सुला-चुकी-थी-दुनिया-थपक-थपक-के-मुझे-Rahat

सुला चुकी थी दुनिया थपक थपक के मुझे | Rahat Indori | Shorts

sula chuki thi duniya thapak thapak ke mujhe is a Ghazal written by Rahat Indori. Dr. Rahat Indori’s career graph has the typical tough-times-to-tinsel-town … सुला चुकी थी दुनिया थपक थपक के मुझे | Rahat Indori | Shorts #सल #चक #थ #दनय #थपक #थपक #क #मझ #Rahat #Indori #Shorts सुला चुकी थी दुनिया थपक थपक …

सुला चुकी थी दुनिया थपक थपक के मुझे | Rahat Indori | Shorts Read More »