तब हूँ जब मेरे साथ तुम हो..!!

====

यार पहलू में है तन्हाई है… कह दो निकले,
आज क्यूँ दिल में छुपी बैठी है हसरत मेरी..!!

====

तेरे कॉलेज में इतनी लङकियाँ नही आती होंगी,
जितनी मुझे रोज I Love u कह जाती है..!!
Love Attitude Status Girl

====

ना तसवीर है तुम्हारी जो दीदार किया जाये,
ना तुम हो मेरे पास जो प्यार किया जाये,
ये कौन सा दर्द दिया है तुमने ऐ सनम,
ना कुछ कहा जाये ना तुम बिन रहा जाये..!!

====

पलकों से आँखों की हिफाज़त होती है,
धड़कन दिल की अमानत होती है,
हमारा रिश्ता भी बड़ा प्यारा है,
कभी चाहत तो कभी शिकायत होती है..!!

====

तुम्हारी मदहोश आँखों ने मेरे दिल का सिस्टम ही तोड़ दिया,
जब से तुमने आई लव यू है कहा मुझे,
मैंने तब से पढ़ना लिखना ही छोड़ दिया..!!

====

पहली मोहब्बत मेरी हम जान न सके,
प्यार क्या होता है हम पहचान न सके,
हमने उन्हें दिल में बसा लिया इस कदर कि,
जब चाहा उन्हें दिल से निकाल न सके..!!

====

किताबों से दलील दूँ, या खुद को सामने रख दूँ,
वो मुझ से पूछ बैठा है, मोहब्बत किस को कहते हैं?

====

मेरे AttiTude पर मत जाना तुम्हारे समझ नही आयेगा,
दिल से मत समझना वरना दिल ही निकल जायेगा..!!

====

जीने के लिए तुम्हारी याद ही काफी है,
इस दिल में बस अब तुम ही बाकी हो,
आप तो भूल गए हो हमें अपने दिल से,
लेकिन हमें आज भी तुम्हारी तालाश बाकी है..!!

====

मोहब्बत की हवा जिस्म की दवा बन गयी,
दूरी आपकी मेरी चाहत की सजा बन गयी,
कैसे भूलूँ आपको एक पल के लिए,
आपकी याद हमारे जीने की वजह बन गयी..!!

====

काश तुझे सर्दी के मौसम मे लगे मोहब्बत की ठंड,
और तु तड़प के मांगे मुझे कंबल की तरह..!!

====
तू चाँद मैं सितारा होता,
आसमान में एक आशिया हमारा होता,
लोग तुझे दूर से देखा करते
और सिर्फ पास रहने का हक हमारा होता..!!

====

पूछते हैं मुझसे की शायरी लिखते हो क्यों,
लगता है जैसे आईना देखा नहीं कभी..!!

====

वैसे तो मेरी कोई Girlfriend नही है,
लेकिन जब शायरी लिखता हूँ तो ऐसा लगता है,
जैसे पाँच छ छोड़कर चली गयी हो..!!

====

शायरी लिखना कौन जाने, शायरी तो खुद=ब=खुद बन जाती है,
जब दिल भर आता है तो, कलम खुद=ब=खुद चल जाती है..!!

====

कोई तो होगा जो इस कदर हमें चाहेगा,
कोई तो होगा जो इस कदर हमें चाहेगा,
की दुनिया भूल बैठेंगे हम,
और ये दिल सिर्फ उनके लिये मुस्कुरायेगा..!!

 

====
खींच लेती है मुझे उसकी मोहब्बत,
वरना मै बहुत बार मिली हूँ आखरी बार उससे..!!

====

दिल ही दिल में तुम्हें प्यार करते हैं,
चुप=चाप मोहब्बत का इजहार करते हैं,
ये जानते हुए भी आप मेरी किस्मत में नहीं,
पर पाने की कोशिश बार=बार करते है..!!

====

लाखों हसीन हैं इस दुनिया में तेरी तरह,
क्या करें हमें तो तेरी रूह से प्यार है..!!

 

====

इतना ‪Attitude‬ मत दिखा ‪पगली वरना जैसे रोज स्टेटस चेँज करता हुँ,
वैसे ही तुझे भी ‪Change‬ कर दुँगा..!!

====

हमने उनका साथ देने की कसम खाई,
फिर भी ठोकर हमने ही खाई..!!

====

फ़िज़ा में महकती शाम हो तुम,
प्यार में झलकता जाम हो तुम,
सीने में छुपाये फिरते हैं हम यादें तुम्हारी,
इसलिए मेरी ज़िंदगी का दूसरा नाम हो तुम..!!

====
दिल ही दिल में तुम्हें प्यार करते हैं,
चुप=चाप मोहब्बत का इजहार करते हैं,
ये जानते हुए भी आप मेरी किस्मत में नहीं,
पर पाने की कोशिश बार=बार करते है..!!

====

हर कोई हमेशा कहता है हमेशा दिल की सुनो,
तो आप ये बताओ मेरी जान धक् धक् का मतलब क्या होता है..!!

====
Look ही Attitude वाली है,
दिल में कोई घमंड नहीं हमारे..!!

====

दिल अंदर ही अंदर टूट गया है,
मगर मैं ज़िंदा हूँ बेशर्मों की तरह..!!

====

मेरी हर ख़ुशी हर बात तेरी है,
सांसो में छुपी ये हयात तेरी है,
दो पल भी नहीं रह सकते तेरे बिन,
धड़कनों की धड़कती हर आवाज़ तेरी है..!!

====

इस कदर हमारी चाहत का इम्तिहान मत लीजिए,
क्यों हो खफ़ा ये बयां तो कीजिये,
अगर हो गई है कोई खता तो,
यूं याद न करके सज़ा तो ना दीजिये..!!

====

जिगर वालों को डर से कोई वास्ता नहीं होता,
हम वहाँ भी कदम रखते हैं जहाँ कोई रास्ता नहीं होता..!!

====

तुम कितने खास हो तुम्हे क्या बताये,
ये लोगो को बताते बताते हम खास से आम हो गए..!!

====

मुहब्बत को जब लोग खुदा मानते है,
प्यार करने वालों को क्यों बुरा मानते है,
जब जमाना ही पत्थर दिल है,
फिर पथर से लोग क्यों दुआ मांगते है..!!

 

====

आजमाया है आज फिर हवाओं ने तो गिला कैसा,
वो कौन सा दौर था जब आंधियो ने चिरागों के इम्तिहान न लिए..!!
Love Attitude Status FB

====

लाखों में इंतेखाब के काबिल बना दिया,
जिस दिल को तुमने देख लिया दिल बना दिया,
पहले कहाँ ये नाज थे यह इशवा=ओ=अदा,
दिल को दुआएं दो तुम्हे कातिल बना दिया..!!

====

आशिक़ है तेरे सदियों से हम,
इतनी मोहब्बत किसने की है सनम,
हद से ज्यादा चाहा है तुमको हमने,
मांगे तू जान भी तो पीछे हटेंगे ना कभी मेरे कदम..!!

====

हज़ार बार ली है तुमने तलाशी मेरे दिल की,
बताओ कभी कुछ मिला है इसमें प्यार के सिवा..!!

====

छुपाना चाहता हूँ तुम्हे अपनी आग़ोश में इस क़दर,
कि हवा भी गुज़रने की इज़ाजत माँगे,
हो जाऊँ मैं मदहोश तुम्हारे इश्क़ में इस क़दर,
कि होश भी आने की इज़ाजत माँगे..!!

====

सुन पगली जिस दिन अपना ईक्का चलेगा,
उस दिन बादशाह तो क्या उसका बाप भी अपना गुलाम बनेगा..!!

====

फिर वही दिल की गुज़ारिश, फिर वही उनका ग़ुरूर,
फिर वही उनकी शरारत, फिर वही मेरा कुसूर..!!

====

कैसे कहूं की अपना बना लो मुझे,
बाँहों में अपनी समा लो मुझे,
आज हिम्मत करके कहता हूँ की,
मैं तुम्हारा हूँ अब तुम ही संभालो मुझे..!!

====

उनके दीदार के लिए दिल तड़पता है,
उनके इंतजार में दिल तरसता है,
क्या कहें इस कम्बख्त दिल को,
अपना हो कर किसी और के लिए धड़कता है..!!

====

मेरे वजूद में काश तू उतर जाए,
मै देखू आइना और आप नज़र आए,
आप हो सामने और वक़्त ठहर जाये,
ये जिंदगी तुझे यु ही देखते हुए गुजर जाये..!!

====

अपनी खुबसुरती पर इतना घमंड मत कर पगली,
क्योंकी हम वो हैं जो घमंड जेब में लिये घुमते हैं..!!

====

मेरा पहले जैसा हो जाना शायद इसलिए भी मुल्तवी हैं,
मुझे जिससे प्यार था अब उससे भी नहीं हैं..!!

====

तेरा वो चुपके से मुस्कुराना ही तो,
मुझे यूँ पागल कर देता है,
तेरी वो दिलकश आवाज़ ही तो,
इस दिल को घायल कर देती है..!!

 

====

तुम हमे मिलो या ना मिलो,
तुम्हे दुनिया की हर खुशियां मिलनी चाहिए..!!

====

जब खामोश आँखों से बात होती है,
तो ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है,
तेरे ही ख्यालों में खोये रहते हैं,
न जाने कब दिन और कब रात होती है..!!

====

इतना भी कीमती ना बना अपने आप को,
हम गरीब लोग हैं महँगी चीज़ छोड़ दिया करते हैं..!!

====

दिल में उसके लिए इज़्ज़त तो तब बढ़ गयी,
जब उसने कहा तुमको छोड़ सकती हूँ माँ बाप को नहीं..!!

====

तेरे महकते बदन की खुशबू से,
मुझे खुमार सा होने लगता है,
तेरी चाहत की दीवानगी देखूं तो,
मुझे खुद पर भी यकीन नहीं होता है..!!

====

मोहब्बत वो नहीं जो दुनिया को दिखायी जाये,
अरे मोहब्बत तो वो है जो दिल से निभाई जाए..!!

====

सच्चा प्यार की पहचान होती है लड़ते झगड़ते है,
लेकिन फिर भी एक दूसरे की जान होते है..!!

====

आपने नज़र से नज़र कब मिला दी,
हमारी ज़िन्दगी झूमकर मुस्कुरा दी,
जुबां से तो हम कुछ भी न कह सके,
पर निगाहों ने दिल की कहानी सुना दी..!!

====

लड़किया बोलती है तू बहुत मासूम दिखता है,
लेकिन में कितना हरामी हूँ, ये सिर्फ मेरी Ex GF को ही मालूम हैं..!!

 

====

बाकी लड़कों के नाम Love Letter लिखा जाता है,
हमारे नाम FIR लिखी जाती है..!!

====

वादे वफ़ा करके क्यों मुकर जाते हैं लोग,
किसी के दिल को क्यों तड़पाते हैं लोग,
अगर दिल लगाकर निभा नहीं सकते,
तो फिर क्यों दिल लगाते हैं लोग..!!
====

दिल लगता नहीं है अब तुम्हारे बिना,
खामोश से रहने लगे है तुम्हारे बिना,
जल्दी लौट के आ जाओ अब,
वरना जी ना पाएँगे तुम्हारे बिना..!!

====

अगर किसी के पास सब कुछ हो तो दुनिया जलती है,
अगर कुछ ना हो तो दुनिया हंसती है,
मेरे पास आपके लिये सिर्फ दुआ है,
जिसके लिए सारी दुनिया तरसती है..!!

 

====

फुलों में हसीन गुलाब है,
पढाई के लिये ज़रूरी किताब है,
दुनिया में हर सवाल का जवाब है,
अगर कोई तुम्हें मेरे बारे में पूछे तो कहना वो लाजवाब है..!!

====

पहले प्यार के लिए दिल जिसे चाहता है,
वो हमे मिले या ना मिले दिल पे राज हमेशा उसी का होता है..!!
====

तेरे प्यार का किस्सा नहीं बनना मुझे,
अगर प्यार है सच्चा तो तेरी ज़िन्दगी का हिस्सा बना मुझे..!!

====

तुम मिल गए तो मुझ से नाराज है खुदा,
कहता है कि तू अब कुछ माँगता नहीं है..!!

====
पहली मोहब्बत थी और हम दोनों ही बेबस,
वो ज़ुल्फ़ें सँभालते रहे और मैं खुद को..!!

====

तेरे ‪Attitude‬ से लोग जलते होगे,
मगर मेरे ‪Attitude पर तो लड़कियां मरती है,
पर मैं किसी को भाव नहीं देता..!!
Love Attitude Status in Hindi

====

तेरी अकड़ में कुछ इस तरह से तोड़ूँगा,
यकीन रख कहीं का नही छोड़ूँगा..!!

====

वफ़ाए कर दी है हवाले तुम्हारे,
अब तुम हो जाओ हवाले हमारे..!!

====

कैसे उनसे मेरा दिल नाराज़ हो जाए,
जिनके लिए ये दिल धड़कता है..!!

====

उनका मिलना भी एक खूबसूरत कहानी होगी,
उनका प्यार पाना ही ज़िंदगानी होगी,
मुस्कुराहट भी उनके दम से होगी,
अगर वो दर्द भी दे तो उनकी मेहरबानी होगी..!!

====

क्या तारीफ़ करूँ आपकी बात की,
हर लफ्ज़ में जैसे खुसबू हो गुलाब की,
रब ने दिया है इतना प्यारा सनम,
हर दिन तमन्ना रहती है मुलाक़ात की..!!

====

बड़े मुश्किल से मिले है ए वक़्त इन्हें खोना नहीं चाहते,
अब जो तुम्हारे हो चुके हूं में और किसी की होना नहीं चाहता..!!

====

कबूल हो गई हर दुआ हमारी,
मिल जो गई हमें चाहत तुम्हारी,
अब नही चाहत है दिल में हमारे कुछ,
जब से मिल गई है मोहब्बत तुम्हारी..!!

 

====

तेरा प्यार मेरी जिंदगी में बहार ले कर आया है,
तेरे आने से पहले हर दिन पतझड़ हुआ करता था..!!

====

तुम्हारे दिल की हर बात जान लूंगा चाहे मुझसे छुपा कर देख लेना,
मैं हर बार तुम्हारा साथ निभाऊंगा चाहे तुम आजमा कर देख लेना..!!
====

अच्छा है आशिक़ी करनी छोड़ दी मैने,
वरना फालतू में पतीले जैसी शक्ल वाली लड़की की भी तारीफ़ करनी पड़ती थी..!!

====

रास्ते मुश्किल है पर हम मंज़िल ज़रूर पायेंगे,
ये जो किस्मत अकड़ कर बैठी है इसे भी ज़रूर हरायेंगे..!!

====
जो भी किया दिल से किया, चाहे दोस्ती हो या दुश्मनी,
इसी लिए तो यारों के यार और दुश्मनो के बाप हैं हम..!!

====

आधा है दिल तुम्हारे दिल के बिना,
आधा दिल तुम्हारा मिल जाए तभी आएगा इसे जीना..!!

====

ना जाने उस के दिल में कितनी महफिलें आबाद हों,
जो अकेला बैठा हो उसे तनहा नहीं कहते..!!
====

Sachi Mohabbat Shayari
मोहब्बत कभी लौटकर नहीं आती क्युकी,
जो सच्ची मोहब्बत होती है वो कभी छोड़कर नहीं जाती..!!

====

मेरी दीवानगी की कोई हद नहीं,
तेरी सूरत के सिवा कुछ याद नहीं,
मैं हूँ फूल तेरे गुलशन का,
तेरे सिवा मुझ पे किसी का हक़ नहीं..!!

====

परछाई आपकी हमारे दिल में हैं,
यादेँ आपकी हमारी आँखों में हैं,
कैसे भुलाए हम आपको,
प्यार आपका हमारी साँसों में हैं..!!

Romantic Shayari for Boyfriend

====

आज फिर आपसे वादा करना चाहूंगी,
जिंदगी का हर लम्हा आपके साथ जीना चाहूंगी,
भले ही ये जिंदगी आपके साथ शुरू न हुईं हो,
पर जिंदगी आखरी साँस तक आपके साथ ही जीना चाहूंगी..!!
====

न ज़ाहिर हुई आपसे और न ही बया हुई हमसे,
बस सुलझी हुई आँखों में उलझी रही मोहब्बत..!!

====

प्यार तो बड़ा छोटा सा शब्द हैं,
मेरी तो धड़कन बस्ती हैं आप में..!!

 

====

नफरत भी हम औकात देख कर करते हैं,
मोहब्बत की तो बात ही कुछ और है..!!

====

राजा है हम अपने दिल के,
सुनते भी दिल की है और करते भी..!!

====

रंजिश है अगर दिल में कोई तो खुल के गिला करो,
मैं ऐसी शख्स हूँ फिर भी हंस के मिलूंगी..!!

====

जीने की भी एक ही वजह थी,
मरने की भी एक ही वजह थी,
मगर इस दिल ने उस दिल के लिए,
मरना ज़्यादा बेहतर समझा..!!

====

जब से देखा है तेरी आँखों में झांककर,
कोई भी आइना अच्छा नहीं लगता,
तेरी मोहब्बत में ऐसे हुए हैं दीवाने,
तुम्हे कोई और देखे तो अच्छा नहीं लगता..!!

====

मोहब्बत लफ़्ज़ों की मोहताज़ होती है,
जब तन्हाई में आपकी याद आती है,
होठों पे एक ही फरियाद आती है,
खुदा आपको हर ख़ुशी दे,
क्योंकि आज भी हमारी हर ख़ुशी आपके बाद आती है..!!

====

हमेशा रहोगे साथ तो मुस्कुराएंगे जरुर,
इश्क अगर हमसे करोगे तो निभा पाएंगे जरुर,
भले ही दुनिया मेरी मोहब्बत के खिलाफ हो,
सच्चा प्यार करोगे तो एक आवाज में आयेंगे जरुर..!!

====

जब जब देखा हैं आपकी आखो में कही खो सा गया हु,
देखा तो अपनी मर्जी से हैं पर अपनी मर्जी से निकल न पाया हूं..!!

====

नही चाहिए वो जो मेरी किस्मत में नहीं,
भीख मांगकर जीना मेरी फितरत में नही..!!

====

दिन भी ढलता है रात भी होती है,
मगर हाल=ऐ=दिल के चलते हमे इनकी खबर ना होती है..!!

====

तन्हाईया तुम्हारी याद दिलाती है,
मगर महफिले तन्हाईया ही दिलाती है..!!

====

लफ़्ज़ों में क्या तारीफ करूँ आपकी,
आप लफ़्ज़ों में कैसे समा पाओगे,
जब लोग हमारे प्यार के बारे में पूछेंगे,
मेरी आँखों में ऐ जानू सिर्फ तुम नज़र आओगे..!!

====

न जाने कौन कौन से विटामिन है तुझमें,
जब तक तेरा दीदार न कर लु बैचनी सी रहती है मुझमे..!!

 

====

जी करता है आज फिर आपसे अपने प्यार का इजहार करे,
जिस दफा आपसे पहली बार प्यार किया था आज फिर एक बार करे..!!

====

आपसे हर दिन बात करने को दिल चाहता हैं,
आपकी बाहों में खो जानो को दिल चाहता हैं,
आपके मुस्कुराने का अंदाज़ कुछ ऐसा हैं,
कि जोकर बन जाने को दिल चाहता हैं..!!

====

तुम्हे चाहने वाले भले ही लाखो होंगे,
मगर तुम्हे महसूस सिर्फ मैंने ही किया है,
एक झलक देखकर जिस इंसान से प्यार हो जाये,
इतनी खुबसूरत हो आप..!!

====

महसूस कर रहे हैं तेरी लापरवाही कुछ दिनों से,
याद रखना अगर हम बदल गये तो मनाना तेरे बस की बात नही..!!

====

ए लडकी तु तेरे ‪Attitude‬ का फोटो खींचकर ‪OLX‬ पर बेच दे,
क्योंकि हम पुरानी चीजे पसंद नही करते..!!

====

जीने की अब परवाह नहीं ना मरने का है डर,
बस बेचैन=सा फिरता हूँ जब से एक चेहरा कर गया घर..!!

====

जितनी तसल्ली होती है उसे पाने के बाद,
उतनी तकलीफ होती है उससे दूर जाने के बाद..!!

====

मोहब्बत का मतलब इंतज़ार नहीं होता,
हर किसी को देखना प्यार नहीं होता,
यूँ तो मिलता है रोज़ मोहब्बत ऐ पैगाम,
प्यार है ज़िंदगी तो हर बार नहीं होता..!!

====

किसी के खातिर मोहब्बत की इन्तेहाँ करदो,
पर इतना भी नहीं की उसको खुदा कर दो,
मत चाहो किसी को टूटकर इतना भी,
अपनी ही वफाओं से उसको बेवफा कर दो..!!

====

तुझे बाँहों में भरने को दिल चाहता है,
तुझे टूटकर चाहने को दिल चाहता है,
काश दूर हो जाये ये फासले दरमियान हमारे,
की तुझे जी भर कर देखने को दिल चाहता है..!!

====

सिर्फ कुछ ही महीनो में उनको हमारी आदत हो गयी,
लगता हैं शादी के कुछ ही दिनों में उन्हें हमसे मोहब्बत हो गयी..!!

====

बार=बार तुम को परेशान करना अच्छा लगता हैं,
जान कर भी हर बात से अनजान बनना अच्छा लगता हैं,
बस करते रहो आप प्यार का इकरार पे इकरार,
इसलिए सुन के भी अनसुना कर देना अच्छा लगता हैं..!!

====

दुआ करता हु कभी कभी एक दिन सपने में मिलु तुझे,
कुछ बाते हैं जो मैं सामने कह नहीं पाता..!!

 

====
प्यार हे तो ठीक है अगर Attitude है,
तो Baby तु अपने घर मे ही ठीक है..!!

====

हमें शादी का कोई शौक नहीं है कसम से,
ये तो आने वाले बच्चों की ज़िद है कि मम्मी चाहिए..!!

====

होती नहीं है मोहब्बत सूरत से,
मोहब्बत तो दिल से होती है,
सूरत उनकी खुद=ब=खुद लगती है प्यारी,
कदर जिनकी दिल में होती है..!!

====

ज़िंदगी भर हम तुम्हे आवाज़ देंगे,
प्यार क्या है, हम तुम्हे बता देंगे,
तोड़ दो बंदिशे जमाने की,
एक दुनिया नयी हम बसा देंगे..!!

====

घमंडी लड़किया मुझसे दूर ही रहे,
क्यूंकि मनाना मुझे आता नहीं और भाव में किसी को देता नही..!!

====

इस दिल की सरहद को पार न करना,
नाज़ुक है मेरा दिल इस पर वार न करना,
खुद से बढ़कर भरोसा किया है तुम पर,
इस भरोसे को तुम बेकार न करना..!!

====

फूल जब कभी उसने छू लिया होगा,
होश तो ख़ुशबू के भी उड़ गए होंगे..!!
====

जज़्बात बहकता है, जब तुमसे मिलता हूँ
अरमां मचलता है, जब तुमसे मिलता हूँ,
हाथों से हाथ और होठों से होंठ मिलते हैं,
दिल से दिल मिलते हैं, जब तुमसे मिलता हूँ..!!

====

इक छोटी सी ही तो हसरत है इस दिल ए नादान की,
कोई चाह ले इस कदर कि खुद पर गुमान हो जाए..!!

====

दिल में जो आया वो लिख दिया,
कभी मिलन कभी जुदाई लिख दिया,
दर्द ऐ मोहब्बत के सिवा शायरी है तो है भी क्या,
जान तेरे नाम पे ग़ज़ल ऐ ज़िंदगी लिख दिया..!!

====

आप नही तो जिन्दगी में क्या रह जाएगा,
दूर तक तनहाइयों का सिलसिला रह जाएगा,
हर कदम पर साथ चलना पिया मेरे ,
वरना आपका ये हमसफ़र अकेला रह जाएगा..!!

====

ना उसने मनाया ना मैंने कोशिश किया,
बस इसी तरहा हमारे रिश्ते ख़तम हो गए..!!

====

इस दिल का कहा मानो एक काम कर दो,
एक बनाम सी मोहब्बत मेरे नाम कर दो,
मेरी ज़ात पर फ़क़त इतना एहसान कर दो,
किसी दिन सुबह को मिलो और शाम कर दो..!!

====

तेरे सीने से लगकर तेरी आरजू बन जाऊं,
तेरी साँसों से मिलकर तेरी ख़ुशबू बन जाऊं,
फ़ासले ना रहे हम दोनों के दरमियाँ कोई,
मैं, मैं ना रहूँ बस तुम बन जाऊं..!!

====

ना जाने किस मोड़ पर आकर रुक गई है जिंदगी,
कुछ बोलो तो भी गलत और ना बोलू तो भी गलत..!!

====

आँखों ने आँखों से क्या कह दिया,
दिल को धड़कने का काम दे दिया,
कुछ भी कहो ऐ यारो इसे,
खुदा ने इसे मोहब्बत का नाम दे दिया..!!

====

तुम्हारी फिक्र है मुझे इसमें कोई शक नहीं,
तुम्हें कोई और देखे किसी को यह हक नहीं..!!

====

दिल में हर बात आज भी वही है,
ज़ाहिर है तुझ पे मेरा हक़ नहीं है,
देखते देखते यु मंज़र बदल गया,
तू मेरा होकर भी मेरा नहीं है..!!

====

खुद=ब=खुद शामिल हो गए तुम मेरी साँसों में,
हम सोच के करते तो फिर मोहब्बत न करते..!!

====

दिल में जब से वो बस गए है,
दिल में तब से उनका साथ भी बस गया है..!!

====
क्यूँ तू मुझे अपना सा लगे,
जुदा होकर भी तू मेरा साया सा लगे,
कैसे बताऊं अब भी मोहब्बत है तुझसे,
तुझे खोकर भी तुझे पाया सा लगे..!!

 

====

आप दूर हो लेकिन दिल में यह एहसास होता है,
कोई ख़ास है जो हर वक़्त हमारे दिल के पास रहता है,
वैसे तो करते हैं याद हम सबको,
लेकिन आपकी याद का एहसास हमेशा ख़ास होता है..!!

====

हम ने सीने से लगाया दिल न अपना बन सका,
मुस्कुरा कर तुम ने देखा दिल तुम्हारा हो गया..!!

====

आखों की गहराई में तेरी खो जाना चाहता हूँ,
आज तुझे बाँहों में लेकर सो जाना चाहता हूँ,
तोड़ कर हदे मैं आज सारी तुझे अपना बना लेना चाहता हूँ..!!

====

किसी के लिए कुछ भी हो सकते हो तुम,
लेकिन मेरे लिए तो जिंदगी जीने की वजह हो तुम..!!

====

ज़िंदगी गुज़र जाये पर प्यार कम ना हो,
याद हमे रखना चाहे पास हम ना हो,
क़यामत तक चलता रहे प्यार का सफर,
दुआ करो रब से ये रिश्ता कभी ख़तम ना हो..!!

====

कभी यह सोचा नहीं था कि इतना इश्क़ हो जाएगा,
कि उससे बात करे बिना एक दिन गुजारना मुश्किल हो जाएगा..!!

====

लम्हे ये सुहाने साथ हो न हो,
कल में आज ऐसी बात हो न हो,
आपसे प्यार हमेशा दिल में रहेगा,
चाहे पूरी उम्र मुलाकात हो न हो..!!

====

खुशबु की तरह आपके पास बिखर जाऊंगा,
सुकून बनकर दिल में उतर जाऊँगा,
महसूस करने की कोशिश कीजिए,
दूर होकर भी पास नज़र आऊंगा..!!

====

हमेँ कँहा मालूम था क़ि इश्क़ होता क्या है,
बस एक तुम मिले और ज़िन्दगी मुहब्बत बन गई..!!

====

कबूल हो गई हर खवाईस हमारी,
पा जो लिया हमने चाहत हमारी,
अब नही दुआ, दिल में हमारे कुछ,
जब से मिल गई है ज़िन्दगी हमारी..!!

====

पलकों से रास्ते के कांटे हटा देंगे,
फूल तो क्या हम अपना दिल बिछा देंगे,
टूटने न देंगे हम इस प्यार को कभी,
बदले में हम खुद को मिटा देंगे..!!

====

मुहब्बत को जब लोग खुदा मानते है,
प्यार करने वालों को क्यों बुरा मानते है,
जब जमाना ही पत्थर दिल है,
फिर पथर से लोग क्यों दुआ मांगते है..!!

====

तु वो है जिसने मेरी मुहब्बत को भी झूठा माना है,
जब कोई चाहने वाला ना मिला तभी अपना जाना है..!!

====

हज़ार बार ली है तुमने तलाशी मेरे दिल की,
बताओ कभी कुछ मिला है इसमें प्यार के सिवा..!

====

न जाने क्यों हर जगह सिर्फ ज़िक्र आपका होता हैं,
क्योकि इस दिल को सबसे जादा फ़िक्र आपका होता हैं..!!

====

नजरें मिला कर किया दिल को ज़ख़्मी,
अदाएं दिखा कर सितम ढहा रहे हो,
वफाओं का मेरी खूब सिला दिया है,
तड़पता हुआ छोड़ कर जा रहे हो..!!

====

उनके दीदार के लिए दिल तड़पता है,
उनके इंतजार में दिल तरसता है,
क्या कहें इस कम्बख्त दिल को,
अपना हो कर किसी और के लिए धड़कता है..!!

====

मेरा आज मेरा कल आप हो,
मेरी हाथों की मेहँदी हाथों की लकीर आप हो,
हर पल आपका ही रहता है ख्याल हमको,
कुछ इतना दिल के करीब आप हो..!!

====

उदास नही होना क्योकि मैं साथ हूँ,
सामने न सही पर आस=पास हूँ,
पलकों को बंद कर जब भी दिल में देखोगे,
मैं हर पल तुम्हारे साथ हूँ..!!

====
आप दूर हैं मगर दिल में एहसास हमेशा होता है,
कोई बहुत प्यारा, जो हर पल दिल के पास होता है,
याद तो सभी की आती हैं
मगर तुम्हारी याद का एहसास ही कुछ ख़ास होता है..!!

====

पास नही हो फिर भी तुम्हें प्यार करते हैं,
देखकर तस्वीर तुम्हारी तुम्हें याद करते हैं,
दिल में कैसी तड़प हैं तुम से दूर रहने की,
हर बार तुम से मिलने की फ़रियाद करते हैं..!!

====

जाती नही आँखों से सूरत आपकी,
जाती नही दिल से मोहब्बत आपकी,
महसूस ये होता हैं जीने के लिए,
पहले से ज्यादा जरूरत हैं आपकी..!!

====

जादू हैं साजन आपकी हर बात में,
याद आती हैं आपकी सुबह और रात में,
जब जब दूर जाते हो न जाने,
क्यों भर आते हैं आसू आख में..!!

====
जब खामोश आँखों से बात होती है,
तो ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है,
तेरे ही ख्यालों में खोये रहते हैं,
न जाने कब दिन और कब रात होती है..!!

====

हमेँ कँहा मालूम था क़ि इश्क़ होता क्या है,
बस एक तुम मिले और ज़िन्दगी मुहब्बत बन गई..!!

====

सच कहू तो जब तक आपसे बात नहीं होती,
दिन की शुरुआत नहीं होती,
ज़िन्दगी में कभी हम से खफा मत होना,
क्योकि आपके बिना इस चेहरे पे मुस्कराहट नहीं होती..!!

====

रिश्ते बनते रहे इतना ही बहुत हैं,
सब हँसते रहे इतना ही बहुत हैं,
हर कोई हर वक्त साथ नही रह सकता,
याद एक दुसरे को करते रहे इतना ही बहुत हैं..!!

====
मेरी ज़िन्दगी के हर पल में मैंने आपको अपनाया,
मेरे मोहब्बत के हर पल में मैंने आपको ही पाया,
खुशिया हो या दुःख साथ आपने हर पल साथ निभाया,
जन्नत हुई ज़िन्दगी जब से आशिक आपको बनाया..!!

====

ये दिल भुलाता नहीं है मोहब्बतें उसकी,
पड़ी हुई थी मुझे कितनी आदतें उसकी,
ये मेरा सारा सफर उसकी खुशबू में कटा,
मुझे तो राह दिखाती थी चाहतें उसकी..!!

====

जादू है उनकी हर एक बात मैं,
याद बहुत आती है दिन और रात मैं,
कल जब देखा था सपना मैने रात मैं,
तब भी उनका ही हाथ था मेरा हाथ मैं..!!

====

याद करेंगे तो दिन से रात हो जायेगी,
आईने में देखिये खुद को हमसे बात हो जायेगी,
शिकवा न करीये हमसे मिलने का,
आँखे बंद करीये मुलाकात हो जायेगी..!!

====

 

Leave a Reply