मुझे तुम याद करना-ग़ज़लें व फ़िल्मी गीत-जावेद अख़्तर-Hindi Poetry-हिंदी कविता -Hindi Poem | Hindi Kavita Javed Akhtar

मुझे तुम याद करना-ग़ज़लें व फ़िल्मी गीत-जावेद अख़्तर-Hindi Poetry-हिंदी कविता -Hindi Poem | Hindi Kavita Javed Akhtar

मुझे तुम याद करना और मुझ को याद आना तुम
मै इक दिन लौट आऊंगा ये मत भूल जाना तुम

अकेली होगी तुम देखो कहीं ऐसा ना हो जाए
जो अब होठों पे है मुसकान वो मुसकान खो जाए
ज़रा लोगों से मिलना तुम ज़रा हंसना हंसाना तुम
मै इक दिन लौट …

अगर लड़की तुम्हें कोई मिले जो खूबसूरत हो
तुम्हारी दोस्ती की शायद उसको भी ज़रूरत हो
अगर वो पास आये मुस्कुराये मुस्कुराना तुम
मगर तुम लौट के आओगे ये मत भूल जाना तुम

(मशाल)

Leave a Reply