साइज़-कविता-पीयूष पाचक-Hindi Poetry-हिंदी कविता -Hindi Poem | Hindi Kavita Piyush Pachak

साइज़-कविता-पीयूष पाचक-Hindi Poetry-हिंदी कविता -Hindi Poem | Hindi Kavita Piyush Pachak

हीरोइन का पारा चढ़ा,
जूतेवाला घबराकर
कोने में खड़ा,
मॅडम को जूता
चाहिए था,
बाहर से छोटा
अन्दर से बड़ा।

Leave a Reply