हाइकु-कविता -श्याम सिंह बिष्ट -Hindi Poetry-कविता-Hindi Poem | Kavita Shyam Singh Bisht Part

हाइकु-कविता -श्याम सिंह बिष्ट -Hindi Poetry-कविता-Hindi Poem | Kavita Shyam Singh Bisht Part

 

हाइकु

1-
दिल रोता है
जैसे बन बादल
क्या वो आएंगे

2-
खिलते फूल
वन, उपवनों में
ह्रदय खुश

3-
प्रेमी युगल
गाए प्रेम का गीत
जग से बैर

4-
आए त्योहार
खुशियों की बहार
जि बेकरार

5-
यह डगर
नहीं है मुशिकल
हौसला रख

This Post Has One Comment

Leave a Reply