छोटी कविता-प्राणेन्द्र नाथ मिश्र -Hindi Poetry-हिंदी कविता -Hindi Poem | Hindi Kavita Pranendra Nath Misra

छोटी कविता-प्राणेन्द्र नाथ मिश्र -Hindi Poetry-हिंदी कविता -Hindi Poem | Hindi Kavita Pranendra Nath Misra

 

‘हे ! प्रेम तुम्हे मैं करता हूँ ‘
कितने भारी, ये शब्द सरल,
जिह्वा,तालू सब एक हुयी
जब सोचा कह दूँ, तुम से मिल..

वाणी में शक्ति नहीं इतनी
यह खुद कम्पित, उत्कंठा से
आँखों से प्रणय-निवेदन कर
स्पर्श करूं इस कविता से….

 

This Post Has One Comment

Leave a Reply