जिंदगी का सफर-उमेश शुक्ल -Hindi Poetry-हिंदी कविता -Hindi Poem | Hindi Kavita Umesh Shukla

जिंदगी का सफर-उमेश शुक्ल -Hindi Poetry-हिंदी कविता -Hindi Poem | Hindi Kavita Umesh Shukla

जिंदगी का सफर कोई भूल जाए ये हो नहीं सकता.
ऐसा शिला है जो कभी गुम हो नहीं सकता.
भूलने का प्रपंच रचते हैं वो लोग
जिनकी दास्तां में कुछ अच्छा हो नहीं सकता
जिंदगी के पड़ावों पर मिलते हैं कुछ यार
जिनके जिक्र बिना दिल को मिलता नहीं करार

Leave a Reply