जिस्म क्या है, रुह तक सब कुछ खुलासा देखिए- धरती की सतह पर -अदम गोंडवी- Adam Gondvi |-Hindi Poetry-हिंदी कविता -Hindi Poem | Hindi Kavita,

जिस्म क्या है, रुह तक सब कुछ खुलासा देखिए- धरती की सतह पर -अदम गोंडवी- Adam Gondvi |-Hindi Poetry-हिंदी कविता -Hindi Poem | Hindi Kavita,

जिस्म क्या है, रुह तक सब कुछ खुलासा देखिए ।
आप भी इस भीड़ में घुसकर तमाशा देखिए ।

जो बदल सकती है इस दुनिया के मौसम का मिज़ाज,
उस युवा पीढ़ी के चेहरे की हताशा देखिए ।

जल रहा है देश, यह बहला रही है क़ौम को,
किस तरह अश्लील है संसद की भाषा देखिए ।

मत्स्यगंधा फिर कोई होगी किसी ऋषि का शिकार,
दूर तक फैला हुआ गहरा कुहासा देखिए ।

Leave a Reply