HIT OLD SONGS HINDI LYRICS

post Contents ( Hindi.Shayri.Page)

HIT OLD SONGS HINDI LYRICS

प्यार किया नहीं जाता – Pyar Kiya Nahin Jaata (Lata Mangeshkar, Shabbir Kumar, Woh Saat Din)

Movie Name /Album Name-: वो सात दिन (1983)
Music Producer/Music By-: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics Writer/Lyrics by- : आनंद बक्शी
Singers/Performed By: लता मंगेशकर, शब्बीर कुमार

प्यार किया नहीं जाता
हो जाता है
दिल दिया नहीं जाता
खो जाता है

प्यार पे ज़ोर नहीं कोई
नींदें हज़ारों ने खोई
आकर दिल की बातों में
लम्बी-लम्बी रातों में
प्रेमी जागते रहते हैं
इसीलिए तो कहते हैं
के प्यार किया नहीं जाता…

दिल का बंधन ऐसा है
हाल ना पूछो कैसा है
जान हमारी जाती है
याद तुम्हारी आती है
आँख से आँसू बहते हैं
इसीलिए तो कहते हैं के प्यार किया नहीं जाता…

इन झूलों के मौसम में
इन फूलों के मौसम में
काँटें प्यार चुभोता है
दर्द जिगर में होता है
हँस के हम सब सहते हैं
इसीलिए तो कहते हैं
के प्यार किया नहीं जाता…

वो बीते दिन याद हैं – Wo Beete Din Yaad Hain (Asha Bhosle, Ajit Singh, Purana Mandir)

Movie Name /Album Name-: पुराना मंदिर (1984)
Music Producer/Music By-: अजित सिंह
Lyrics Writer/Lyrics by- : अमित खन्ना
Singers/Performed By: आशा भोंसले, अजित सिंह

अजित सिंह
वो बीते दिन याद हैं, वो पल छिन याद हैं
गुज़ारे तेरे संग जो, लगाके तुझे अंग जो
वो मुस्काना तेरा, वो शरमाना तेरा
दिसम्बर का समां, वो भीगी-भीगी सर्दियाँ
वो मौसम क्या हुआ, ना जाने कहाँ खो गया
बस यादें बाकी…

वो बातें सब याद हैं, वो रातें सब याद हैं
बिताई तेरे संग जो, लगा के तुझे अंग जो
मुझसे लिपटना तेरा, पलकें झुकाना तेरा
अभी है दिल में मेरे होठों की वो नर्मियां
आग लगा के तुम ना जाने कहाँ खो गए
बस यादें बाकी…

आशा भोंसले
वो बीते दिन याद हैं, वो पल छिन याद हैं
गुज़ारे तेरे संग जो, लगा के तुझे अंग जो
बाहों में तेरी सिमटना वो मेरा
ज़ुल्फों में मेरी लिपटना वो तेरा
समय सब ले गया, बस यादें दे गया
क्यों टूटे सपनें

वो गुज़री ज़िन्दगी, तेरी-मेरी ख़ुशी
मोहब्बत का जहां, वो चाहत का समां
सरकती चिलमनें, दहकती धड़कनें
वो नगमें साथ-साथ, जो हमने थे बुने
वो थक के सो गये, हवा में खो गये
क्यों टूटे सपनें

वो बीते दिन याद हैं, वो पल छिन याद हैं
गुज़ारे तेरे संग जो, लगा के तुझे अंग जो
दूरी भी नहीं, मगर हम दूर हैं
यादों से बंधे हम मजबूर हैं
क्या खोया क्या मिला, करें अब क्या गिला
क्यों टूटे सपनें

शीशा हो या दिल हो – Sheesha Ho Ya Dil Ho (Lata Mangeshkar, Aasha)

Movie Name /Album Name-: आशा (1980)
Music Producer/Music By-: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics Writer/Lyrics by- : आनंद बक्षी
Singers/Performed By: लता मंगेशकर

शीशा हो या दिल हो
आख़िर, टूट जाता है
लब तक आते-आते, हाथों से
साग़र छूट जाता है
शीशा हो या दिल…

काफी बस अरमान नहीं
कुछ मिलना आसान नहीं
दुनिया की मजबूरी है
फिर तक़दीर ज़रूरी है
ये दो दुश्मन हैं ऐसे
दोनों राज़ी हों कैसे
एक को मनाओ तो दूजा
रूठ जाता है
शीशा हो या दिल…

बैठे थे किनारे पे
मौजों के इशारे पे
हम खेलें तूफ़ानों से
इस दिल के अरमानों से
हमको ये मालूम न था
कोई साथ नहीं देता
माँझी छोड़ जाता है साहिल
छूट जाता है
शीशा हो या दिल…

दुनिया एक तमाशा है
आशा और निराशा है
थोड़े फूल हैं काँटे हैं
जो तक़दीर ने बाँटे हैं
अपना-अपना हिस्सा है
अपना-अपना किस्सा है
कोई लुट जाता है कोई
लूट जाता है
शीशा हो या दिल..

मेरे दिलदार का बाँकपन – Mere Dildaar Ka Baankpan (Kishore, Rafi, Deedar-E-Yaar)

Movie Name /Album Name-: दीदार-ए-यार (1982)
Music Producer/Music By-: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics Writer/Lyrics by- : साहिर लुधयानवी
Singers/Performed By: किशोर कुमार, मोहम्मद रफ़ी

मेरे दिलदार का बाँकपन
अल्लाह अल्लाह
चाँदनी से तराशा बदन
अल्लाह अल्लाह

देखकर जिसको हूरें भी सजदा करें
वो मेरी नाज़नीं, वो मेरी नाज़नीं, गुलबदन
अल्लाह अल्लाह

उस हसीं-महज़बीं की फबन अल्लाह अल्लाह
फूल से होंठ, रेशम सा तन, अल्लाह अल्लाह
मेरे दिलदार का…

वो कनखियों से उनका हमें देखना
जबसे उसे देखा है, दीवानों सी हालत है
बेताब है हर धड़कन, बेचैन तबियत है
वो सर से कदम तक इक महकी हुई जन्नत है
छूने से बदन मसके, इस दर्जा नज़ाकत है
गुफ़्तार करिश्मा है, रफ़्तार क़यामत है
दुनिया में वजूद उसका, क़ुदरत की इनायत है
वो जिसपे करम कर दे, वो साहिब-ए-क़िस्मत है
वो कनखियों से उनका हमें देखना
तीर तिरछे, हो तीर तिरछे चलाने का फ़न
अल्लाह अल्लाह
मेरे दिलदार का…

सादगी में छुपा शोख़ियों का समा
जिस हुस्न के जलवों पर दिल हमने लुटाया है
वो हुस्न ज़मीनों पर तक़दीर से आया है
क़ुदरत ने बदन उसका, फ़ुर्सत से बनाया है
सौ तरह के रंगों से, हर अंग सजाया है
घनघोर घटाओं को ज़ुल्फ़ों में बसाया है
बिजली के तबस्सुम को नज़रों में घुलाया है
महके हुए फूलों को साँसों में रचाया है
सादगी में छुपा शोख़ियों का समा
शोख़ियों में, शोख़ियों में वो शर्मीलापन
अल्लाह अल्लाह
मेरे दिलदार का…

गालों में गुलाबीपन
आँखों में शराबीपन
गर्दन का वो ख़म हाय
होंठों का वो नम हाय
डाली-सी कमर तौबा
बरछी-सी नज़र तौबा
तरशी हुई बाँहें हैं
मख़मूर निगाहें हैं
ज़ालिम है हया उसकी
क़ातिल है अदा उसकी
मस्ती से भरी है वो
इक सब्ज़-परी है वो
चांदी के खिलौने-सी
फूलों के बिछौने-सी
ग़ालिब की ग़ज़ल जैसी
मुमताज़महल जैसी
कर के दीदार-ए-यार आज दिल झूम उठा
नूर से भर गए, हाँ नूर से भर गए जान-ओ-तन
अल्लाह अल्लाह
मेरे दिलदार का…

हलवा वाला आ गया – Halwa Wala Aa Gaya (Uttara Kelkar, Vijay Benedict, Sarika Kapoor, Dance Dance)

Movie Name /Album Name-: डांस डांस (1987)
Music Producer/Music By-: बप्पी लाहिरी
Lyrics Writer/Lyrics by- : अनजान
Singers/Performed By: उत्तरा केलकर, विजय बेनेडिक्ट, सारिका कपूर

एक
आ गया आ गया
हलवा वाला आ गया
रंग जमाने आ गया
धूम मचाने आ गया
आ गया…

हलवा वाला छैल छबीला
बाँका रसिया रंग रंगीला
ये आये तो जलवा क्या दिखा जाये
हलवा ऐसा मस्त खिलाये
नस-नस में मस्ती लहराये
सारी महफ़िल ये झूमे नाचे गाये
आ गया हलवा वाला…

हलवा केक है हिन्दुस्तानी
गाके बचपन खाये जवानी
खा के इसे बुढ़ापा कभी नहीं आये
खुशियों के मौके पर काटो
छोटे बड़े सभी में बाँटों
हलवा खा के जीने का मज़ा आये
आ गया हलवा वाला…

हलवे वाले तुझमें क्या क्या खूबियाँ हैं?
मुझमें प्यार की गर्मी
अरे दिल में हुस्न की नरमी
खुशियों का दीवाना
ग़म से हूँ बेगाना
अच्छा? हाँ!
मैं मस्ती का प्याला
मनमौजी दिलवाला
अरे मस्त अदा मतवाली
हर जलवा मस्ताना
आ गया हलवा वाला…

दो
आ गया आ गया
हलवा वाला आ गया
भूख मिटाने आ गया
प्यास बुझाने आ गया
आ गया…

भैया सुबह से भूखा-भूखा
फूल-सा मुखड़ा सूखा-सूखा
आया हलवा वाला तो हँसी आई
हलवा खा के भैया राजा
झूमे नाचे बजा के बाजा
भोले-भोले चेहरे पे ख़ुशी छा गई
आ गया हलवा वाला…

दीदी कितना अच्छा होता
हलवे का कोई पर्वत होता
सारे बच्चे मिलकर जाते
लगती भूख तो हलवा खाते
फिर कोई भूखा ना रोता
कोई डाकू चोर ना होता
फिर ना होती मारा-मारी
काला धंधा चोर बज़ारी
आ गया हलवा वाला…

ज़माने से कुछ लोग डरते नहीं – Zamaane Se Kuch Log Darte Nahin (Yesudas, Zara Si Zindagi)

Movie: ज़रा सी ज़िन्दगी (1983)
Music Producer/Music By-: लक्ष्मीकान्त प्यारेलाल
Lyrics Writer/Lyrics by- :आनंद बक्षी
Singers/Performed By: येसुदास

जिसे मौत आई सुकूँ मिल गया
के मुरझा गया फूल तो खिल गया
तड़पते वही हैं जो मरते नहीं
ज़माने से कुछ लोग डरते नहीं
किसी की भी परवाह करते नहीं
ज़माने से कुछ लोग डरते नहीं

कहें और क्या, हम तो हैरान हैं
ख़ुदा जाने कैसे, ये इन्सान है
कभी टूट कर जो बिखरते नहीं
ज़माने से कुछ लोग…

निगाहों में मौसम है, बरसात का
बने कुछ बने, बहाना मुलाकात का
जुदाई में अब दिन गुजरते नहीं
ज़माने से कुछ लोग…

कई ज़िन्दगी से हैं हारे हुए
कई ज़िन्दगी के हैं मारे हुए
सभी मौत आने से मरते नहीं
ज़माने से कुछ लोग…

मौसम मस्ताना – Mausam Mastana (Asha, Dilraj, Annette, Satte Pe Satta)

Movie Name /Album Name-: सत्ते पे सत्ता (1982)
Music Producer/Music By-: आर.डी.बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- : गुलशन बावरा
Singers/Performed By: आशा भोंसले, दिलराज कौर, ऐनेट पिंटो

मौसम मस्ताना, रस्ता अनजाना
जाने कब किस मोड़ पे बन जाये कोई अफ़साना
मौसम मस्ताना…

आजकल दिल अक्सर मचल-मचल जाये
जबसे आई जवानी बड़ा तड़पाये
नहीं भरोसा इसका, कब हो जाये किसका
अभी तलक तो अपना है कब हो जाये बेगाना
मौसम मस्ताना…

सोच के मैं घबराऊँ नयी-नयी बातें
आने ही वाली हैं प्यार भरी रातें
हर कोई ये जाने, प्यार करें दीवाने
एक दिन तो ये होना ही है, फिर कैसा घबराना
मौसम मस्ताना…

भँवरे ने खिलाया फूल – Bhanware Ne Khilaya Phool (Lata, Suresh, Prem Rog)

Movie Name /Album Name-: प्रेम रोग (1982)
Music Producer/Music By-: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics Writer/Lyrics by- : नरेन्द्र शर्मा
Singers/Performed By: लता मंगेशकर, सुरेश वाडकर

भँवरे ने खिलाया फूल, फूल को ले गया राज-कुंवर
भंवरे तू कहना न भूल, फूल तुझे लग जाये मेरी उमर
भँवरे ने खिलाया…

भँवरे ने खिलाया फूल, फूल को ले गया राज-कुंवर
भंवरे तू कहना न भूल, फूल तेरा हो गया इधर-उधर
भँवरे ने खिलाया…

वो दिन अब ना रहे
क्या-क्या विपदा पड़ी फूल पर कैसे फूल कहे
वो दिन अब ना रहे
होनी थी या वो अनहोनी जाने इसे विधाता
छूटे सब सिंगार गिरा गल-हार टूटा हर नाता
शीश-फूल मिल गया धूल में क्या-क्या दुःख न सहे
वो दिन अब ना रहे
भंवरे तू कहना न भूल, फूल डाली से गया उतर
भँवरे ने खिलाया…

सुख-दुःख आये-जाये
सुख की भूख न दुःख की चिंता, प्रीत जिसे अपनाये
सुख-दुःख आये-जाये
मीरा ने पिया विष का प्याला, विष को भी अमृत कर डाला
प्रेम का ढाई अक्षर पढ़ कर मस्त कबीरा गाये
सुख-दुःख आये-जाये
भंवरे तू कहना न भूल, फूल गुज़रे दिन गए गुज़र
भँवरे ने खिलाया…

फैली-फूली फुलवारी में भंवरा
गुन-गुन गुन-गुन गुन-गुन गुन-गुन गाये
काहे सोवत निंदिया जगाये
लाखों में किसी एक फूल ने लाखों फूल खिलाये
मंद-मंद मुस्काये
हाय काहे सोवत निंदिया जगाये
भंवरे तू कहना ना भूल, फूल तेरा मधुर नहीं मधुकर
भँवरे ने खिलाया…
भँवरे तू कहना ना भूल, फूल मेरा सुन्दर सरल सुघड़
भँवरे ने खिलाया…

सो गया ये जहां – So Gaya Ye Jahan (Nitin, Alka, Shabbir, Tezaab)

Movie Name /Album Name-: तेज़ाब (1988)
Music Producer/Music By-: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics Writer/Lyrics by- : जावेद अख्तर
Singers/Performed By: अल्का यागनिक, नितिन मुकेश, शब्बीर कुमार

सो गया ये जहां, सो गया आसमां
सो गईं हैं सारी मंज़िलें, सो गया है रस्ता
सो गया ये जहां…

रात आई तो वो जिनके घर थे
वो घर को गए सो गए
रात आई तो हम जैसे आवारा
फिर निकले राहों में और खो गए
इस गली, उस गली, इस नगर, उस नगर
जाएँ भी तो कहाँ जाना चाहें अगर
सो गई हैं सारी मंज़िलें…

कुछ मेरी सुनो, कुछ अपनी कहो
हो पास तो ऐसे, चुप ना रहो
हम पास भी हैं, और दूर भी हैं
आज़ाद भी हैं, मजबूर भी हैं
क्यूँ प्यार का मौसम बीत गया
क्यूँ हमसे ज़माना जीत गया
हर घड़ी मेरा दिल ग़म के घेरे में है
ज़िन्दगी दूर तक अब अँधेरे में है
सो गयी हैं सारी मंज़िलें…

सुन सुन सुन दीदी – Sun Sun Sun Didi (Asha Bhosle, Khubsoorat)

Movie Name /Album Name-: सुन सुन सुन दीदी (1980)
Music Producer/Music By-: आर.डी.बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- : गुलज़ार
Singers/Performed By: आशा भोंसले

सुन सुन सुन दीदी तेरे लिए
एक रिश्ता आया है
सुन सुन सुन लड़के में क्या गुण
सुन सुन दीदी सुन
हे सुन सुन सुन दीदी…

अच्छे घर का लड़का है पर हक-हकलाता है
प-प-प्यारी अंजू, ज़रा पा-पा-पास तो आ
अच्छे घर का लड़का है पर हक-हकलाता है
मुँह पर दाग हैं चेचक के और पान चबाता है
पान चबाता है जब थोड़ी पी कर आता है
पीता है जब जुए में वो हार के आता है
ताश भी रोज़ कहाँ बस कभी-कभी ही होती है
अच्छा डाका पड़े तभी तो रम्मी होती है
रोज़ कहाँ ऐसा होता है डाके पड़ते हैं
आधे दिन तो बेचारे के जेल में कटते हैं
सुन सुन सुन लड़के में…

उसका बस चले तो जेल भी तोड़ के आएगा
सीटी एक बजा दोगी तो दौड़ के आएगा
सास ज़रा कम सुनती है पर बोलती ऊँचा है
ससुरा ठीक ही सुनता है पर मुँह से गूंगा है
सुन सुन सुन लड़के में…

किसी नज़र को तेरा – Kisi Nazar Ko Tera (Asha, Bhupinder, Aitbaar)

Movie Name /Album Name-: ऐतबार (1985)
Music Producer/Music By-: बप्पी लाहिरी
Lyrics Writer/Lyrics by- : हसन कमाल
Singers/Performed By:आशा भोंसले, भूपिंदर

किसी नज़र को तेरा इंतज़ार आज भी है
कहाँ हो तुम के ये दिल बेक़रार आज भी है
किसी नज़र को तेरा…

वो वादियाँ वो फ़ज़ायें के हम मिले थे जहाँ
मेरी वफ़ा का वहीं पर मज़ार आज भी है
किसी नज़र को तेरा…

न जाने देख के क्यों उनको ये हुआ एहसास
के मेरे दिल पे उन्हें इख्तियार आज भी है
किसी नज़र को तेरा…

वो प्यार जिसके लिये हमने छोड़ दी दुनिया
वफ़ा की राह पे घायल वो प्यार आज भी है
किसी नज़र को तेरा…

यकीं नहीं है मगर आज भी ये लगता है
मेरी तलाश में शायद बहार आज भी है
किसी नज़र को तेरा…

न पूछ कितने मोहब्बत के ज़ख़्म खाये हैं
कि जिनको सोच के दिल सोग़वार आज भी है
वो प्यार जिसके लिये…

दुश्मन ना करे – Dushman Na Kare (Lata, Amit, Aakhir Kyon)

Movie Name /Album Name-: आख़िर क्यूँ? (1985)
Music Producer/Music By-: राजेश रोशन
Lyrics Writer/Lyrics by- : इन्दीवर
Singers/Performed By: लता मंगेशकर, अमित कुमार

दुश्मन न करे दोस्त ने वो काम किया है
उम्र भर का ग़म हमें ईनाम दिया है
दुश्मन न करे…

तूफ़ाँ में हमको छोड़ के साहिल पे आ गए
नाख़ुदा का हमने इन्हें नाम दिया है
उम्र भर का…
दुश्मन न करे

पहले तो होश छीन लिए ज़ुल्म-ओ-सितम से
दीवानगी का फिर हमें इल्ज़ाम दिया है
उम्र भर का…
दुश्मन न करे

अपने ही गिराते हैं नशेमन पे बिजलियाँ
ग़ैरों ने आके फिर भी उसे थाम लिया है
उम्र भर का…
दुश्मन न करे

बन कर रक़ीब बैठे हैं वो जो हबीब थे
यारों ने ख़ूब फ़र्ज़ को अंजाम दिया है
उम्र भर का…
दुश्मन न करे…

एक दो तीन – Ek Do Teen (Alka Yagnik, Amit Kumar, Tezaab)

Movie Name /Album Name-: तेज़ाब (1988)
Music Producer/Music By-: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics Writer/Lyrics by- : जावेद अख्तर
Singers/Performed By: अल्का याग्निक, अमित कुमार

अलका याग्निक
एक दो तीन चार पाँच छः सात आठ नौ दस ग्यारह बारह तेरह
तेरा करूँ दिन गिन-गिन के इंतज़ार
आजा पिया आई बहार
एक दो तीन…

चौदह को तेरा संदेसा आया
पंद्रह को आऊँगा ये कहलाया
चौदह को आया न पंद्रह को तू
तड़पा के मुझको तूने क्या पाया
सोलह को भी, सोलह किये थे सिंगार
आजा पिया आई…

सत्रह को समझी संग छूट गया
अठारह को दिल टूट गया
रो-रो गुज़ारा मैंने सारा उन्नीस
बीस को दिल के टुकड़े हुए बीस
फिर भी नहीं दिल से गया तेरा प्यार
आजा पिया आई…

इक्कीस बीती, बाईस गई
तेईस गुज़री, चौबीस गई
पच्चीस छब्बीस ने मारा मुझे
बिरहा की चक्की में मैं पिस गई
दिन बस महीने के हैं और चार
आजा पिया आई…

दिन बने हफ़्ते, रे हफ़्ते महीने
महीने बन गये साल
आके ज़रा तू देख तो ले
क्या हुआ है मेरा हाल
दीवानी दर-दर मैं फिरती हूँ
न जीती हूँ, ना मैं मरती हूँ
तन्हाई की रातें सहती हूँ
आजा-आजा-आजा-आजा-आजा
आजा के दिन गिनती रहती हूँ
एक दो तीन…

अमित कुमार
एक दो तीन चार पाँच छः सात आठ नौ दस ग्यारह बारह तेरह
तेरा करूँ दिन गिन-गिन के इंतज़ार
आजा सनम आई बहार
एक दो तीन…

चौदह को जब मैंने कहलाया था
पंद्रह को आऊँगा, मैं आया था
पंद्रह को परदे से निकली न तू
तुझको ना पा के मैं घबराया था
सोलह को भी सुबह से था बेक़रार
आजा सनम आई…

सत्रह को सोया नहीं रात भर
अठारह को भी तू न आई नज़र
उन्नीस को मैं दीवाना हुआ
बीस को घर से रवाना हुआ
गलियों में गूंजे दीवाने की पुकार
आजा सनम आई…

इक्कीस को आई, ना बाईस को तू
जब न मिली तेईस-चौबीस को तू
पच्चीस को समझाया सबने मुझे
मत जान दे देना छब्बीस को
दुनिया में बस दिन हैं मेरे और चार
आजा सनम आई…

दिन लगे हफ़्ते, रे हफ़्ते महीने
महीने लगते साल
आके ज़रा तू देख तो ले
क्या हुआ है मेरा हाल
दीवाना दर-दर मैं फिरता हूँ
ना जीता हूँ, ना मैं मरता हूँ
तन्हाई की रात सहता हूँ
आजा-आजा-आजा-आजा-आजा
आजा के दिन गिनता रहता हूँ
एक दो तीन…

जिसका कोई नहीं – Jiska Koi Nahi (Kishore Kumar, Manna Dey, Lawaaris)

Movie Name /Album Name-: लावारिस (1981)
Music Producer/Music By-: कल्याणजी-आनंदजी
Lyrics Writer/Lyrics by- : अनजान
Singers/Performed By: किशोर कुमार, मन्ना डे

किशोर कुमार
एक दिन किसी फ़कीर ने एक बात कही थी
अब जाके दिल ने माना, माना वो बात सही थी

जिसका कोई नहीं, उसका तो ख़ुदा है यारों
मैं नहीं कहता, किताबों में लिखा है यारों
जिसका कोई नहीं…

हम तो क्या हैं वो फरिश्तों को आज़माता है
बना कर हमको मिटाता है, फिर बनाता है
आदमी टूट के सौ बार जुड़ा है यारों
जिसका कोई नहीं…

कब तलक हमसे ये तक़दीर भला रूठेगी
इन अंधेरों से उजाले की किरण फूटेगी
ग़म के दामन में कहीं चैन छुपा है यारों
जिसका कोई नहीं…

इम्तेहानों का यहाँ दौर यूँ ही चलता है
आँधियों में भी उम्मीदों का दीया जलता है
कल की उम्मीद पे इंसान जिया है यारों
जिसका कोई नहीं…

मन्ना डे
जिसका कोई नहीं, उसका तो ख़ुदा है यारों
मैं नहीं कहता, किताबों में लिखा है यारों
जिसका कोई नहीं…

जिसने पैदा किया दुनिया में वही पालेगा
हमको हर मोड़ पे हर ज़ुल्म से बचा लेगा
अपने बन्दों से कहाँ कब वो जुदा है यारों
जिसका कोई नहीं…

ज़ुल्म इंसान का जब हद से गुज़र जाता है
वो किसी और ही सूरत में पास आता है
अनगिनत रूप में वो हमको मिला है यारों
जिसका कोई नहीं…

दिन महीने साल – Din Mahine Saal (Kishore Kumar, Lata Mangeshkar, Avtaar)

Movie Name /Album Name-: अवतार (1983)
Music Producer/Music By-: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics Writer/Lyrics by- : आनंद बक्शी
Singers/Performed By: लता मंगेशकर, किशोर कुमार

दिन महीने साल गुज़रते जायेंगे
हम प्यार में जीते, प्यार में मरते जायेंगे
देखेंगे, देख लेना
दिन महीने साल…

मत शरमाओ, आ जाओ मेरी बाहों में
देखो अपनी तस्वीर मेरी निग़ाहों में
क्या हुआ गर काँटे हैं अपने राहों में
इन राहों में फूल बिखरते जायेंगे
हम प्यार में जीते…

तुमको हमने मान लिया रब तुम जानो
हम ये जाने बाकि सब तुम जानो
क्या कहना है, क्या नहीं ये अब तुम जानो
तुम जो कहोगे हम वो करते जायेंगे
हम प्यार में जीते…

दुःख-सुख का साथी हाँ जी तुम्हें बनाया है
हमने जीवन का साझी, हाँ जी तुम्हें बनाया है
दिल की नैय्या का मांझी तुम्हें बनाया है
इस पार से उस पार उतरते जायेंगे
हम प्यार में जीते…

तेरे खुशबू में बसे ख़त – Tere Khushboo Mein Base Khat (Jagjit Singh, Arth)

Movie Name /Album Name-: अर्थ (1983)
Music Producer/Music By-: जगजीत सिंह
Lyrics Writer/Lyrics by- : राजिंदरनाथ रहबर
Singers/Performed By: जगजीत सिंह

तेरे ख़ुशबू में बसे ख़त, मैं जलाता कैसे
प्यार में डूबे हुये ख़त, मैं जलाता कैसे
तेरे हाथों के लिखे ख़त, मैं जलाता कैसे

जिनको दुनिया की निगाहों से छुपाये रखा
जिनको इक उम्र कलेजे से लगाये रखा
दीन जिनको, जिन्हें ईमान बनाये रखा
तेरे खुशबू में बसे ख़त…

जिनका हर लफ़्ज़ मुझे याद था पानी की तरह
याद थे मुझको जो पैग़ाम-ए-ज़ुबानी की तरह
मुझको प्यारे थे जो अनमोल निशानी की तरह
तेरे खुशबू में बसे ख़त…

तूने दुनिया की निगाहों से जो बचकर लिखे
साल-हा-साल मेरे नाम बराबर लिखे
कभी दिन में तो कभी रात को उठ कर लिखे
तेरे खुशबू में बसे ख़त…

तेरे ख़त आज मैं गंगा में बहा आया हूँ
आग बहते हुये पानी में लगा आया हूँ
तेरे खुशबू में बसे ख़त…

ओ बबुआ ये महुआ – O Babua Ye Mahua (Asha Bhosle, Sadma)

Movie/ Album: सदमा (1983)
Music Producer/Music By-: इल्लयराजा
Lyrics Writer/Lyrics by- : गुलज़ार
Singers/Performed By: आशा भोंसले

ओ बबुआ, ये महुआ
महकने लगा है
आ मेरे साँस जलते हैं
बदन में साँप चलते हैं
तेरे बिना
ओ बबुआ…

शाम सुलगती है जब भी
तेरा ख़याल आता है
सूनी सी गोरी बाँहों में
धुँआ सा भर जाता है
बर्फ़ीला रास्ता कटता नहीं
ज़हरीला चाँद भी हटता नहीं
तेरे बिना
ओ बबुआ…

खोई हुई सी आँखों से
चादर उतर जाती है
झुलसी हुई रह जाती हूँ
रात गुज़र जाती है
ऐसे में तुम कभी देखो अगर
काटा है किस तरह शब का सफ़र
तेरे बिना
ओ बबुआ…

पल दो पल का – Pal Do Pal Ka (Rafi, Asha, The Burning Train)

Movie Name /Album Name-: द बर्निंग ट्रेन (1980)
Music Producer/Music By-: आर.डी.बर्मन
Lyrics Writer/Lyrics by- : साहिर लुधियानवी
Singers/Performed By: मो.रफ़ी, आशा भोंसले

पल दो पल का साथ हमारा
पल दो पल के याराने हैं
इस मंज़िल पर मिलने वाले
उस मंज़िल पर खो जाने हैं
पल दो पल का…

दो पल, पल दो पल का साथ हमारा, हमारा
पल दो पल का…

नज़रों के शोख़ नज़राने, होंठों के गर्म पैमाने
हैं आज अपनी महफ़िल में, कल क्या हो कोई क्या जाने
ये पल ख़ुशी की जन्नत है, इस पल में जी ले दीवाने
आज की खुशियाँ एक हक़ीकत, कल की खुशियाँ अफ़साने हैं
पल दो पल का…

हर ख़ुशी कुछ देर की मेहमान है
पूरा कर ले दिल में जो अरमान है
ज़िन्दगी इक तेज़-रौ तूफ़ान है
इसका जो पीछा करे नादान है
गुमशुदा खुशियों पे क्यूँ हैरान है
वक़्त लौटे इसका कब इम्कान है
झूम जब तक झूम
झूम जब तक धड़कनों में जान है
झूमना ही ज़िन्दगी की शान है
झूम जब तक झूम
अव्वल-आख़िर हर कोई अनजान है
ज़िन्दगी बस, राह की पहचान है
झूम जब तक झूम
झूम जब तक धड़कनों में…
दोस्तों, अपना तो ये ईमान है
जो भी जितना साथ दे, एहसान है
उम्र का रिश्ता जोड़ने वाले
अपनी नज़र में दीवाने हैं
पल दो पल का…

सा रे ग म प म ग रे – Sa Re Ga Ma Pa Ma Ga Re (Kishore, Lata, Man Pasand)

Movie/ Album: मन पसंद (1980)
Music Producer/Music By-: राजेश रोशन
Lyrics Writer/Lyrics by- : अमित खन्ना
Singers/Performed By: किशोर कुमार, लता मंगेशकर

सा रे ग म प म ग रे सा, गाओ
सा रे ग म प म ग रे सा
सा रे ग म प म ग रे सा ग, सा ग, फिर से गाओ
सा रे ग म प म ग रे सा ग, सा ग
शाब्बास!

सा रे ग म प म ग रे सा ग, सा ग
रे ग म प म ग रे स, रे प, रे प
प ध नी स नी ध प म, म ध, ग ध प, नी स

आवाज़ सुरीली का, जादू ही निराला है
संगीत का जो प्रेमी, वो किस्मत वाला है
तेरे-मेरे, मेरे-तेरे सपने-सपने
सच हुए देखो सारे अपने-सपने
फिर मेरा मन ये बोला, बोला, बोला
क्या?
सा रे ग म प म ग रे…

चारु चंद्र की चंचल चितवन बिन बदरा बरसे सावन
मेघ मल्हार मधुर मन भावन पवन पिया प्रेमी पावन
चल, चाँद-सितारों को, ये गीत सुनाते हैं
हम धूम मचाकर आज, सोया जहां जगाते हैं
हम-तुम, तुम-हम गुमसुम-गुमसुम
झिलमिल-झिलमिल, हिलमिल-हिलमिल
तू मोती मैं माला, माला, ला ला

अरमान भरे दिल की धड़कन भी बधाई दे
अब धुन मेरे जीवन की कुछ सुर में सुनाई दे
रिमझिम-रिमझिम, छमछम-गुनगुन
तिल-तिल, पल-पल, रुमझुम-रुमझुम
मनमंदिर में पूजा, पूजा, आहा
सा रे ग म प म ग रे…

जवानी जानेमन – Jawani Janeman (Asha Bhosle, Namak Halaal)

Movie Name /Album Name-: नमक हलाल (1982)
Music Producer/Music By-: बप्पी लाहिरी
Lyrics Writer/Lyrics by- : अनजान
Singers/Performed By: आशा भोंसले

जवानी जानेमन हसीन दिलरुबा
मिले दो दिल जवाँ निसार हो गया
शिकारी खुद यहाँ शिकार हो गया
ये क्या सितम हुआ, ये क्या ज़ुलम हुआ
ये क्या गज़ब हुआ, ये कैसे कब हुआ
न जानूँ मैं, न जाने वो, आहा

आयी, आयी दूर से, देखो, देखो
दिलरुबा ऐसी, ऐसी
खायी खायी बेजुबां दिल ने दिल ने
चोट ये कैसी
अरे वो हाँ-हाँ, मिली नज़र
अरे ये हाँ-हाँ, हुआ असर
नज़र-नज़र मिली, समां बदल गया
चलाया तीर जो, मुझी पे चल गया
गज़ब हुआ, ये क्या हुआ, ये कब हुआ
न जानूँ मैं, न जाने वो, ओहो
जवानी जानेमन…

दिल ये, दिल ये, प्यार में कैसे, कैसे
खोता है देखो, देखो
कातिल, कातिल जानेमन कैसे, कैसे
होता है देखो
अरे वो हाँ-हाँ, मिला सनम
अरे ये हाँ-हाँ, हुआ सितम
वो दुश्मन-ए-जाना दिलदार हो गया
सैयाद को बुलबुल से प्यार हो गया
गज़ब हुआ, ये क्या हुआ, ये कब हुआ
न जानूँ मैं, न जाने वो, ओहो
जवानी जान-ए-मन…

This Post Has One Comment

Leave a Reply