बहाव-कविता-करन कोविंद -Hindi Poetry-हिंदी कविता -Hindi Poem | Hindi Kavita Karan Kovind

बहाव-कविता-करन कोविंद -Hindi Poetry-हिंदी कविता -Hindi Poem | Hindi Kavita Karan Kovind

सोते मे बह जाने को
नीर-नीलय कुल घट तीर
उसमे एक राग भिनीत
कुलकित प्रवाह कुकुंभ पुनीत
आभा- तरुवर तरल तडांग
जिसमे सतरंग दृष्टि भयभीत
चिर-किरण – पर्ण कडक वेग
नीर – अमिय सेतू भर पुलकित
प्रत्यूष-शशि – कण सिहरन
संसृप्त – तल पर गुंजन नवगीत
प्रभा-पहर- प्रवाह निष्ठावत
कूल – पीर-धीर सुहस प्रीत
अंक – तन्द्रा- रोष मिटाती

एक शोभा यात्रा सी नीर
सोते मे बह जाने को
धीर-आधीर सजग घट कूल
सुनाती अन्तस को जल गीत

Leave a Reply