पात्र परिचय- उर्वशी -रामधारी सिंह ‘दिनकर’ -Hindi Poetry-कविता-Hindi Poem | Kavita Ramdhari Singh Dinkar

पात्र परिचय- उर्वशी -रामधारी सिंह ‘दिनकर’ -Hindi Poetry-कविता-Hindi Poem | Kavita Ramdhari Singh Dinkar

पुरुष

पुरुरवा: वेदकालीन, प्रतिष्ठानपुर के विक्रमी ऐल राजा, नायक
महर्षि च्यवन: प्रसिद्द; भृगुवंशी, वेदकालीन महर्षि
सूत्रधार: नाटक का शास्त्रीय आयोजक, अनिवार्य पात्र
कंचुकी:
सभासद:
प्रतिहारी:
प्रारब्ध आदि
आयु: पुरुरवा-उर्वशी का पुत्र
महामात्य: पुरुरवा के मुख्य सचिव
विश्व्मना: राज ज्योतिषी

नारी

नटी: शास्त्रीय पात्री, सूत्रधार की पत्नी
सहजन्या, रम्भा, मेनका, चित्रलेखा: अप्सराएं
औशीनरी: पुरुरवा पत्नी, प्रतिष्ठानपुर की महारानी
निपुणिका, मदनिका: औशिनरी की सखियाँ
उर्वशी: अप्सरा, नायिका
सुकन्या: च्यवन ऋषी की सहधर्मिणी
अपाला: उर्वशी की सेविका

Leave a Reply